सींच पाल से सींच पर्यवेक्षक पदोन्नति में व्यापक अनियमितता

मुख्यमंत्री व सिंचाई मंत्री से जांच कराने की मांग

अयोध्या। सिंचाई विभाग में सींच पाल से सींच पर्यवेक्षक पदोन्नति में व्यापक अनियमित्ता की जा रही है। पीड़ित प्रमोद कुमार कौशल ने इसकी शिकायत प्रदेश के मुख्यमंत्री व सिंचाई मंत्री से करते हुए प्रकरण की जांच और दोषियों के विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही करने की मांग किया है। शिकायतकर्ता का कहना है कि अमीन नियमावली 1954 को संशोधित किये बिना तरह-तरह के आदेश लेकर पदोन्नति की जा रही है। विभाग के प्रमुख अभियंता व विभागाध्यक्ष द्वारा एक ही पद के तरह-तरह के आदेश जारी किये जा रहे हैं। एक पद एक नियमावली लागू करने के प्रावधान को दरकिनार कर गलत आदेश के चलते मुकदमें बढ़ते जा रहे हैं। विभिन्न प्रकार की नियमावली जारी करने पर प्रभावी अंकुश लगाया जाना चाहिए। यह भी मांग की गयी है कि पदोन्नति प्रकरण में एक नियमावली लागू कराया जाय जिससे भ्रष्टाचार रोंका जा सके। प्रमुख अभियंता के पत्रांक 3575 जन सूचना अधिकार द्वारा बताया गया है कि विभागीय अमीन नियमावली 1954 द्वारा पदोन्नति किया जाना है प्रमुख अभियंता के पत्रांक 6462/ई 6 जिलेदारी अर्हकारी परीक्षा 23 अगस्त 2012 द्वारा बताया गया है कि 1975 लोक सेवा आयोग की परिधि के कर्मचारियों पर लागू है। इस तरह प्रमुख अभियंता के आदेश विपरीत व विवादित जारी किया जा रहा है।

इसे भी पढ़े  संयम, सजगता की कमी से सुरक्षा प्रणाली में सेंध लगा पाता है एचआईवी : डॉ. उपेन्द्रमणि

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More