The news is by your side.

एक नए सूरज के रूप में हो रहा विश्व गुरू भारत का उदय : डा. अनिल मिश्र

-युवाओं का संघ से जुड़ना एक नई सांस्कृतिक चेतना का उदाहरण

अयोध्या। वैश्विक क्षितिज पर विश्व गुरु भारत का उदय एक नए सूरज के रूप में हो रहा है। सांस्कृतिक पुनरुद्धार के साथ-साथ हम पहले जो थे वह स्वरूप पुनः पाने की दिशा में अग्रसर हैं। लगभग 500 वर्षों से लंबित और विवादित चल रहे श्री राम जन्मभूमि मंदिर के निर्माण का कार्य तीव्र गति से हो रहा है।

Advertisements

प्रत्येक भारतीय के मन की आस्था एवं विश्वास का केंद्र बाबा विश्वनाथ का नव्य भव्य धाम, महाकालेश्वर केदारनाथ जैसे दिव्य तीर्थ स्थलों का कायाकल्प, काशी अयोध्या, प्रयागराज, मथुरा आदि श्रद्धा केंद्रों का चतुर्दिक विकास आज सांस्कृतिक पुनर्जागरण की अमिट गाथा बन चुके हैं। यह बातें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रांत कार्यकारिणी सदस्य व श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य डॉ अनिल मिश्रा ने महानगर के पदमपुरी कॉलोनी में आयोजित शाखा संगम के दौरान कहीं। उन्होंने यह भी कहा कि इतनी बड़ी संख्या में युवाओं का संघ से जुड़ना एक नई सांस्कृतिक चेतना का उदाहरण बन रहा है।

कार्यक्रम में चंद्रगुप्त नगर की 11 शाखाओं ने प्रतिभाग किया। जिसमें शारीरिक, बौद्धिक क्रियाओं के अलावा विभिन्न खेलों का भी प्रदर्शन हुआ। इस मौके पर अयोध्या महानगर के संघचालक प्रोफेसर विक्रमा प्रसाद पांडे, डॉ. अजय मोहन, महानगर कार्यवाह देवेंद्र, राहुल, संत राम यादव, बालेन्द्र भूषण सिंह, के एन सिंह, मनोज, अमित शंकर, सुधीर सिंह, नगर संघचालक रविन्द्र जी, नगर कार्यवाह रंजीत, अरविंद, अभिषेक सहित सैकड़ों स्वयंसेवक उपस्थित रहे।

Advertisements
इसे भी पढ़े  बाबा साहब के जीवन वृत्त से सीखने का करें प्रयास : नितीश कुमार

Comments are closed.