The news is by your side.

बेसहारा बेवा के सहारा बने समाजसेवी विनोद सिंह

दीप पर्व के एक दिन पूर्व सड़क हादसे में मुखिया की मृत्यु के बाद बेसहारा हो गया था परिवार

रूदौली। गरीब परिवार के मुखिया के निधन के बाद समाजसेवी विनोद कुमार सिंह ने उस परिवार को संभालने का जिम्मा उठा लिया है।उन्होंने प्रति माह विधवा महिला को अपने खर्च से 1500 रुपये प्रतिमाह देने के साथ साथ मंगलवार को पूर्व जिला पंचायत सदस्य जग प्रसाद रावत के नेतृत्व में पांच सदस्यीय टीम गांव भेजकर विधवा महिला को 20 हजार रुपये की एनएससी (राष्ट्रीय बचत पत्र ) पहुचाई। समाजसेवी टीम ने उक्त पीड़ित विधवा महिला से मिलकर खाता खुलवाने के लिए पति के मृत्यु के बाद से ही परिवार और बच्चों के भरण पोषण की जिम्मेदारी ले ली गौरतलब हो कि बीती दीपावली पर्व के एक दिन पूर्व तहसील क्षेत्र के बघेढ़ी गांव में सड़क दुर्घटना में दो युवाओ की मौत हो गई थी ।इस दर्दनाक हादसे से खुशी के पर्व दीपावली पर भी पूरे गांव में मातम छाया था।घटना की जानकारी जैसे ही अपने सहयोगी सन्दीप यादव से समाजसेवी को मिली श्री सिंह उसी समय तत्काल बघेडी गांव पहुच कर दोनों परिवारों की आर्थिक मदद करते हुए हर सम्भव मदद का आश्वासन दिया था । मृतक पाटनदीन घर पहुचने पर विधवा पत्नी और चार छोटे छोटे बच्चों को देखने व परिवार की माली हालत पर उन्हें तरस आया ।गांव वालों ने बताया कि मृतक पाटनदीन मेहनत मजदूरी करके किसी तरह परिवार चलाता था वह परिवार का एक मात्र कमाऊ सदस्य था एक विस्वा खेती भी नही है जिससे अब परिवार का गुजर बसर हो सके । बड़े ही दयालु प्रवृति के समाजसेवी ने ग्रामीणों को परिवार के मदद का भरोसा देने के साथ साथ उक्त बेवा रामकली को अपने खर्च से 1500 रुपये प्रतिमाह पेंशन देने के साथ साथ चार बच्चों की पढ़ाई का पूरा जिम्मा अपने ऊपर ले लिया। साथ ही अपने कार्यकर्ताओं को अविलंब खाता खुलवाने में मदद करने का निर्देश दिया और मंगलवार को समाजसेवी टीम में पूर्व जिला पंचायत सदस्य जग प्रसाद यादव,नान्ह महाराज ,धर्मेन्द्र सिंह मिंटू ,सीताराम यादव व महेश रावत को गांव भेजकर 20 हजार रुपये की एनएससी गांव के सभ्रांत व्यक्तियों को बुलाकर सौपा । समाजसेवी के इस कार्य से ग्रामीणों ने खुशी जाहिर की है । समाजसेवी विनोद सिंह के सहयोगी संदीप यादव ने बताया कि वायदा के मुताबिक समाजसेवी ने मंगलवार को पीड़ित परिवार के बच्चों के भरण पोषण हेतु 20 हजार रुपए की धनराशि विवाह के लिए पोस्ट आफिस मीरममऊ में फिक्स किया है जो बच्चियों की शादी के समय दुगुना होकर मिल सकेगी।समाजसेवी विनोद सिंह ने बताया कि गरीबो मजबूरों और बेसहारा की हरसंभव मदद का प्रयास हमेशा किया जाता है। उन्होंने कहा कि बेसहारा का मददगार हर उस इंसान को बनाना चाहिए जिसमें तनिक भी इंसानियत नाम की चीज है।उन्होंने कहा मेरे शरीर मे जब तक सांस रहेगी तब तक लोगो की मदद करता रहूंगा।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.