The news is by your side.

जन आशीर्वाद यात्रा लेकर अयोध्या पहुंचे केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री

पिता के चलते सीएम बने अखिलेश, जनता ने नकारा : अजय मिश्रा

अयोध्या। विधानसभा चुनाव 2012 में पिता के चलते अखिलेश यादव मुख्यमंत्री बन गए जिसके बाद हुए चुनावों में जनता ने उन्हें नकार दिया है। आगामी चुनाव में भाजपा 300 से अधिक सीटें जीतेगी। सूबे में भाजपा की सरकार फिर से बनेगी।
यह दावा है। केन्द्रीय गृहराज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी का। वे जन आशीर्वाद यात्रा लेकर अयोध्या पहुंचे थे।

Advertisements

पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने ने 300 से अधिक सीटें जीतने के साथ काश्मीर में कश्मीरी पण्डितों को पुनर्स्थापित करने की योजना भी बताई। संसद न चलने देने को लेकर विपक्षी दलों पर जमकर बरसे। कहा कि 2007 के बाद से पूर्ण बहुमत की सरकारें बनी है। जिसके बाद की तीन सरकारों की तुलना में भाजपा जनकल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से बहुत आगे है। जम्मू कश्मीर की समस्या पूर्व प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु की देन बताई। कहा कि समस्या को हल करने का प्रयास नहीं हुआ। धारा 370 हटाने के बाद शिक्षा के क्षेत्र में काम किया गया। मेडिकल कालेज, रेलवे लाईन व सड़को का विस्तार किया गया। कश्मीरी पंडितों के लिए 4000 आवास बनाए गए। 6000 का निर्माण चल रहा है।

आगे कहा कि असम, मिजोरम विवाद अंग्रेजों ने 1918 में पैदा किया। गया था। दोनों राज्यों के मुख्यमंत्री की बैठक में इसे सुलझाने पर विचार चल रहा है। उन्होने कहा कि सबका साथ, सबका विकास व सबका विश्वास के साथ हम सबका प्रयास के सिद्धान्त पर चल रहे हैं। सभी के प्रयासों से हम राष्ट्र विकास के पथ पर गतिशील करना चाहते है। आतंकवाद व विस्तारवाद को समाप्त करके समन्वय स्थापित करना हमारा लक्ष्य है। राजनैतिक दल नकारात्मक राजनीति कर रहे है। सदन को बाधित कर रहे है ताकि कहीं कोई काम न होने पाये। राज्य सभा में कागज लेकर फाड़ा गया। जब वोट बैंक खिसकने का डर आया तो वह साथ हो गये। उन्होने बताया कि 11 लोकसभा व 7 जिलो से भाजपा की जनआशीर्वाद यात्रा गुजरते हुए अयोध्या पहुंची है।

इसे भी पढ़े  संविधान संशोधन की बात कहकर बाबा साहब का अपमान कर रहे बीजेपी के लोग : के.एच. मुनियप्पा

इसका उद्देश्य कार्यकर्ताओं से संवाद स्थापित करना है। इस अवसर पर महापौर ऋषिकेश उपाध्याय, महानगर जिलाध्यक्ष अभिषेक मिश्रा, क्षेत्रीय मंत्री कमलेश श्रीवास्तव, जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि आलोक सिंह रोहित, मीडिया प्रभारी व अयोध्या के मंडल प्रभारी दिवाकर सिंह मौजूद रहे।

हर अच्छे काम को रोकने का प्रयास करते है विरोधी दल

अयोध्या। सिचाई विभाग के गेस्ट हाउस में कार्यकर्ताओं को सम्बोधन में केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी ने विरोधी दलों को निशाना बनाया। कहा कि देश के लिए होने वाले हर अच्छे कार्य को विरोधी दल रोकने का प्रयास करते हैं। विपक्ष ने सारी सीमाएं तोड़ दी है। जबकि पंडित दीनदयाल उपाध्याय के सपनों को पूरा करने का कार्य सरकार कर रही है। श्यामा प्रसाद मुखर्जी जिसके लिए बलिदान हुए थे। सरकार ने उसे पूरा करके दिखा दिया। आज जम्मू व काश्मीर में सरकारी ही नहीं प्राईवेट इमारतों में भी तिरंगा फहराया जा रहा है।

बताया कि ओलम्पिक में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों को 6 साल तक लगातार केन्द्र सरकार द्वारा देश तथा विदेश में प्रशिक्षण दिलाया गया। कोच उपलब्ध कराया गया। इसका परिणाम रहा कि पदक पाने के साथ पदक से चूकने वाले भी कई खिलाड़ी रहे। केंद्रीयमंत्री ने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने राजनैतिक दल सांसद व विधायक बनने के लिए नहीं बनाया था। बल्कि राष्ट्र का गौरव वापस दिलाने के लिए इसका उद्देश्य था। हम सब को समपर्ण भाव के साथ एक भारत श्रेष्ठ भारत व सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास के सिद्धान्त को आत्मसात करना है।

कार्यक्रम के समापन पर महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ने कहा कि केन्द्र व प्रदेश सरकार की प्राथमिकताओं में अयोध्या का विकास है। इसके लिए योजनाओं की श्रंखलाएं प्रदान की गयी है। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष संजीव सिंह व संचालन महानगर जिलाध्यक्ष अभिषेक मिश्रा ने किया।

इसे भी पढ़े  गरीबों के कल्याण को लेकर बनेंगी और योजनाएं : अनुप्रिया पटेल

इससे पहले यात्रा पहुंचने पर महानगर अध्यक्ष अभिषेक मिश्रा, जिला पंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि आलोक सिंह रोहित ने 51 किलो की माला पहनाकर उनका स्वागत किया। स्वागत करने वालों में सांसद लल्लू सिंह, महापौर ऋषिकेश उपाध्याय, लखीमपुर खीरी विधायक योगेश वर्मा, जिलाध्यक्ष संजीव सिंह, क्षेत्रीय मंत्री कमलेश श्रीवास्तव, सहकारी बैंक के सभापति धर्मेन्द्र प्रताप सिंह टिल्लू, अमल गुप्ता, अशोका द्विवेदी, बृजेन्द्र सिंह, कृष्ण कुमार पाण्डेय खुन्नू, नीरज कन्नौजिया, युवा मोर्चा क्षेत्रीय उपाध्यक्ष विशाल सिंह, गन्ना चेयरमैन दीपेन्द्र सिंह, अभय सिंह, यात्रा संयोजक परमानंद मिश्रा, प्रतीक श्रीवास्तव, शैलेन्दर कोरी आदि रहे।

Advertisements

Comments are closed.