The news is by your side.

यूनिफॉर्म सिविल कोड देश के लिए ठीक नहीं : मौलाना ख़ालिद रशीद

कहा-भारत के इतिहास में मुस्लिम समाज का विशेष योगदान

रूदौली। मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य व इस्लामिक सेंटर आफ इंडिया के चैयरमैन मौलाना ख़ालिद रशीद फ़िरंगीमहली ने कहा की इस्लाम का संदेश इंसानियत और मोहब्बत है। इस पर अमल किया जाए तो बड़े बड़े मसायल आसानी से हल हो जाएँगे।मौलाना एक निजी कार्यक्रम में समाजवादी पार्टी के नेता एहसान मो अली उर्फ़ चौधरी शहरयार के यहाँ में रुदौली क़स्बे में आए थे।

Advertisements

उन्होंने इस अवसर पर कहा की मुस्लिम समाज और भारत के परिप्रेक्ष्य में कहा की भारत के इतिहास में मुस्लिम समाज का विशेष योगदान रहा है जिसे नरज़अन्दाज़ नहीं किया जा सकता।उन्होंने यूनिफ़ॉर्म सिवल कोड लागू करने की सरकार की मंशा पर ऐतराज जताते हुए कहा की यहाँ के सामविधान में सभी धर्मों को अपनी मान्यता के अनुसार धर्मों का पालन करने की आज़ादी दी है जिसे बदला जाना संविधान से छेड़ छाड़ होगा। भारत की मिली जुली संस्कृति को देखते हुए यहाँ लागू करना सही नहीं। उन्होंने कहा की भारत एक गुलदस्ता की भाँति है जिसमें तरह तरह के फूल हैं जिनमे से एक फूल मुस्लिम समाज का है।

इस अवसर पर मौलाना अरशद क़ासमी,दरगाह शरीफ़ के शाह मोहम्मद आरिफ़ उर्फ़ सुब्बू मियाँ,समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता फ़राज़ किदवई,पूर्व ब्लॉक प्रमुख निशात खां,शुऐब खां,परवेज़ अहमद,मो इद्रीस,यसिर कलीम,शाह मंसूर,कैफ़ी मियाँ,शाहनवाज़ खान,प्रमोद कौशल,सोहन लाल चौरसिया आदि उपस्थिति थे।

Advertisements
इसे भी पढ़े  शॉर्ट-सर्किट से गेहूं के खेत में लगी आग, 16 बीघा फसल जलकर राख

Comments are closed.