उ.प्र. एलटी ग्रेड परीक्षा केन्द्रों की दूरी बेरोजगार अभ्यर्थियों का बिगाड़ रही बजट

    • 600 से 700 किमी तक की दूरी पर देनी पड़ेगी परीक्षा

    • परीक्षा में जूत-मोजा, टोपी पहनकर आने पर रोक

    • 29 जुलाई को प्रदेश के 39 जिलों में होनी है परीक्षा

    Advertisement

    ब्यूरो। सूबे के राजकीय इंटर कॉलेजों में उत्तर प्रदेश पब्लिक सर्विस सलेक्शन कमीशन (यूपीपीएससी) द्वारा 29 जुलाई को प्रस्तावित एलटी ग्रेड शिक्षकों की लिखित परीक्षा बेरोजगार अभ्यर्थियों का इसबार बजट बिगाड़ रही है। प्रदेश के 39 जिलों में होनी वाली इस परीक्षा में इसबार अभ्यर्थियों के गृह जनपद से इतनी अधिक दूरी पर सेंटर बना दिये गये हैं कि कुछ अभ्यर्थियों को 600 से 700 किमी की दूरी तय करने के बाद परीक्षा में शामिल होने का मौका मिलेगा। यही नहीं इसबार परीक्षा में छात्र जूते-मोजे या टोपी पहनकर पेपर नहीं दे सकेंगे। परीक्षा में केवल चप्पल एवं सैंडल पहनकर आने की छूट होगी। परीक्षा में इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस सहित हाथ के बैंड और क्लेचर भी लाने पर रोक रहेगी। छात्रों द्वारा केंद्र पर लगाए मोबाइल और किताब सहित विभिन्न सामग्री को रखने की सुविधा तो रहेगी, लेकिन कुछ गायब होने की जिम्मेदारी आयोग की नहीं होगी।
    आयोग ने परीक्षा के लिए दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। आयोग के अनुसार परीक्षा के लिए छात्रों को केवल ब्लैक बॉल प्वाइंट पेन प्रयुक्त करना होगा। छात्रों को ग्राफ शीट, कैलकुलेटर, स्लाइड रूल्स, मोबाइल फोन, पेजर, जूते-मोजे, हाथ के बैंड, इलेक्ट्रानिक डिवाइस लाना प्रतिबंधित रहेगा। चेहरे को ढंककर परीक्षा में आने पर रोक रहेगी। साथ ही बालों का बांधने का क्लेचर, बक्कल, घड़ी, हाथ में पहनने का बैंड, धूप में पहनने वाले चश्मे, पर्स, वायलेट, टोपी, कमर में पहने जाने वाले बेल्ट भी पहनकर आने पर रोक रहेगी। छात्रों को केवल चप्पल या सैंडल पहनकर आना होगा। आयोग के अनुसार छात्रों को परीक्षा केंद्र पर आधा घंटे पहले पहुंचना होगा। छात्र ओएमआर में व्हाइटनर, रबड़ और ब्लेड का प्रयुक्त करने पर भी रोक रहेगी। छात्रों को केंद्र पर अधिकतम दस मिनट की देरी से ही एंट्री की अनुमति होगी। परीक्षा 11.30 से 1.30 बजे तक होगी।
    यदि छात्रों के एडमिट कार्ड पर फोटो या हस्ताक्षर मुद्रित नहीं है अथवा फोटो अस्पष्ट है या फिर निर्धारित साइज से छोटी है तो उन्हें केंद्रों पद दो फोटो और कोई एक आईडी प्रूफ लेकर आना होगा। आईडी प्रूफ में छात्र पेन कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी और आधार कार्ड से कोई एक अपने साथ ला सकते हैं। यह परीक्षा 29 जुलाई को इलाहाबाद सहित प्रदेश के 39 जिलों में होनी है।
    बताते चलें कि एलटी ग्रेड शिक्षकों के 10768 पदों पर भर्ती के लिए लिखित परीक्षा होनी है। इसके लिए आयोग के 7.63 लाख आवेदन मिले थे। 10768 पदों में पुरुष शाखा के 5364 और महिला शाखा के 5404 पद हैं। आयोग यह भर्ती पहली बार करवा रहा है। पदों की संख्या के लिहाज से यह आयोग की अब तक की सबसे बड़ी परीक्षा है।
    उक्त परीक्षा को लेकर बेरोजगार युवाओं द्वारा सोशल मीडिया पर कुछ ऐसी तस्वीरें वायरल की जा रही हैं जो आमजन में चर्चा का विषय बनी हुईं है। बेरोजार छात्र अनिल कुमार का कहना है कि इस सरकार में यही सब होगा सब पैसे के लिए परेशान है ऊपर से परीक्षा केन्द्र इतनी दूर रखकर तमाशा बना दिया गया है। आकाश गुप्ता का कहना है कि सरकार के इस ऐतिहासिक फैंसले से हमें एलटी ग्रेड परीक्षा से पहले यात्रा परीक्षा देनी पड़ रही है। यही नहीं दूर बने परीक्षा केन्द्रों पर पहुंचने के लिए तमाम छात्रों ने तो फेसबुक व वाट्सएप ग्रुप पर अपना मोबाइल नम्बर व सेंटर जाहिर कर एक दूसरे से गाड़ी बुक कराते भी देखे जा रहे है।