कारगिल विजय दिवस पर सैन्य शहीदों को अर्पित की गयी श्रद्धांजलि

फैजाबाद। शहीद स्मारक सेवा समिति के तत्वाधान में कारगिल विजय दिवस पर सैन्य शहीद स्मृति का श्रद्धान्जलि कार्यक्रम का आयोजन किया गया। सर्वप्रथम ज्ञानी रंजीत सिंह के साथ सर्वधर्म प्रार्थना हुई जिसमें शहीदों को श्रद्धान्जलि, देश में एकता, अखण्डता एवं अमन के लिए प्रार्थना हुई तत्पश्चात् मुख्य अतिथि कर्नल सी0पी0 सिंह प्रभारी ई0सी0एच0एस0 के साथ सूबेदार मेजर वी0के0 द्विवेदी, सूबेदार रामचन्दर यादव, 1971, 1965 एवं 1962 के जांबाज सिपाही परशुराम सिंह, बाबूराम सिंह, अखण्ड प्रताप पाण्डेय, उमाशंकर यादव, हवलदार एम0एम0 हुसैन, सार्जेन्ट जगदम्बा प्रसाद पाण्डेय एवं राजेश गौड़ (पार्षद) ने कारगिल शहीदों को पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धान्जलि दी।
अध्यक्षता वी0वी0 मिश्रा पूर्व वायु सेनाधिकारी ने किया संचालन ओमप्रकाश सिंह नाहर ने किया। कबीर साहनी एवं दिनेश जायसवाल ने अतिथियों का स्वागत किया। सूबेदार मेजर वी0के0 द्विवेदी ने बताया कि भारतीय सेना की वीरगाथा और शौर्य पूरे दुनिया में मशहूर है, जिसने भी हमारी सेना से टकराने की हिम्मत की है उसने मुंह की खायी है। इसका उदाहरण 1971 का भारत – पाक युद्ध है। कारगिल युद्ध जो जमीन से 19000 फुट ऊपर जहां पर तापमान भी शून्य से कम होता है वहां पर पाकिस्तान की सेना को खदेड़कर तिरंगा फहराया। जिसमें हमारी सेना ने भी देश की सुरक्षा के लिए लगभग 500 जवानों की शहीदी दी है। देश और सेना के लिए शहादत देने वालों जवानों को देश सलाम करता है। कारगिल विजय दिवस पर सूबेदार मेजर वी0के0 द्विवेदी, सूबेदार मेजर उमाशंकर यादव, सूबेदार रामचन्दर यादव, हवलदार नजीर अहमद, हवलदार परशुराम सिंह, हवलदार बाबूराम सिंह, हवलदार अखण्ड प्रताप पाण्डेय, हवलदार एम0एम0 हुसैन, हवलदार शिवकुमार सिंह, सूबेदार इत्काद हुसैन के साथ समिति के दिनेश जायसवाल, कवीन्द्र साहनी, सरदार मंजीत सिंह, आनन्द अग्रहरि और पार्षद राजेश गौड़ के द्वारा इस बरसते हुए पानी में भी श्रद्धा-सुमन अर्पित की गई।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More