मतगणना कार्मिको को दिया गया प्रशिक्षण

प्रत्याशियों के अधिकृत एजेण्ट से किसी भी विषय पर मतगणना सुपरवाइजर ही बात करने लिये या कुछ बताने के लिए अधिकृत है

अयोध्या।  मतगणना के एक चक्र समाप्त होने के पश्चात् अगले चक्र की मतगणना प्रारम्भ होने तक सभी मतगणना कार्मिक अपने-अपने सीट पर बैठे रहेंगे, न इधर-उधर टहलेगें न ही बिना एआरओ अथवा आरओ के अनुमति के बाहर जायेगे तथा जब तक एनाउन्स न हो तब तक अगले चक्र की मतगणना प्रक्रिया की शुरूवात नहीं करेंगे। उक्त जानकारी जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी श्री अनुज कुमार झा ने साकेत डिग्री कालेज में मतगणना कार्मिको के चल प्रशिक्षण सत्र में देते हुए प्रशिक्षण सम्बन्धित महत्वपूर्ण टिप्स दिये उन्होनें कहा कि प्रत्याशियों के अधिकृत एजेण्ट से किसी भी विषय पर मतगणना सुपरवाइजर ही बात करने लिये या कुछ बताने के लिए अधिकृत है। उन्होंने कहा कि मतगणना सुपरवाइजर को बहुत ही गम्भीरता से संक्षिप्त उत्तर/प्रतिउत्तर देना होगा। सभी मतगणना कार्मिकों को 23 मई को प्रातः 6.00 बजे राजकीय इण्टर कालेज में निर्धारित गेट से विधानसभावार मतगणना स्थल पर पहुंचना होगा। सभी को पै्रटिकल अपरोच  के साथ पूरी पारदर्शिता के साथ कार्य करना होगा। जब तक जीते हुए प्रत्याशी का रिजल्ट एनाउन्स न हो जाए और उन्हे प्रमाण-पत्र न दे दिया जाए तब तक कोई मतगणना कार्मिक अपने ड्यूटी प्वाइंट को नही छोड़ेगा। मतदान कार्मिकों द्वारा प्रशिक्षण के दौरान अपने शंका का समाधान करने हेतु कई प्रश्न पूछे गये जिनका समाधान बिन्दुवार जिला निर्वाचन अधिकारी अनुज कुमार झा द्वारा मौके पर ही किया गया। अन्त में जिलाधिकारी ने अपने सम्बोधन में कहा कि आप सभी ने पूरे उत्तर दायित्व एवं कर्तव्य बोध के साथ लोकतंत्र के महापर्व मतदान प्रक्रिया को शान्तिपूर्ण वातावरण एवं पारदर्शिता के साथ सम्पन्न कराया है। निश्चित रूप से आप सभी धन्यवाद के पात्र है ठीक उसी तरह तन और मन के साथ मतगणना की प्रक्रिया को र्निविघ्न सम्पन्न आप  लोगो को ही कराना है। प्रशिक्षण सत्र मंे डीडीसी चकबन्दी तरूण कुमार मिश्र ने पूरी मतगणना प्रक्रिया के बारे मे विस्तार से मतगणना कार्मिकों को पढ़ाया पाठ। उन्होनें कार्मिकों से कहा कि आप सभी को किसी तरह की शंका हो तो आप उसका समाधान कभी भी हमसे पूंछ सकते है। प्रशिक्षण सत्र में मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक आनन्द, जिला विकास अधिकारी हवलदार सिंह, अपर जिलाधिकारी नगर वैभव शर्मा, मन्दिर मजिस्ट्रेट अशोक कुमार सिंह, डीडीसी चकबन्दी तरूण कुमार मिश्र, परियोजना निदेशक ग्राम्य विकास अभिकरण कमलेश कुमार आदि अधिकारी उपस्थित थे।
जिलाधिकारी ने सभी मतगणना कार्मिको से कहा कि कोई भी अपने साथ मोबाइल या किसी प्रकार की इलेक्ट्रानिक डिवाइस मतगणना स्थल पर नही लायेगा। मतगणना कार्मिक अपना उपयोग वाला कल्कुलेटर ला सकते है। उन्होनें यह भी कहा कि कोई भी कार्मिक अपना चश्मा लाना न भूलेंगे। सभी मतगणना कार्मिक अपनी प्रतिदिन रूटीन के दवांए अपने साथ रखेंगे। फिर भी मतगणना स्थल पर आपके स्वास्थ्य का पूरा ख्याल रखा जायेगा, स्वास्थ्य शिविर में डाक्टर के साथ-साथ हर प्रकार की दवायें व एम्बुलेन्स भी रहेगी। सभी मतगणना कार्मिकों के लिये मतगणना अवधि में चाय, नाश्ता, पानी एवं लंच की पूर्ण व्यवस्था रहेगी उन्हें उनके सीट पर ही खान-पान की सभी सामग्रीयां सुलभ होगी।

इसे भी पढ़े  धूमधाम से मना शिव मंदिर जीर्णोद्धार उत्सव

मतगणना कार्मिक का द्वितीय सत्र का प्रशिक्षण राजकीय इण्टर कालेज में

अयोध्या।  जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी अनुज कुमार झा व डीडीसी चकबन्दी/प्रभारी मतगणना तरूण कुमार मिश्र ने संयुक्त रूप से बताया।1. 22 मई को सभी मतगणना कार्मिक का द्वितीय सत्र का प्रशिक्षण राजकीय इण्टर कालेज के प्रांगण में दिया जायेगा जहां उन्हें विधानसभा आवंटन पत्र मिलेगा जिसके माध्यम से यह जानकारी होगी कि उन्हें किस विधानसभा की गणना करनी है।2. 22 मई के प्रशिक्षण सत्र के पश्चात् मतगणना कार्मिकों को यह बताया जायेगा कि मतगणना स्थल पर किस गेट से आना है कहां आप अपने साधन खड़ा करेंगे, किस मार्ग से विधानसभा के गणना टेबुल पर पहुंचना है के बारे में बताया जायेगा।3. 23 मई मतगणना को स्थल पर पहुंचने पर आपको प्रेक्षक के समक्ष रेण्डमाइजेशन के पश्चात् आप आवंटित विधानसभा के किस टेबुल पर बैठेगे इसकी जानकारी दी जायेगी।4. 23 मई को मतगणना टेबुल पर बैठते ही आपको एक प्रिन्टेट पेपर दिया जायेगा जिसमें अंकित होगा कि आपको कितने चक्र की गणना करनी है और प्रत्येक चक्र में किस बूथ की गणना करेंगे उसका प्रिन्टेट चार्ट मिलेगा।5. मतगणना प्रारम्भ करते समय कन्ट्रोल यूनिट को उठाकर सभी प्रत्याशी के एजेण्ट को उसकी लगी सभी सील को दिखाना होगा, सील दिखाने के बाद आप एक बार पूंछ ले कि आप सभी संस्तुष्ट है तो पेपर सील खोलकर उसे सुरक्षित रखेगें।6. कन्ट्रोल यूनिट के पीछे एक नम्बर होगा जो बार कोड होगा जो यह बताता है कि किस कोड की मशीन किस बूथ पर लगी थी यदि ईवीएम में मतदान के दौरान कोई खराबी आयी होगी तो आपको 2 कन्ट्रोल यूनिट मिलेगी।7. आउटर कम्पार्ट का सील जैसे खोलेंगे आपको क्लोज बटन दिखाई देगी और बताये तरीके से मतगणना प्रारम्भ करेंगे।8. कन्ट्रोल यूनिट में मतदान प्रारम्भ होने तथा समाप्त होने का समय बतायेगी, इसका मिलान 17सी पार्ट-1 में अंकित समय से करेंगे।9. निर्धारित प्रक्रिया के पश्चात् जब मशीन गणना करने लगे तो मशीन द्वारा प्रदर्शित रिजल्ट को प्रत्याशी के एजेण्ट को मशीन उठाकर दिखाना होगा तथा प्राप्त मत को जोर से बोला होगा ताकि एजेण्ट के साथ-साथ ही साथी गणना सहायक उसे निर्धारित प्रारूप-17सी पार्ट-2 पर नोट कर सकें।10. यदि रिजल्ट नोट करने में कोई भ्रम हो तो आप उसे दुबारा चेक कर सकते है।11. 17सी पार्ट-2 पर अपने टेबुल का नम्बर व चक्र का नम्बर डालने के साथ अंकित गणना पर सुपरवाइज के हस्ताक्षर कराने के पश्चात् फार्म-17सी पार्ट-2 को अपने अभिरक्षा में एजेण्ट के हस्ताक्षर कराये तद्पश्चात् उसे एआरओ के टेबल पर भेज दे। फार्म-17सी पार्ट-2 के फोटो कापी उन्हीें एजेण्ट को दे जिन्होनंे उस पर हस्ताक्षर किये है।12. तद्पश्चात् अगले चक्र की गणना के एनाउन्समेन्ट के लिए अपनी सीट पर बैठकर प्रतिक्षा करें।

इसे भी पढ़े  शिक्षा-रोजगार व अधिकार के लिए युवाओं को आना होगा आगे : शेरबहादुर

मतगणना समाप्ति के पश्चात् होगी वीवीपैट पर्ची की मतगणना

अयोध्या। न्यायालय व चुनाव आयोग के निर्देशानुसार सभी विधानसभाओं की मतगणना समाप्ति के पश्चात् हर विधानसभा के 5 बूथों के वीवीपैट की पर्ची की मतगणना की प्रक्रिया प्रारम्भ होगी। प्रेक्षक की उपस्थिति में विधानसभावार सभी बूथों की पोस्ट कार्ड साइज की सफेद कागज पर पर्ची बनाई जायेगी, जिसमें 1 गुणे 1 इंज का आकार का बूथ नम्बर अंकित किया जायेगा और उसे 4 फोर्ड में मोड़कर एक बडे आकार के पाॅट में डाला जायेगा, उसे कई बार हिलाकर उसमें से 5 बूथों की पर्ची निकालकर उन बूथो पर लगे वीवीपैट की पर्ची की गणना चारो तरफ महीन जाली से कवर्ड कम्पार्टमेंट में की जायेगी। निकाली गई पर्ची के बूथ के वीवीपैट उक्त कम्पाईमेन्ट में लाया जायेगा उसमें 3 सील लगी होगें उसमे से केवल 1 ड्राॅप बाक्स की सील हटाकर वीवीपैट की पर्ची बड़ी सावधानी से एक ट्रे रखा जायेगा तद्पश्चात् आयोग द्वारा निर्धारित प्रक्रिया के तहत गणना की जायेगी और उसका मिलान प्रेक्षक की उपस्थिति में गणना सीट से की जायेगी। उक्त जानकारी जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी अनुज कुमार झा व डीडीसी चकबन्दी/मतगणना प्रभारी तरूण कुमार मिश्र ने संयुक्त रूप से दी है।

मतगणना स्थल की तैयारियों का लिया जायजा

अयोध्या। शिक्षण सत्र के पश्चात् जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी अनुज कुमार झा सीधे पहंुचे राजकीय इण्टर कालेज मतगणना स्थल पर। मतगणना स्थल पर अब तक की तैयारियों को देखने के साथ ही उन्होनंे पीडब्लूडी के अधिशाषी अभियन्ता को मतगणना टेबुल को पूरी जाली से कवर करने के निर्देश दिये। साथ ही साथ ऐसी व्यवस्था बनाने के निर्देश दिये कि एक विधानसभा का मतगणना कार्मिक, एजेण्ट व लगाये गये अधिकारीगण दूसरे विधानसभा के मतगणना स्थल पर न पहुंच पाए। उन्होनें बैरीकेटिंग को और मजूबत बनाने आकस्मिक निकास द्वार बनाने, पेयजल की पर्यापत व्यवस्था के साथ-साथ मतगणना कार्मिको के आने व टेबुल पर जाने के मार्ग के संकेत बोर्ड लगाने, के साथ सम्पूर्ण व्यवस्था 20 मई तक पूर्ण करने के निर्देश दिये। मतगणना स्थल के भ्रमण के साथ जिलाधिकारी ने अधिकारियों के साथ विधानसभावार के ईवीएम स्ट्रांग रूम का निरीक्षण किया तथा वहां तैनात अर्द्ध सैनिक बल के जवानो से सुरक्षा व्यवस्था की बात करने के साथ उनकी भी परेशानियाें के बारे में जानकारी लीे तथा आवश्यक अंकन उनके लागबुकमें किया।

Facebook Comments