The news is by your side.

निष्प्रयोज्य सामग्री से कैंडल बनाने का दिया प्रशिक्षण

एम.ए. प्रसार शिक्षा एवं ग्रामीण विकास विभाग के छात्र-छात्राओं ने घर-घर जाकर किया स्किल मैपिंग का कार्य

अयोध्या। डॉ राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के प्रौढ, सतत् एवं प्रसार शिक्षा विभाग द्वारा 15 दिवसीय सामुदायिक विकास कार्यक्रम के अन्तर्गत शुक्रवार को ग्राम अशरफपुर, टोनिया बिहारीपुर, डाभासेमर में विशेषज्ञों द्वारा निष्प्रयोज्य सामग्री से कैंडल बनाने का प्रशिक्षण दिया गया। कार्यक्रम में गाॅव की महिलाओं और बच्चों द्वारा घर में उपयोग में लाये गये दीयों को अनेक रंगों में कलात्मक रूप से सुव्यवस्थित करके कैंडल तैयार किया। विशेषज्ञों द्वारा तैयार कराये गये कैंडल को लेकर महिलाओं एवं बच्चों में काफी उत्साह दिखा।
कार्यक्रम में ग्रामवासियों को प्रशिक्षित करने के लिए विश्वविद्यालय के एम.ए. प्रसार शिक्षा एवं ग्रामीण विकास विभाग के छात्र-छात्राओं ने घर-घर जाकर स्किल मैपिंग का कार्य किया। गाॅव की महिलाओं ने छात्राओं के साथ सर्वे का कार्य कराने में भरपूर सहयोग प्रदान किया। कार्यक्रम के दौरान गाॅव के बढ़ई, लोहार तथा माली आदि ने अपने पारम्परिक कौशल को नये रूप में सीखनें की इच्छा व्यक्त की। प्रशिक्षण कार्यक्रम में विभाग के निदेशक प्रो0 अनूप कुमार ने बताया कि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 मनोज दीक्षित के दिशा-निर्देशन में यह कार्यक्रम किया जा रहा है। कार्यक्रम में अबतक विशेषज्ञों द्वारा ग्रामवासियों को मधुमक्खी पालन, रेशम कीट पालन, जैविक खाद तैयार करने की विधि, महिलाओं के लिए सिलाई-कढ़ाई, कैंडल निर्माण एवं कीटनाशक व रासायनिक खादों से युक्त अनाज व सब्जियों के उत्पादन के बारे में प्रशिक्षित किया गया है। प्रो0 कुमार ने बताया कि अगामी दिवसों में ग्रामीणों के स्वास्थ्य के लिए नाड़ी परीक्षण एवं महिलाओं के लिए योग प्रशिक्षण का कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा।
इस प्रशिक्षण कार्यक्रम को सफल बनाने में विभाग के सहायक निदेशक डाॅ0 सुन्दर लाल त्रिपाठी एवं डाॅ0 सुरेन्द्र मिश्र ने सामुदायिक विकास कार्यक्रम के अन्तर्गत ग्रामवासियों को स्वरोजगार के लिए प्रेरित किया। निष्प्रयोज्य सामग्री से ग्रामीण महिलाओं को कैन्डिल बनाने का प्रशिक्षण फैशन डिजाईनिंग की प्रवक्ता श्रिया श्रीवास्तव एवं शालिनी पाण्डेय ने दिया। इस अवसर पर ग्रामप्रधान प्रतिनिधि गवास वर्मा, डाॅ0 सुधीर सिंह, निखिल वर्मा, विभाग की छात्र-छात्रायें एवं ग्रामवासी उपस्थित रहे।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.