The news is by your side.

संघ के संघचालक ने सरकार को दिखाया आईना

-कोरोनो से बिगड़ गए हालातों से निपटने के लिए मीडिया से मांगी मदद

अयोध्या। श्रीराम आश्रम के महंत जयरामदास जो अयोध्या में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नगर संघचालक हैं उन्होंने अपना मोबाइल न.(91611 11129)जारी करते हुए सामाजिक माध्यम मंच से अपनी ही भाजपा सरकार की कमियाँ गिनाते/ आईना दिखाते हुए कोरोनो से बिगड़ गए हालातों से निपटने के लिए मीडिया से मदद माँगी है।

Advertisements

उन्होंने लिखा है “आप सबको सूचित कर देना चाहता हूँ कि उत्तर प्रदेश की हालत बद से बदतर होती जा रही है।व्यक्ति तड़प-तड़प के मरते जा रहे हैं। उसको ऑक्सीजन नहीं मिल रही है ।यदि कहीं समाजसेवी फंड या गुरुद्वारे से ऑक्सीजन दिला भी देते हैं तो चढ़ाने के लिए कोई डॉक्टर नहीं, ऑक्सीजन बेड नहीं मिल पा रहे हैं।“ वे लिखते हैं- “ बहुत जुगाड़ से यदि व्यवस्था करवाता हूँ तो डॉक्टर देखने वाला नहीं। मेरे संपर्क के 10 लोग मर चुके हैं। इस 5 दिन में उत्तर प्रदेश सरकार आए दिन नए-नए नंबरों का लांच करती है।पेपर में समाचार पत्रों में और सोशल मीडिया में इसका प्रचार होता है परंतु इन नंबर से आप संपर्क करें तो न नंबर उठेगा और न ही कोई सही सलाह देगा। नंबर हमेशा इंगेज ही रहता है “। मंहत जयरामदास ने सरकार से ठोस कदम उठाने की माँग करते हुए कहा है कि सरकार को ज़मीनी स्तर पर काम करवाना चाहिए। सिर्फ़ हवा – हवाई में काम ना हो अन्यथा उत्तर प्रदेश के 10 प्रतिशत लोग मर जाएँगे और यही हालत रही तो शनिवार- रविवार को पूर्ण लॉक डाउन रहता है।तब क्या होगा? उन्होंने पूछा है कि मीडिया बंधु बता दें कि कितने जगह सेनेटाइज हुआ है,कितनी अस्पतालों की साफ़-सफा़ई हुई है। उन्होंने सुझाव दिया है कि सरकार को अपने सारे विभागों के कर्मचारियों को उतारना चाहिए शनिवार – रविवार सैनिटाइज अभियान में।ऐसा हो नहीं सकता कोरोना खत्म नहीं होगा।
उन्होंने कहा कि जिस डॉक्टर या जिस अधिकारी पर आप दबाव बनाइए वह डॉक्टर एवं अधिकारी अपने आपको कोरोना पॉजिटिव बताकर हॉउस करंटाइम हो जाते हैं।

इसे भी पढ़े  निःशुल्क नेत्र चिकित्सा शिविर में 201 मरीजों का हुआ मोतियाबिन्द आपरेशन

उन्होंने सवाल किया कि इनकी जाँच करने वाला कौन है? सरकार के प्रतिनिधि ,विधायक, सांसद महापौर तो खुद इस कोरोना महा आपदा काल में पूर्ण कालीन अपने आपको अलग कर चुके हैं समाज से ।
अधिकारी मरे जा रहे हैं,विधायक मरे जा रहे हैं ,नेता – मंत्री मरे जा रहे हैं , समाजसेवी एवं विशिष्ट लोग कोरोना की वजह से मरते जा रहे हैं परंतु सरकार सजग नहीं हो रही है ।यदि मैं कुछ बोलता हूँ तो बोलते हैं सरकार के खि़लाफ़ बोल रहे हैं ।उन्होंने कहा वे कब तक कब तक झूठी प्रशंसा करते रहें ? उन्होंने मीडिया बंधुओं से आग्रह है कि वे निःसंकोच सही को सही ग़लत को ग़लत दिखाएँ आपने कर्तव्य से पीछे ना हटें।उन्होंने कहा कि मीडिया बंधु जिस तरह से आसाराम जी के पीछे पड़ के उनको गर्त में मिला दिया काश यदि उसी तरह से सभी अस्पतालों में जाकर मुआइना कर सही आँकड़े समाज को दिखाएँ तो मुझे लगता है सरकार पूर्ण एक्शन में आ जाएगी और 1 सप्ताह में सारी व्यवस्थाएं चौकस हो जाएँगी।अधिकारी फो़न उठाने लगेंगे ।इंगेज नंबर पर कॉल जाने लगेगा। अस्पतालों का बेड भी मिलने लगेगा। ऑक्सीजन भी मिलने लगेगा और डॉक्टर भी मिलेंगे सारे काम होने लगेंगे परंतु जब मीडिया बंधुओं का मुँह दबाया जाएगा सही बोलने वालों को मुँहबंद किया जाएगा तब तो वहीं होगा जो सरकार या सरकारी अधीनस्थ तानाशाही कर्मचारी करना चाहते हैं वही करेंगे वही देखेंगे वही दिखाएंगे।

Advertisements

Comments are closed.