The news is by your side.

नदी के कटान से गांवो को बचाने का कार्य नहीं हुआ पूरा

-बोरियों में बालू के जगह मिट्टी भरकर ही डाली गई

बाराबंकी। सरयू नदी के कटान से गांवो को बचाने के लिए कराये जा रहे कार्य पूरा नहीं हो सके। जबकि मंत्री ने 31 मई तक कार्य पूरा कराने के निर्देश दिए थे उन्होंने कहा था कि अगर 31मई तक कार्य पूर्ण नहीं हुआ तो संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
घाघरा सरयू नदी मे हाता पंसारा, गोबरहा,कहारन पुरवा, तेलवारी गांवों को कटान से बचाने के लिए परक्यून पाइप लगाकर नदी की धारा को मोड़ने का कार्य कराया जा रहा है। यहां पर कराए जा रहे कार्य में बड़े पैमाने पर मानकों की अनदेखी की गई है ।

Advertisements

बोरियों में बालू के जगह मिट्टी भरकर ही डाली गई है। जो कटान के समय में ग्रामीणों को भारी पड़ सकती है। इन जगहों पर कराए जा रहे कार्यो की अनियमितता मंत्री के सामने भी उजागर हो चुकी हैं। लेकिन अभी तक संबंधित के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं हुई है।बीते 18 मई को जल शक्ति मंत्री ने हाता पंसारा, गोबरहा,कहारन पुरवा, तेलवारी गांवों का निरीक्षण किया था। निरीक्षण के दौरान मंत्री को सभी जगह तमाम खामियां मिली थी। गोबरहा में बोरियों में बालू की जगह मिट्टी देखी थी जिस पर उन्होंने संबंधित कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई के साथ साथ 31 मई तक कार्य पूरा कराने का निर्देश दिया था। लेकिन समय सीमा बीत जाने के बाद भी किसी भी स्थान पर कार्य पूरा नहीं हो सका है।

बाढ खंड के अवर अभियंता अंकित सिंह का कहना है कि अधिकांश काम पूरा कर लिया गया है। जल्द ही सभी कार्य पूरे हो जाएंगे।

Advertisements

Comments are closed.