The news is by your side.

सगे बड़े भाई ने ही की थी किशोर की जंगल में हत्या

-पुलिस ने हत्यारोपी को हथौड़े के साथ किया गिरफ्तार, गांव की ही एक युवती से प्रेम प्रसंग बना हत्या का कारण

अयोध्या।  थाना बाबा बाजार के बनमऊ गांव निवासी किशोर की जंगल में हत्या उसके सगे बड़े  भाई ने ही हथौड़े से प्रहार कर की थी। शनिवार को पुलिस ने आरोपी भाई को गिरफ्तार कर हत्या की घटना का खुलासा किया है।
शनिवार को पुलिस लाइन सभागार में आयोजित प्रेसवार्ता में एसपी ग्रामीण अतुल कुमार सोनकर ने बताया कि 26 दिसंबर को सुबह थाना क्षेत्र के बनमऊ जंगल में 14 वर्षीय सुभाष पुत्र राम मूरत का रक्तरंजित शव मिला था। प्रकरण में अज्ञात के खिलाफ हत्या की धारा में केस पंजीकृत कराया गया था।

Advertisements

एसएसपी ने मौका मुआयना कर वारदात के पर्दाफाश के लिए सीओ रुदौली आशुतोष मिश्र के नेतृत्व में थाना प्रभारी संतोष कुमार सिंह व एसओजी प्रभारी मो. अरशद की टीम लगाई थी। घटना के 12वें दिन शनिवार सुबह 8ः20 बजे संयुक्त टीम ने मृतक के सगे भाई 19 वर्षीय विकास साहू को प्राथमिक विद्यालय बनमऊ के पास से गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में विकास का कहना है कि उसका गांव की ही एक युवती से दो साल से प्रेम प्रसंग चल रहा है। गांव के निकट जंगल में वह दोनों आपत्तिजनक हाल में थे, इसी दौरान भैंस बांधने जा रहे छोटे भाई सुभाष ने देख लिया और सब को बता देने की धमकी दी।

लाख समझाने-बुझाने के बाद नहीं माना तो सुभाष को बाडबंदी के लिए बड़े जंगल से लकड़ी लाने भेज घर वापस आया और हथौड़ा लेकर मौके पर पहुंचा। भाई सुभाष को लकड़ी लादने के लिए जैकेट उतार कंधे पर रखने को कहा जैसे ही उसने ऐसा किया तभी पीछे से सिर पर हथौड़े से वार कर दिया। जमीन पर नीचे गिरने के बाद तीन-चार वार कर हत्या कर दी और हथौड़े को नाले के कीचड़ में दबा दिया।

इसे भी पढ़े  पिताश्री सम्मान से सम्मानित हुए हरिकृष्ण अरोड़ा व डा. जावेद अख्तर

उन्होंने बताया कि पुलिस ने आलाकत्ल हथौड़ा और वारदात में पहना हुआ जैकेट बरामद किया है। आरोपी का चालान किया जा रहा है। अभियुक्त को गिरफ्तार करने वालों में प्रभारी स्वाट टीम निरीक्षक मोहम्मद अरशद, सर्विलांस सेल प्रभारी उ.नि. अमरेश कुमार त्रिपाठी, थानाध्यक्ष संतोष कुमार सिंह, एसआई रामचेत यादव, हे.का. देवाशीष सिंह, का. अश्वनी राय, अंकित राय, अजीत गुप्ता , सचिन शर्मा, ऋषि छौकर, शिवम यादव, सौरभ सिंह, जय सिंह यादव, शरदबीर सिंह, दयानन्द यादव व आकाश कुमार शामिल थे।

Advertisements

Comments are closed.