The news is by your side.

आग से जलता अन्नदाताओं का दिल

एक माह में सैकड़ो बीघे गेंहू फसल आग की चढ़ गयी भेंट

रुदौली।बाढ़ के कहर से किसानों की रीढ़ तो टूटती ही है। आग भी हर साल अन्नदाताओं को बर्बाद करता है। पिछले एक माह सैकडो बीघे गेंहू फसल आग की भेंट चढ़ गई। यह तो आंकड़ों में हैं, मगर इससे इतर तहसील क्षेत्र में लगे सैकड़ों एकड़ फसल में आग का कहीं लेखा-जोखा नहीं है।
ऐसा नही है कि विभाग इन हादसों से अनजान है प्रत्येक वर्ष तहसील क्षेत्र में केवल बिजली की शार्ट सर्किट से आग लगने से सैकड़ों बीघा फसल आग कि भेंट चढ़ जाती है। लेकिन बिजली विभाग इन जर्जर लाइनों व झूलते बिजली के तारों को दुरुस्त कराने की जरूरत नही समझता।और न ही जिम्मेदारों द्वारा कोई पहल की जाती है जिसका खामियाजा खून पसीने तैयार फसल तैयार कर अन्नदाता को भुगतना पड़ता है।
ग्रामीणों की माने तो क्षेत्र में अंग्रेजों के जमाने की बनी बिजली की लाइन के तार,क्रास आर्म व इंसुलेटर बदले न जाने से वह काफी जर्जर व कमजोर हो गये हैं। वहीं कई गांवों में एलटी लाइन के तार ढीले होकर काफी नीचे तक झूल रहे हैं।जो तेज हवा चलने पर आपस में टकरा जाते हैं।जिसके कारण शार्ट सर्किट होने से निकली चिंगारी से फसलें राख हो जाती है।जनहानि के साथ मवेशी झुलस जाते हैं।लेकिन बिजली महकमा की सेहत पर इसका कोई असर नही होता।क्षेत्र के सैमसी व कछौली आदि गांवों में तो पोल के अभाव में बांस के सहारे एलटी लाइन के तार दौड़ाकर आपूर्ति दी जा रही है।
क्षेत्र में बिजली की शार्ट सर्किट से एक माह में दर्जन किसानों की फसलें जलने से लाखों का नुकसान हो चुका है।लेकिन बावजूद इसके बिजली विभाग के अधिकारी चेत नही रहें हैं।रुदौली नगर के वजीर गंज मोहल्ला निवासी सुरेश चन्द्र लोधी का विद्युत शार्ट सर्किट से बीते 14 अप्रैल को आग लग जाने से तीन बीघा गेंहू जलकर राख हो गया ।किसान सुरेश ने बताया कि प्रत्येक वर्ष मेरी फसलों का नुकसान बिजली की शार्ट सर्किट होता है ।फिर भी जिम्मेदार शिकायत के बावजूद कोई ठोस कदम नही उठाते ।वही 13 अप्रैल को मवई ब्लॉक क्षेत्र के चन्द्रामऊ मंगा गांव में बिजली की शार्ट सर्किट से किसानों की लगभग 40 बीघा गेंहू की फसल जलकर राख हो गई।बैसन पुरवा मजरे कसारी गांव में बिजली की शार्ट सर्किट से 8 बीघा गेंहू की फसल जलकर राख हो गई।खरिका मजरे सैदपुर गांव में एक पखवारे पूर्व शार्ट सर्किट से 6 बीघा फसल जल गई।कामाख्या भवानी मेले में बिजली की शार्ट सर्किट से दो दुकानें आग की भेंट चढ़ गई।
इस बाबत एसडीओ रुदौली जहां जहाँ ट्रांसफार्मर खेतो में लगें है वही फ्यूज जब कट जाता है तब चिंगारी निकलती है और पकी फसल में आग का रूप धारण कर लेती है ।विभाग के कर्मचारियों की भरपूर कोशिश रहती है की कही भी फाल्ट न होने पाए । तहसील क्षेत्र के गुमान पुरवा मजरे सैदपुर में शुक्रवार की दोपहर अज्ञात कारणों से गेंहू की खड़ी फसल में आग लग गयी, देखते ही देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया।जबतक लोगों को इसकी भनक लगती तब तक फसल जलकर नष्ट हो गई थी । शुक्रवार को गुमान पुरवा मजरे सैदपुर के शारदा प्रसाद पुत्र माताफेर,राधेश्याम पुत्र माताफेर,अमृतलाल पुत्र माताफेर की एक-एक बीघे की फसल और हरीश कुमार पुत्र माताफेर का तीन बीघे की गेंहू की फसल जलकर राख हो गई। हल्का लेखपाल राम धीरज कुशवाहा ने बताया कि आग लगने के कारण का पता नही चल पाया है, अग्निकांड में हुए नुकसान का आकलन किया जा रहा है ।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.