in ,

बारह लाख दीयों से जगमग हुई राम की नगरी

-राम की पैड़ी पर 9 लाख, राम मंदिर में 51 हजार व बाकी हिस्सों में 2.5 लाख जलाए गए दिए

अयोध्या।रामनगरी अयोध्या के पांचवे दीपोत्सव में बुधवार को रामपैड़ी के 32 घाटों पर 9 लाख और राम मंदिर में 51 हजार व बाकी हिस्सों में 2.5 लाख जलाए गए दिए। दीयों की गिनती के लिए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम भी पहुंची। दीपोत्सव में शिरकत करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि समाज बांटने वालों के साथ नहीं, एकता में पिरोने वालों का सहयोग करें। सरयू घाट पर दीपोत्सव कार्यक्रम में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज हमने 9 लाख दीप राम की पैड़ी और 3 लाख दीप अयोध्या के मठ और मंदिरों में जगमगाए हैं। इससे भी बड़ी संख्या में दीप जगह-जगह जले हैं। अयोध्या अब एक नई सांस्कृतिक नगरी के रूप में दुनिया के अंदर छानी चाहिए। दुनिया की कोई ताकत 2023 तक अयोध्या में भगवान राम के भव्य मंदिर के निर्माण को नहीं रोक सकती।

बारह लाख दीयों को जलाने के लिए 36 हजार लीटर सरसों के तेल का इस्तेमाल हुआ। इसमें राम की पैड़ी पर 9 लाख और अयोध्या के बाकी हिस्सों में 3 लाख दीपक प्रज्घ्जवलित किए गए। वहीं, रामजन्म भूमि परिसर में 51 हजार दीए जलाए गए। इस बार दीयों की गिनती के लिए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम भी पहुंची थी। 32 टीमों ने मिलकर 12 लाख दीयों को जलाया। वहीं खूबसूरती को मात दे रही इलेक्ट्रिक झालरों की सजावट को लोग देखते ही रहे। सरयू घाट, रामपैड़ी से लेकर हनुमानगढी, कनकभवन, कारसेवकपुरम की अनुपम छटा अतुलनीय रही। श्रद्धालुओं का जोश ही था कि हर ओर जय श्रीराम के नारे लगते रहे।

अगली कारसेवा में नहीं चलेगी गोली, होगी रामभक्तों पर पुष्प वर्षा : योगी आदित्यनाथ

अयोध्या। सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में आयोजित दीपोत्सव कार्यक्रम में विभिन्न परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया। इस अवसर पर केन्द्रीय पर्यटन व संस्कृति मंत्री जी किशन रेड्डी, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह मौजूद रहे। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि पांच वर्ष पहले अयोध्या में दीपोत्सव की चर्चा सामने आई थी, तो अयोध्या में ही आज के दिन ये आयोजन नहीं हो रहा था। हमारी सरकार ने तय किया कि अगर अयोध्या को उसकी नई पहचान दीपोत्सव कार्यक्रम से माध्यम से दिलवानी है।

इस दौरान सीएम योगी ने ने कहा कि मुझे याद है कि 2017, 2018, 2019 में भी एक ही नारा गूंज रहा था ’योगी जी एक काम करो, मंदिर का निर्माण करो। मैं तब भी कह रहा था कि मंदिर निर्माण के लिए आधारशिला तैयार की जा रही है। उन्होंने कहा कि 31 साल पहले अयोध्या में क्या हो रहा था ? 30 अक्टूबर और 2 नवंबर 1990 को रामभक्तों पर बर्बर तरीके से गोलियां चलाई गईं थीं। बर्बर लाठीचार्ज हो रहा था। तब जय श्रीराम बोलना अपराध माना जा रहा था। मुख्यमंत्री ने कहा कि जो लोग 31 साल पहले रामभक्तों पर गोलियां चला रहे थे, वो आपकी ताकत के आगे झुके हैं। अब लगता है कि अगर कुछ और वर्ष आप इसी तरीके से ले चले, तो अगली कारसेवा के लिए वो और उनका पूरा खानदान लाइन में लगा होगा। उन्होंने आगे कहा कि आप देखना कि अगर अगली कारसेवा होगी, तो गोली नहीं चलेगी। रामभक्तों व कृष्णभक्तों पर पुष्पों की वर्षा होगी।

होली तक गरीबों को मिलेगा खाद्यान्न

-मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में आयोजित दीपोत्सव कार्यक्रम के पहले अपने संबोधन में बड़ी घोषणा की है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के कारण प्रदेश की जनता को दिया जा रहा खाद्यान्न अब होली तक वितरित किया जाएगा। वहीं, अंत्योदय कार्ड धारकों को खाद्यान्न के साथ दाल, नमक, तेल व चीनी भी दी जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना महामारी के कारण गरीबों को प्रधानमंत्री खाद्यान्न योजना के तहत दिवाली तक अन्न वितरित करने का एलान किया था पर अब इस योजना को होली तक चलाया जाएगा। इससे प्रदेश के 15 करोड़ लोग लाभांवित होंगे। दरअसल, लगातार बढ़ रही पेट्रोल-डीजल की कीमतों के कारण आवश्यक वस्तुओं के दाम भी बढ़ रहे हैं जिसे देखते हुए योगी सरकार ने ये घोषणा की है। इससे प्रदेश की गरीब जनता को बड़ी राहत मिलेगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आज पूरा देश कोरोना जैसी भयंकर बीमारी से लड़ रहा है और इस दौरान गरीबों का भी पूरा ख्याल रखा गया है। पूरे प्रदेश के 15 करोड़ गरीबों को प्रधानमंत्री खाद्यान्न योजना के तहत अन्न का वितरण किया जा रहा है।

इसे भी पढ़े  रामनगरी में अब पिंक ई-रिक्शा चलाती नजर आएंगी महिलाएं

What do you think?

Written by Next Khabar Team

 दिव्यदीपोत्सव-2021′ पर विशेष डाक आवरण मुख्यमंत्री ने किया जारी

ट्रेन की चपेट में आने से पति-पत्नी व दो बच्चों की मौत