The news is by your side.

ओवरलोड मिट्टी लदे डंपर ने स्कूटी सवार रिटायर्ड शिक्षक को रौंदा, मौत

\घटना के बाद गुस्साए ग्रामीणों ने सड़क जाम कर घंटो किया प्रदर्शन

मिल्कीपुर । इनायत नगर थाना क्षेत्र के मिल्कीपुर बाजार तिराहे पर फोरलेन सड़क निर्माण कार्य में लगे तेज रफ्तार डंपर ने स्कूटी सवार रिटायर्ड शिक्षक को जोरदार टक्कर मारी और सिर को रौंदता हुआ मौके से भाग निकला जिसके चलते स्कूटी सवार सेवानिवृत्त शिक्षक की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई।

Advertisements

घटना की जानकारी पाकर सैकड़ों की संख्या में मौके पर पहुंचे ग्रामीणों एवं व्यापारियों ने अयोध्या फैजाबाद रायबरेली राष्ट्रीय राजमार्ग जाम कर दिया और धरने पर बैठ गए। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंचे पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी नाराज व उग्र लोगों के मान मनौव्वल में जुट गए। पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों की कड़ी मशक्कत के 3 घंटे बाद रोड जाम खुल सका और यातायात बहाल हो सका। प्राप्त जानकारी के मुताबिक इनायत नगर थाना क्षेत्र के बसावा पूरे बनई तिवारी निवासी मिल्कीपुर भाजपा मंडल अध्यक्ष अजय कुमार तिवारी के सेवानिवृत्त शिक्षक पिता हृदय राम तिवारी उम्र करीब 67 वर्ष मंगलवार को सुबह मिल्कीपुर प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक राकेश कुमार सिंह से मिलने गए थे उनसे मिलने के उपरांत वे अपनी स्कूटी रजिस्ट्रेशन नंबर यूपी 42 ए एल 9683 से मिल्कीपुर तिराहे से होकर इनायतनगर की तरफ मुड़े ही थे कि कुमारगंज की ओर से फैजाबाद की तरफ ओवरलोड मिट्टी लादकर जा रहे तेज रफ्तार अनियंत्रित डंपर चालक ने रिटायर्ड शिक्षक की स्कूटी में जोरदार टक्कर मार दिया जिससे वह सड़क पर जा गिरे और डंपर का चक्का सिर को रौंदता हुआ आगे निकल गया डंपर चालक हादसे के बाद डंपर लेकर मौके से भाग निकला।

इसे भी पढ़े  सुनील यादव फार्मेसिस्ट फेडरेशन के अध्यक्ष व अशोक बने महामंत्री

उधर घटना की जानकारी मिलते ही दर्जनों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी सहित आसपास के ग्रामीण और बाजार के व्यापारी मौके पर पहुंच गए। मौके पर पहुंचे लोगों ने अयोध्या रायबरेली राष्ट्रीय राजमार्ग जाम कर दिया और धरने पर बैठ गए। सूचना पाकर इनायत नगर थाने के प्रभारी निरीक्षक नीरज सिंह भारी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और नाराज तथा उग्र लोगों को समझाने बुझाने में जुट गए, किंतु आक्रोशित लोग सड़क निर्माण कार्य में लगी पीएनसी कंपनी के जिम्मेदार अधिकारियों को मौके पर तलब करने और कंपनी के जिम्मेदार अधिकारियों सहित डंपर चालक के विरुद्ध मुकदमा लिखे जाने सहित राष्ट्रीय राजमार्ग को जोड़ने वाले संपर्क मार्गो सहित राजमार्गों पर ढलान निर्माण कराए जाने की मांग पर अड़े रहे। सूचना मिलते ही एसडीएम अमित कुमार जायसवाल, सीओ आशुतोष मिश्रा भी मौके पर पहुंच गए।

प्रभारी निरीक्षक नीरज सिंह के साथ दोनों प्रशासनिक अधिकारी भी आक्रोशित लोगों को समझाने बुझाने में जुटे रहे 3 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आक्रोशित लोग शांत हुए और एंबुलेंस से मृतक रिटायर्ड शिक्षक का शव सीएचसी मिल्कीपुर ले जाया गया। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पंचायत नामा कराने के उपरांत पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। प्रभारी निरीक्षक नीरज सिंह ने बताया कि मामले में अभी कोई तहरीर नहीं मिली है, तहरीर मिलते ही मुकदमा दर्ज कर विधिक कार्यवाही की जाएगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे जो भी संपर्क मार्ग सड़क से नीचे हो गए हैं, उन पर ढलान बनवाए जाने का भी काम सड़क निर्माण में लगी पीएनसी कंपनी से कराया जाएगा।

इसे भी पढ़े  दुकान कब्जे को लेकर साधुओं ने व्यापारी भाईयों को किया मरणासन्न

पीएमसी कंपनी की लापरवाही से हो चुके कई हादसे

– अयोध्या रायबरेली राष्ट्रीय राजमार्ग 330 ए के निर्माण कार्य में लगी पीएनसी कंपनी की लापरवाही के चलते अब तक दर्जनों हादसे हो चुके हैं। क्षेत्रवासी लोग आए दिन उक्त कंपनी के कर्मियों की लापरवाही के शिकार हो रहे हैं। बताते चलें कि जिले की सीमा स्थित राजस्व गांव इटौंजा में उदासीन आश्रम रानोपाली अयोध्या की भूमि स्थित है। सड़क निर्माण कार्य में लगी पीएनसी कंपनी द्वारा आश्रम की पचासों बीघे जमीन को 10 से 10 फीट गहरा खोदकर मिट्टी ओवरलोड डंपर से फैजाबाद तक ले जाए जा रही है। डंपर चालकों का आलम यह है कि ओवरलोड मिट्टी लोड कर बेहिसाब स्पीड से रात दिन मिट्टी ढुलाई का कार्य कर रहे। डंपर चालकों की लापरवाही के चलते 1 दर्जन से अधिक लोग हादसों का शिकार हो चुके हैं और उनकी मौत भी हो चुकी है। इससे भी ना तो कंपनी ने सबक लिया और न ही पुलिस तथा प्रशासनिक अधिकारियों ने।

जिसका परिणाम रहा कि आज तक निर्माण कार्य में लगी कंपनी के जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कोई कार्यवाही तक नहीं हो सकी है। सड़क निर्माण कार्य में लगी कंपनी पीएनसी के द्वारा इतनी बड़ी अनियमितता की गई है कि गांव एवं तहसील क्षेत्र की प्रमुख बाजारों को जोड़ने वाले राजमार्गों ढलान भी नहीं बनाया गया और राष्ट्रीय राजमार्ग संपर्क मार्गो से करीब 2 से 3 मीटर ऊंचा हो गया है। जिसके चलते मुख्य मार्ग पर पहुंचने में लोगों के वाहनों के आगे बंपर तक आए दिन टूट रहे हैं तथा अधिकांश वाहन और बाइक सवार तो पलट कर हादसों का शिकार हो रहे हैं। सड़क निर्माण कार्य में लगे कर्मियों से शिकायत करने के बाद वह क्षेत्रवासी लोगों से आमादा फौजदारी हो जाते हैं यही नहीं पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारी भी लोगों की शिकायतों को बिल्कुल अनसुना कर रहे हैं, जिसके चलते निरंतर हादसे हो रहे हैं

Advertisements

Comments are closed.