सीएम योगी आदित्यनाथ से मिले अयोध्या के संत महंत

    25 जून को अयोध्या में सरयू मोहत्व की मुख्यमंत्री करेंगे शुरूवात
    अयोध्या के ऐतिहासिक कुंडो के विकास के लिए मुख्यमंत्री ने 2 करोड़ 72 लाख रुपये स्वीकृत

    Advertisement


    फैजाबाद। अयोध्या को पयर्टन नगरी के रुप में विकसित करने के प्रस्तावों को लेकर 22 संतो के प्रतिनिधिमंडल ने अयोध्या विधायक वेद प्रकाश गुप्ता के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से लखनऊ में गुरुवार को मुलाकात की। विधायक वेद प्रकाश गुप्ता ने बताया कि अयोध्या में भव्य सरयू महोत्सव मनाया जायेगा। 25 जून को इसकी शुरुवात मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे। सरकार ने इसके लिए 10 लाख रुपये स्वीकृत किये है। सर्किट हाउस में प्रेस वार्ता में उन्होने बताया कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद ही राममंदिर का निर्माण हो सकता है। परन्तु इससे पहले अयोध्या को विश्व के पयर्टन मानचित्र पर लाने प्रयास किया जायेगा। इसके लिए मुख्यमंत्री के समक्ष संतो की तरफ से कई प्रस्ताव प्रस्तुत किये गये। जिसको मुख्यमंत्री ने स्वीकार करते हुए इसके क्रियान्वयन के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया गया।
    अयोध्या विधायक वेद प्रकाश गुप्ता ने बताया कि अयोध्या के विकास के लिए संत महंतो ने मुख्यमंत्री के सामने पांच मांगे रखी जिसे उन्होंने तत्काल मानते हुए सम्बंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निदेश दिया। उन्होंने बताया कि संत महंतो ने सरयू नदी को नाला विहीन करने की मांग किया तो मुख्यमंत्री ने सिंचाई विभाग, पीडब्लूडी और पर्यटक सचिव को निर्देश दिया कि नालों को डायवर्ट कर दिया जाय और किसी भी हालत में नाला का गंदा पानी सरयू नदी में न गिये। उन्होंने यह भी निर्देशित किया कि नाला के गंदा पानी को सिंचाई के काम मे लाने के लिए व्यवस्था की जाय। राम की पैड़ी की समस्या उठाये जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि वहां अविरल जल प्रवाह पर कार्य तेजी से किया जा रहा है शीघ्र ही राम की पैड़ी एक नये रूप में दिखाई पड़ेगी। संत महंतो ने घाघरा नदी का नाम सरकारी अभिलेखों में दर्ज होने की तरफ ध्यान दिलाया और घाघरा का नाम बदलकर सरयू किये जाने की मांग रखी तो मुख्यमंत्री ने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि सरकारी अभिलेखों में सरयू (घाघरा) दर्शाया जाय। उन्होंने सरयू तट पर स्थित घाटों से नुकीले पत्थर हटवाकर जंजीर लगवाने का भी आदेश दे संत महंतो की मांग को स्वीकार किया। नदी में आये दिन डूबने से हो रही मौतों की तरफ ध्यान दिलाये जाने पर उन्होंने जल पुलिस, मोटर बोट आदि की व्यवस्था भी कराने निर्देश मौके पर मौजूद अधिकारियों को दिया।
    संत महंतो ने 26, 27 व 28 जून को सरयू जयंती पर सरयू महोत्सव के आयोजन में शामिल होने और सरकारी मान्यता दिये जाने की मांग मुख्यमंत्री से किया मुख्यमंत्री ने तत्काल सरयू महोत्सव के लिए 10 लाख रूपये की सहायता स्वीकृत किया तथा महोत्सव का उद्घाटन करने की हामी जतायी। उन्होंने बताया कि महंत नृत्यगोपालदास का जन्मोत्सव छोटी छावनी में 25 जून को मनाया जायेगा इस मौके पर वह अयोध्या आयेंगे और 25 जून को अपरान्ह 3 बजे जयंती समारोह का उद्घाटन व सांय 5 बजे सरयू महोत्सव का उद्घाटन करेंगे।
    उन्होने बताया कि अयोध्या के ऐतिहासिक कंुडो के विकास के लिए मुख्यमंत्री ने 2 करोड़ 72 लाख रुपये स्वीकृत किये है। जिसमें ब्रहमकुंड के लिए 20 लाख, दशरथ कुंड हेतु 85 लाख, खजुआ कुंड के लिए 65 लाख, गिरजा कुंड के लिए 15 लाख, सीता कुंड के लिए 15 लाख, दंतधावन कुंड के 20 लाख तथा वैतरणी कुंड के लिए 35 लाख सेंशन किया गया है। उन्होने बताया कि सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पूराबाजार, गोसाईगंज, सोहावल, बीकापुर, मिल्कीपुर, रुदैली, मवई में 28 नये उपकरण के क्रय हेतु 14.32 लाख, जिला चिकित्सालय फैजाबाद में सेट्रल मेडिकल गैस पाईप लाईन व बायोमेडिकल वेस्ट मैनेजमेंट एवं स्टरलाईजेशन हेतु 794.72 लाख के सापेक्ष 397.36 लाख आवंटित, श्रीराम चिकित्सालय में सेंट्रल गैस पाईप लाईन हेतु 330.32 लाख के सापेक्ष 165.11 लाख आवंटित, 100 शैया संयुक्त चिकित्सालय कुमारगंज में सेट्रल मेडिकल गैस पाइप लाईन की स्थापना व बायोमेडिकल वेस्ट मैनेजमेंट एवं स्टराईजेशन हेतु 456.12 लाख के सापेक्ष 228.06 लाख आवंटित तथा जिला चिकित्सालय में मैकेनाइज्ड लाण्डरी की स्थापना के लिए 274.78 लाख की घोषणा की गयी। पत्रकार वार्ता के दौरान प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य अभिषेक मिश्रा, हरभजन गौड़, दिवाकर सिंह, हरीश श्रीवास्तव, अमल गुप्ता, दिनेश मिश्रा मौजूद थे।