The news is by your side.

कृषि कानून के विरोध में रालोद कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन

अयोध्या। लोकसभा में लाए गये तीन कृषि कानूनों के एक वर्ष पूरा होने के अवसर पर युवा रालोद जिला अध्यक्ष रामशंकर वर्मा के नेतृत्व में रालोद पदाधिकारीयों, कार्यकर्ताओं, किसानों द्वारा कृषि बिल की प्रतियों को मसौधा में जलाने का कार्यक्रम था रालोद कार्यकर्ताओं द्वारा कृषि बिल जलाने का प्रयास किया गया लेकिन भारी पुलिस बल मौजूद होने के कारण कृषि बिल की प्रतियाँ नहीं जल पाईं जिसके बाद रालोद कर्यकर्ताओ ने मसौधा बाजार में रणीसती मंदिर के सामने फैजाबाद प्रयागराज राष्ट्रीय राजमार्ग पर धरना देकर राष्ट्रपति को संबोधित पांच सूत्रीय ज्ञापन प्रदीप कुमार तहसीलदार सोहावल को सौंपा.

Advertisements

वहीं तहसील रूदौली के सामने जिला पंचायत सदस्य रालोद नेता वलराम यादव के नेतृत्व में रालोद कार्यकर्ताओ द्वारा कृषि बिल की प्रतियाँ जलाई गईं। इस मौके पर रालोद जिला अध्यक्ष चौधरी रामसिंह पटेल ने बताया कि कृषि बिल वापस कराने, डीजल, पेट्रोल, रसोई गैस के बढे मूल्य वापस कराने, कृषि ऋण माफ कराने, उर्वरक का मूल्य कम कराने तथा किसान सम्मान निधि पाँच हजार रुपये महीना कराने को लेकर पाँच सूत्रीय मांग पत्र राष्ट्रपति को संबोधित तहसीलदार सोहावल को सौंपा गया है.

वहीं युवा रालोद जिला अध्यक्ष रामशंकर वर्मा ने पुलिस प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा जहाँ पुलिस की आवश्यकता होती है वहाँ बाबा जी की पुलिस समय से नहीं पहुंचती चोरी, छिनैती, हत्या, बलात्कार जैसी घटनाएं आए दिन हो रही है जिसको रोकने के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस बिल्कुल फेल है और जैसे इन्हें मालूम होता है कि कहीं दस किसान बैठे हैं तो वहाँ बहुत जल्दी भारी संख्या में पहुंच जाते हैं जैसे वहाँ कोई उग्रवादी संगठन बैठा है पुलिस को सरकार की इस दमनकारी नीतियों का सहयोग नहीं करना चाहिए।

इसे भी पढ़े  पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की मनी 33वीं पुण्यतिथि

धरने को अपना दल(ब) प्रमुख धर्मराज पटेल, किसान समन्वय समिति के संयोजक मायाराम वर्मा, रालोद दलित प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष बेचूलाल ज्ञान, जिला उपाध्यक्ष नेतराम वर्मा, जिला उपाध्यक्ष राजेश तिवारी ने भी संबोधित किया इस मौके पर संतोष दुबे, बबलू यादव, करियाराम वर्मा, बब्बन तिवारी, सुरजीत वर्मा, अवधेश रावत, राम सजीवन रावत, अनिल गुप्ता, सीताराम वर्मा, वहीं रूदौली में हरिश्चंद्र यादव, जयप्रकाश यादव, शकील अहमद आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

Advertisements

Comments are closed.