The news is by your side.

मुख्यमंत्री डैशबोर्ड के माध्यम से हुई विकास कार्यों की समीक्षा बैठक

– मुख्यमंत्री डैशबोर्ड पर सभी विभाग डाटा फीडिंग का कार्य शत प्रतिशत त्रुटिरहित करायें : मण्डलायुक्त गौरव दयाल

अयोध्या। मण्डलायुक्त की अध्यक्षता में विकास कार्यों की मण्डलीय समीक्षा बैठक उ0प्र0 मुख्यमंत्री डैशबोर्ड के माध्यम से आयुक्त सभागार में आयोजित की गयी। जिसमें जिलाधिकारी अयोध्या नितीश कुमार, जिलाधिकारी अमेठी राकेश कुमार मिश्र, बाराबंकी सत्येन्द्र कुमार, सुल्तानपुर श्रीमती कृत्तिका ज्योत्सना,अम्बेडकरनगर  अविनाश सिंह सहित मण्डल के सभी जनपदों के मुख्य विकास अधिकारी एवं सभी जनपदों के मण्डलीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Advertisements

मण्डलायुक्त गौरव दयाल ने कहा कि राजस्व वादों का निस्तारण सभी पीठासीन अधिकारी तीव्र गति से करें एवं जिन वादों के सम्बंध में मण्डल से आख्यायें चाही गयी है उन सभी आख्याओं को जल्द से जल्द मण्डल स्तर पर प्रेषित करें तथा निर्वाचन आयोग के द्वारा जो विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों की निर्वाचक नामावलियों के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण अभियान जारी किया गया है उसमे सभी सम्बन्धित अधिकारीगण तत्परता के साथ कार्य कर अभियान को सफल बनायें।मण्डलायुक्त ने धान क्रय केन्द्रों पर आवश्यक कार्यवाही करने को कहा तथा आईजीआरएस पोर्टल पर प्राप्त हो रही विभिन्न प्रकार की शिकायती सन्दर्भो का निस्तारण गुणवत्ता के साथ स्थलीय निरीक्षण कर निस्तारित किया जाय।उन्होंने विद्युत विभाग के कार्यो की समीक्षा करते हुए विद्युत आपूर्ति की मॉनिटरिंग ग्रामीण क्षेत्रो में ग्राम स्तर पर तथा शहरी क्षेत्रो में वार्ड स्तर पर करते हुए विद्युत आपूर्ति रोस्टर के अनुसार सुनिश्चित करने के निर्देश दिए तथा खराब ट्रान्सफार्मरों को निर्धारित समय में बदलने के निर्देश दिये। मण्डल में लोक निर्माण विभाग के कार्यो की समीक्षा करते हुये उन्होंने कहा कि जो भी ग्रामीण सड़कों की मरम्मत की जाय उसकी गुणवत्ता बेहतर हो, गुणवत्ता से किसी भी प्रकार का समझौता न किया जाय तथा इसकी नियमित जांच भी करायी जाय।

इसे भी पढ़े  शिकारियों के डर से गायब हुए समदा में तैनात गार्ड

मण्डलायुक्त ने हाईवे तथा अन्य सड़कों के निराश्रित गौवंशों को अभियान चलाकर गौ-आश्रय स्थल पर ले जाने तथा गौ-आश्रय स्थल में सभी व्यवस्थायें सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। स्वास्थ्य विभाग के अन्तर्गत गोल्डन कार्ड की प्रगति की समीक्षा की तथा कहा कि आवश्यक दवाओं की उपलब्धता अस्पतालों में सुनिश्चित की जाय।मंडलायुक्त द्वारा समीक्षा बैठक में पंडित दीनदयाल स्ट्रीट लाइट योजना, विद्युत आपूर्ति ग्रामों का ऊर्जीकरण, कृषि विभाग, कृषि रक्षा रसायन, जल निगम, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य की प्रगति, सेतुओं का निर्माण, प्रधानमंत्री आवास योजना(ग्रामीण/शहरी), प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल, नई सड़कों का निर्माण, राज्यमार्गों का अनुरक्षण, महात्मा गाँधी राष्ट्रीय रोजगार गारण्टी योजना, सौभाग्य योजना आदि विभागों की योजनाओं का गहन समीक्षा कर आवश्यक दिशा निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। बैठक में मंडलायुक्त द्वारा सभी विभागों को निर्देशित किया गया कि उ0प्र0 मुख्यमंत्री डैशबोर्ड पर जिन-जिन विभागों का डाटा सही नहीं है वे सभी विभाग यथाशीघ्र अपना डाटा सही करा लें। उन्होंने कहा कि अगली बैठक से किसी भी विभाग का डाटा फीडिंग यदि सही नहीं पाया गया, तो कठोर कार्यवाही की जायेगी।उन्होंने विभागवार समीक्षा करते हुए सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि अपने-अपने विभाग की योजनाओं/कार्यों तथा जन कल्याणकारी कार्यक्रमों को पात्र व्यक्तियों तक प्रत्येक दशा में पहुंचाया जाये।बैठक में बिन्दुवार विवरण संयुक्त विकास आयुक्त श्री अरविन्द चन्द्र जैन ने प्रस्तुत किया।

बैठक के दौरान अपर आयुक्त प्रशासन अजयकांत सैनी ,मुख्य विकास अधिकारी अयोध्या श्रीमती अनिता यादव, बाराबंकी एकता सिंह, अम्बेडकर नगर अनुराग जैन, मुख्य अभियन्ता लोक निर्माण, सिंचाई, विद्युत, अधीक्षण अभियंतागण, वन संरक्षक, अपर निदेशक शिक्षा, संयुक्त निदेशक, उप निदेशक सूचना, उपनिदेशक अर्थ एवं संख्या सहित अन्य मण्डल स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

इसे भी पढ़े  31 मई से होंगी अवध विश्वविद्यालय की एनईपी सम सेमेस्टर परीक्षाएं

एक अन्य बैठक में राजस्व कार्यो की समीक्षा की गयी। आयुक्त  गौरव दयाल के निर्देश पर अपर आयुक्त प्रशासन  अजय कान्त सैनी द्वारा आज मण्डल के राजस्व विभाग के अधिकारियों के साथ राजस्व कार्यो की समीक्षा की गयी। इसमें अपर आयुक्त ने बताया कि 60 दिन का आगामी 05 दिसम्बर 2023 तक राजस्व वादों के निस्तारण सम्बंधी राजस्व परिषद/शासन के निर्देश पर अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान को नायब तहसीलदार के न्यायालय रजिस्टार से लेकर ऊपर तक के राजस्व विभाग के अधिकारियों को राजस्व सम्बंधी वादों के निस्तारण में तेजी लाना है। इस सम्बंध में राजस्व संहिता में दिये गये प्राविधानों का ध्यान रखते हुये धारा 24, 34, 45, 30 आदि पर जो राजस्व संहिता में समय सारिणी निश्चित की गयी है उसके सम्बंध में कार्यवाही किया जाय तथा राजस्व विभाग के पीठासीन अधिकारी नियमित न्यायालयों में बैठे। अपर आयुक्त ने यह भी कहा कि मा0 मुख्यमंत्री के डैस बोर्ड के माध्यम से विकास एवं प्राथमिकता के सभी कार्यो की समीक्षा हो रही है इसके सम्बंध में आनलाइन फीडिंग के सम्बंध में जिम्मेदार अधिकारी/नोडल अधिकारी आवश्यक कार्यवाही करें, जिससे मण्डल के पांचों जनपदों में अच्छा कार्य हो तथा मण्डल का सम्मानित स्थान मिल सकें। अपर आयुक्त द्वारा स्टाम ड्युटी, राजस्व वसूली, आबकारी, परिवहन, विद्युत वसूली, शासन से निर्धारित अन्य मानकों के अनुसार तेजी से कार्य करने के निर्देश दिये गये है।

अपर आयुक्त ने यह भी कहा कि राजस्व वादों के साथ साथ अन्य न्यायालय या उच्च न्यायालय में लम्बित वादों के निस्तारण के सम्बंध में प्रभावी पैरवी किया जाय। साथ ही साथ आई0जी0आर0एस0 पोर्टल के मांग/आवेदन पत्रों के निस्तारण में भी प्राथमिकता से कार्यो को किया जाय। इसमें किसी भी प्रकार से उदासीनता न बरती जाय इसकी प्रत्येक सप्ताह में समीक्षा भी किया जाय। इस सम्बंध में राजस्व परिषद द्वारा तथा अपर मुख्य सचिव राजस्व द्वारा भी विस्तृत निर्देश जारी किये गये है। आडिट आपत्तियों के अनुपालन आख्या भी भेजा जाय तथा विभागीय कार्यवाहियां जो लम्बित हो उसको गुणदोष के आधार पर जल्द से जल्द निस्तारण किया जाय।

इसे भी पढ़े  गाली देते हुए दरोगा का सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होते ही एसएसपी ने चौकी प्रभारी को किया संस्पेड

इस बैठक में पांचों जनपदों के अपर जिलाधिकारी/राजस्व अधिकारीगण, उपनिदेशक सूचना डा0 मुरलीधर सिंह, मण्डल के आर0टी0ओ0 श्रीमती ऋतु सिंह, खाद्य रसद, विद्युत, आबकारी, जीएसटी आदि विभागों के अधिकारियों के अलावा मण्डलीय कार्यालय के वरिष्ठ सहायक गण, पटल सहायक गण आदि उपस्थित थे।

Advertisements

Comments are closed.