The news is by your side.

खुलासा : प्रेमी ने दोस्तों के साथ मिलकर की थी युवती की हत्या

-पहले बेहोशी का लगाया इंजेक्शन उसके बाद दबा दिया गला

अयोध्या। प्रेमिका की शादी तय होना प्रेमी के लिए नागवार गुजरा। योजनाबद्ध तरीके से प्रेमिका की हत्या कर दी। पुलिस ने 3 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर रहस्यमय हालात से पर्दा उठा दिया। गुरूवार को को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शैलेश पांडेय ने प्रेसकांफ्रेस में वारदात का पर्दाफाश किया। एसएसपी ने बताया कि रूदौली कोतवाली क्षेत्र के युवती का 14 सितम्बर 21 को हत्या कर शव को मोहल्ला कायस्थाना में रोड के किनारे फेंक दिया। कोतवाली रूदौली थाने में 409/21 धारा 302/201 आईपीसी में दर्ज किया गया। घटना के अनावरण को पुलिस और सर्विलांस टीम लगा दी गई।

Advertisements

टीमों ने लगातार दबिश व साक्ष्य संकलित कर घटना में मो.अनस उर्फ मोनू, मो.हफीज और मुकेश कुमार यादव पुत्र रामचन्द्र यादव की संलिप्तता पाई। अभियुक्तों को प्रभारी निरीक्षक कोतवाली रूदौली विनोद बाबू मिश्रा के नेतृत्व पुलिस टीम ने मुखबिर की सूचना पर रौजागांव पुल के पास से गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की। पुलिस की पूछताछ में। अभियुक्त अनस और मृतका गायत्री की दोस्ती का खुलासा हुआ। मृतका के सभी खर्चों को मो.अनस वहन करता था। बाद में मृतका की शादी उसकी मर्जी से सत्यनारायण जो उड़ीसा का रहने वाला था से तय हो गई। लेकिन अभियुक्त अनस उसके प्यार में पागल था जो उसे किसी भी हाल में छोङना नही चाहता था। प्रेमी अनस ने उक्त दोनों अभियुक्तों के साथ योजना बनाई।

प्रेमिका गायत्री को डा अतहर अली के मलिक क्लिनिक पर बुलाया। जहां मुकेश कुमार यादव कम्पाउण्डर का काम करता था। मंगलवार दिन होने के कारण डा अतहर अली नही आते थे। वे लखनऊ में रहते हैं। प्रेमिका के पहुंचने पर मुकेश कुमार ने बेहोशी का इंजेक्शन लगा दिया।गायत्री के अचेत होने पर अनस अपने साथी मो. हफीज व मुकेश कुमार यादव के सहयोग से गला दबाकर मार डाला। हत्या दोपहर बाद करीब दो से तीन बजे के मध्य करने के बाद गायत्री के शव को क्लीनिक के कमरे में रखा गया। शाम होने का इन्तजार किया।

इसे भी पढ़े  31 मई से होंगी अविवि व सम्बद्ध महाविद्यालयों की सेमेस्टर परीक्षाएं

रूदौली कस्बे में शाम को 06.20 बजे से 07.00 बजे तक रोस्टर के कारण बिजली नहीं रहती थी। उसी समय अनस अपनी बुलेट UP42BC 5397 पर बीच में मृतका गायत्री को बैठाया। मुकेश कुमार यादव बुलेट पर पीछे बैठा था। मृतका गायत्री के शव को मोहल्ला कायस्थाना में रोड के किनारे फेक दिया। इस तरह से अनस नेअपने साथियो के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया। घटना के अनावरण में स्वाट प्रभार रतनशर्मा अपनी टीम के साथ मौजूद रहे। तथा सर्विलांस टीम के कांस्टेबल सौरभ सिंह व चन्द्रभान यादव भी मौजूद थे। एसएसपी ने बताया कि घटना के सफल अनावरण में स्वाट टीम व सर्विलांस टीम का महत्वपूर्ण योगदान रहा ।

Advertisements

Comments are closed.