The news is by your side.

21 किलोग्राम चांदी के झूले पर झूला झूलेंगे रामलला

-श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने बनवाया झूला

अयोध्या। रामनगरी अयोध्या में राम जन्मभूमि परिसर के अंदर रामलला के अस्थाई मंदिर में 498 वर्षों के बाद भगवान राम चांदी के झूले में सावन मास में झूला झूले जा रहे हैं। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने 21 किलो चांदी से भगवान श्रीराम का झूला बनवाया है। भगवान राम नाग पंचमी कल यानी13 अगस्त को चांदी के झूले में विराजएंगे और सावन पूर्णिमा तक रामलला चांदी के झूले में राम भक्तों को दर्शन देंगे।

Advertisements

रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास का कहना है की रामलला 13 अगस्त को नाग पंचमी के दिन झूले पर विराजेगे। आज यह झूला रामलला मंदिर में पहुंच जाएगा। उसके बाद कल सुबह रामलला झूलें में विराजेगें। यही नहीं रामलला को कजरी गीत भी सुनाई जाएगी। श्री रामजन्मभूमि परिसर में श्रावण मास के पंचमी तिथि से सावन झूला उत्सव का प्रारंभ हो रहा है जहां अयोध्या के सभी मठ मंदिर में भगवान को विशेष झूले पर भगवान के झूला झूलने की परंपरा है तो वही वर्षों से पूर्व टेंट में विराजमान रहे भगवान श्री रामलला को लकड़ी के झूले पर झूला झुलाए जाने अनुमति मिली थी लेकिन इस बार भगवान के भव्य मंदिर निर्माण शुरू हो चुका है। इसलिए अब सभी उत्सव को भव्यता के साथ मनाए जाने की तैयारी है। इसलिए इस बार राम मंदिर ट्रस्ट ने भगवान श्री रामलला के लिए चांदी का पलना तैयार हुआ है। जिसे श्रावण शुक्ल पक्ष पंचमी से झूले पर विराजमान कराया जाने के साथ उत्सव प्रारम्भ हैं और पूर्णिमा 22 अगस्त को समाप्त होगा।

Advertisements

Comments are closed.