The news is by your side.

राम मन्दिर निर्माण : नवग्रह पूजन कर गर्भगृह में स्थापित की गयी पूजित शिलाएं

-पीएम मोदी द्वारा पूजित शिलाएं, चांदी का कलश व अन्य धातु डाला गया नींव में

अयोध्या। जन्मभूमि परिसर में भव्य राम मंदिर का निर्माण कार्य धीरे धीरे बढ़ रहा है। सोमवार को गर्भगृह स्थल पर नवग्रह के पूजन के साथ 9 शिलाओं को भी स्थापित किया गया। पांच अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पूजित शिलाएं, चांदी की कलश व अन्य धातु को भी मन्दिर के नींव में डाला गया।

Advertisements

नवग्रह पूजन में संघ के सह सरकार्यवाह भैयाजी जोशी, श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चम्पतराय, निर्मोही अखाड़ा के महंत व ट्रस्ट के सदस्य दिनेंद्र दास, सदस्य डॉ अनिल मिश्रा ने पूजन किया। इस दौरान विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय मंत्री राजेंद्र सिंह पंकज व श्री राम लला मन्दिर निर्माण में लगी कार्यदाई संस्था एल एंड टी, टीसीई और बालाजी टकसन कंपनी के अधिकारी भी कार्यक्रम में मौजूद रहे। राम जन्मभूमि परिसर में राम मंदिर निर्माण के लिए 40 फुट गहरी खुदाई की गई नींव की ग्राउंड के इम्प्रुमेंट का कार्य किया जा रहा है। जिसके लिए 400 फुट लंबा, 300 फुट चौड़े स्थल को इंजीनियर फिल्म मैटेरियल से लगभग 44 लेयर के माध्यम से भरी जाएगी। वर्तमान में 300 एमएम की दो लेयर बिछाई जा चुकी हैं तो वही आगे इस कार्य को तेज गति से किया जा सके और बरसात के पहले ही इस कार्य को पूरा किया जा सके इसके लिए परिसर में बड़ी मात्रा में वर्कर व मशीनों को लगा दिया गया है।

5 अगस्त 2020 में देश की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राम मंदिर निर्माण के लिए किए गए भूमि पूजन निकाली गई शिलाएं व धातुओं को ग्राउंड इंप्रूवमेंट ( नींव भराई ) के दौरान गर्भ ग्रह स्थल पर स्थापित किया गया है। जिसके लिए सोमवार सुबह 7 बजे से इस वैदिक मंत्रों के द्वारा पूजन प्रारम्भ किया गया। और 9.15 मिनट पर सभी 9 सिलाई नंदा, अजिता, अपराजिता, भद्रा, रिक्ता, जया, शुक्ला, पूर्णा, सौभाग्यनी को स्थापित किया गया।

इसे भी पढ़े  54 फैजाबाद लोकसभा : मतदान केन्द्रों पर पहुंची पोलिंग पार्टियां

जिसके बाद अन्य धातु चांदी से बनी कछुआ, नाग नागिन, पंच धातु से बनी नवरत्न जड़ित कमल का फूल, बकुल वृक्ष की जड़ से निर्मित संकुल व चांदी की कलश को भी स्थापित किया गया।

Advertisements

Comments are closed.