The news is by your side.

दिसंबर 2023 तक गर्भगृह में हो सके रामलला के दर्शन 

राममंदिर निर्माण समिति की दूसरे दिन की बैठक में हुआ विचार विमर्श

अयोध्या। राम मंदिर निर्माण समिति की दूसरे दिन की बैठक चेयरमैन नृपेंद्र मिश्र अध्यक्षता में हुई। बैठक में ट्रस्ट के अन्य सदस्य और एलएनटी टाटा कंसलटेंसी के एक्सपर्ट भी मौजूद रहे।बैठक में दिसंबर 2023 तक नए मंदिर में रामलला का दर्शन कराने पर चर्चा हुई। बैठक समाप्त होने के बाद ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि सारी प्रक्रिया इस प्रकार होगी कि दिसंबर 2023 तक गर्भगृह में भगवान का दर्शन कर सके ये भी विचार हुआ है।

Advertisements

वही एक लाख श्रद्धालु कैसे कर सके दर्शन इस पर भी की चर्चा गई। बारीकी से सभी बिंदुओं पर चर्चा हुईं. मंदिर में लगने वाले स्टोन की फिटिंग परकोटा रिटेनिंग वॉल समेत कई गतिविधियां एक साथ चलाने पर विचार हो रहा। संपूर्ण परिसर इको फ्रेंडली होगा।नीव का निर्माण लगभग पूरा। अक्टूबर में प्लिंथ का काम शुरू होगा। प्लिंथ में 4 लाख घनफुट पत्थर लगेगा। दर्शन मार्ग को कल्याण सिंह मार्ग किए जाने पर चंपत राय ने सरकार की तारीफ किया। राम मंदिर की नीव की भराई का काम 15 सितंबर तक पूरा हो जाएगा प्लिंथ को ऊंचा करने का काम अक्टूबर के अंत से प्रारंभ हो जाएगा।

साथ ही साथ जो मंदिर का निर्माण कार्य है उसमें कई काम ऐसे हैं जो एक साथ किए जाए इस पर भी चर्चा हुई है। जैसे पत्थरों की फिटिंग का कार्य परकोटे का कार्य रिटेनिंग वॉल का कार्य इन सब को एक साथ कैसे किया जा सके इन सब बिंदुओं पर चर्चा की गई है। राम मंदिर निर्माण कार्य पूरा होने के बाद सामान्य दिनों में भी एक लाख श्रद्धालु जब राम लला का दर्शन करेंगे तो हर एक राम भक्तों को किस तरह से दर्शन कराए जाए  बैठक में यह भी निर्णय लिया गया है।

Advertisements

Comments are closed.