राफेल विमान रक्षा सौदे को लेकर वामदल ने किया धरना प्रदर्शन

0

कहा – राफेल विमान घोटाला आजादी के बाद का सबसे बड़ा रक्षा सौदा घोटाला

फैजाबाद। राफेल विमान रक्षा सौदे में हुए घोटाले की संयुक्त संसदीय समिति से जांच कराने की मांग को लेकर वामदलों के राष्ट्रीय आवाहन पर जिला मुख्यालय तहसील सदर फैजाबाद के सामने एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन सौपा गया। धरने की अध्यक्षता भाकपा के जिलामंत्री कामरेड रामतीर्थ पाठक एव माकपा जिला सचिव कामरेड माताबदल ने किया।संचालन माले नेता कामरेड अतीक अहमद ने किया।
धरने को संबोधित करते हुए भाकपा के प्रांतीय नेता कामरेड अशोक तिवारी ने कहा कि राफेल विमान घोटाला आजादी के बाद का सबसे बड़ा रक्षा सौदा घोटाला है। माकपा नेता कामरेड मोहम्द इशहाक ने कहा कि प्रधानमंत्री के चहेते उधोगपति अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस समूह जो चालीस हजार करोड़ की कर्जदार है को सीधे लाभ पहुंचाने के लिए यह ठेका दिलाया गया है जबकि पचास साल पुरानी सार्बजनिक छेत्र की यच एल कंपनी को उस सौदे से बाहर कर दिया गया है। धरने को संबोधित करते हुए जनौस प्रदेश सचिव कामरेड सत्यभान सिंह जनवादी ने कहा कि जब देश की जनता मोदी सरकार की चार साल के शासन काल का जाबाब मांग रही है।तो यह सरकार चैतरफा जनता के आंदोलनों को अपने दमन के जरिये दबा देने पर उतारू है।आज देश का सबिंधान व लोकतंत्र खतरे में है।यह सरकार जनता का ध्यान असली मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए एक बार फिर राममंदिर का मुद्दा उछाल कर देश को दंगे की आड़ में झोंकना चाहती है।
माले नेता कामरेड अखिलेश चतुर्वेदी ने कहा कि प्रधानमंत्री जनता की समस्याओ पर ध्यान न देकर देश की जनता को गुमराह करने का काम कर रहे है। धरने को कामरेड अशोक यादव,शिवधर द्विवेदी,अजमत अली,विश्वजीत सिंह राजू, कामरेड शेरबहादुर शेर,धीरज द्विवेदी,माकपा नागरमहासचिव कामरेड रामजी तिवारी,पूजा शर्मा,कोमल,माधुरी,कंचन,रामसिंह, कामरेड सूर्यकांत पांडेय,अयोध्या प्रसाद तिवारी,रामकुमार सुमन,चमेला देवी,यासीन बेग पपू सोनकर,अवधेश निषाद,अवधराम यादव,अरबिंद तिवारी,सुशील कुमार,सुरेश कुमार यादव आदि सैकड़ो कार्यकर्ता मौजूद रहे।

इसे भी पढ़े  शादी से किया मना, तो करा दी प्रेमी सिपाही की हत्या

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

%d bloggers like this: