The news is by your side.

भिटारी गांव में किया गया प्रियंका सेन का अंतिम संस्कार

-अन्त्येष्टि में हर किसी की नजर ढ़ूंढ रही थी पति अरविन्द सेन यादव को

मिल्कीपुर। भिटारी गांव में पूर्व जिला पंचायत सदस्य प्रियंका सेन यादव अंतिम संस्कार कर दिया गया। उनकी अन्त्येष्टि में आने वाले हर किसी की नजर उनके पति अरविन्द सेन को ढ़ूढ़ रही थीं। उनकी अंतिम यात्रा में मिल्कीपुर विधायक गोरखनाथ बाबा, जिपं सदस्य संजय यादव, संजय सिंह, संतोष यादव उर्फ पीतांबर सेन, अवधेश सिंह, रामकलप, डा. साईं प्रसाद सहित दर्जनों लोगों ने पहुंचकर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

Advertisements

बताते चलें कि पूर्व सांसद स्व. मित्रसेन यादव की बड़ी बहू व जेल में बदं आईपीएस अरविंद सेन यादव की पत्नी प्रियंका सेन यादव की आकस्मिक मौत हो गई। सीने में जकड़न और जुखाम-बुखार के कारण दर्शन नगर मेडिकल कॉलेज में भर्ती थीं। जहाँ कोविड-19 की जाँच भी हुई थी। साथ रहने वालों ने बताया कि जाँच रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। बताया गया कि उनके सीने में जकड़न बहुत ज्यादा थी। जिला चिकित्सालय में सुबह 4 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। प्रियंका सेन ने इस बार भी जिला पंचायत सदस्य का चुनाव लड़ा था। उनका शव हैरिंग्टनगंज ब्लॉक के ग्राम भिटारी में लाकर अंतिम संस्कार किया गया। उन्हें उनके 15 वर्षीय बेटे अप्रतिम सेन ने मुखाग्नि दी। उनके पति आईपीएस अरविंद सेन यादव काफी दिनों से जेल में हैं।

प्रियंका सेन थाना इनायतनगर के भिटारी गांव की निवासी थीं। प्रियंका सेन यादव ने हैरिंग्टनगंज प्रथम से जिला पंचायत सदस्य का चुनाव लड़ा था। वह समाजवादी पार्टी से समर्थित प्रत्याशी थीं। प्रियंका सेन हैरिंग्टनगंज ब्लाक की ब्लॉक प्रमुख भी रह चुकी हैं। प्रियंका सेन यादव जाने माने नेता स्वर्गीय मित्रसेन यादव की बहू हैं। उनके दो लड़की व एक लड़का है। उनके पति अरविंद सेन यादव पशुपालन घोटाले में जेल में बंद हैं। बताया जा रहा है कि प्रियंका सेन इधर कुछ दिनों से काफी परेशान थीं। लोगों का कहना है कि पति जेल में थे और वे जिला पंचायत का चुनाव लड़ीं तो उनके खिलाफ प्रत्याशी उतार दिया गया। सपा समर्थित प्रत्याशी होने के बावजूद पार्टी से उन्हें सहयोग नहीं मिला। इन्हीं बातों को लेकर उनकी चिन्ता बढ़ गई थी।

इसे भी पढ़े  सरयू की निर्मलता के लिए कार्ययोजना तैयार करने को किया गया मंथन

प्रियंका सेन की मौत की खबर से समूचा क्षेत्र स्तब्ध रह गया है। वास्तव में प्रियंका सेन का अपना अलग स्वभाव था। एक आईपीएस अधिकारी की पत्नी होने के बावजूद उनमें छोटे बड़े सबको साथ लेकर चलने की क्षमता थी। बेटे के अलावां दो बेटियां बड़ी बेटी प्रेयासी सेन तथा छोटी बेटी स्त्रिग्धा सेन लखनऊ में ही रहते हैं।

Advertisements

Comments are closed.