विवाहिता को भगाने के आरोपी प्रेमी पर पुलिस मेहरबान

विवाहिता के पति और भाई को ही चैकी प्रभारी ने मारपीट कर लॉकअप में डाला

मिल्कीपुर-फैजाबाद। इनायत नगर थाना क्षेत्र के बसवार गांव से विवाहिता को भगा ले जाने की आरोपी प्रेमी पर हरिंग्टनगंज चैकी प्रभारी इस कदर मेहरबान हुए कि विवाहिता के पति तथा उसके भाई की जमकर पिटाई कर थाने के लॉकअप में डाल दिया। चैकी प्रभारी की करतूतों से आहत होकर विवाहिता के विकलांग भाई ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के समक्ष शिकायती प्रार्थना पत्र पेश कर मामले में न्याय दिलाते हुए आरोपी चैकी प्रभारी के खिलाफ कार्यवाही की गुहार की है।
कुमारगंज थाना क्षेत्र के धनैचा पूरे मक्खू खा निवासी मोहम्मद मकसूद ने अपनी बेटी तबस्सुम बानो की शादी डेढ़ वर्ष पूर्व इनायत नगर थाना क्षेत्र के बसवार निवासी युवक मोहम्मद गुफरान के साथ की थी। बीते 30 मई को विवाहिता तबस्सुम बानो अचानक घर से लापता हो गई। लापता होने के बाद विवाहिता की पति एवं उसके पिता इनायत नगर थाना क्षेत्र के हैरिंग्टनगंज चैकी पहुंचे और युवती के मायके के ही एक युवक मोहम्मद आकिब पुत्र मोहम्मद रईस के खिलाफ भगा ले जाने का आरोप लगाते हुए शिकायती प्रार्थना पत्र पेश किया। चैकी प्रभारी ने आरोपी युवक के पिता मोहम्मद रईस को चैकी बुलाया है अपने बेटे व विवाहिता को थाने पर हाजिर करने का दबाव बनाया। बीते रविवार को अपरान्ह 2 बजे मोहम्मद रईस अपने परिवारीजनों के साथ विवाहिता तबस्सुम मनोरा उसके प्रेमी मोहम्मद आकिब को लेकर थाने पहुंचे। थाने पर मौजूद प्रभारी निरीक्षक दुर्गेश मिश्रा ने चैकी प्रभारी को मामले के निपटारे के लिए थाने पर बुला लिया था और स्वयं विवादों के निपटारे के लिए स्थलीय निरीक्षण में चले गए थे। चैकी प्रभारी राजेश कुमार यादव ने आरोपी युवक को नाबालिग होने की बात कहते हुए उसके पति और भाई अमजद पर विवाहिता को सुपुर्दगी में लेकर अपने घर ले जाने की बात कही। इस पर उसके पति एवं भाई दोनों ने अपने सुपुर्दगी में लेने से हाथ खड़ा करते हुए साफ-साफ मना कर दिया इतने में चैकी प्रभारी आपे से बाहर हो गए और विवाहिता के पति तथा उसके भाई कि थाने में पटक-पटक कर जमकर पिटाई की और इससे भी जी नहीं भरा तो उसके प्रेमी सहित भाई एवं पति को थाने के लाक अप में डाल दिया।
चैकी प्रभारी का कारनामा देख विवाहिता के पति एवं उसके भाई के परिवारीजन थाने से भाग निकले। सोमवार को विवाहिता के चचेरे दिव्यांग भाई मोहम्मद अख्तर एवं उसके ससुरालीजन प्रार्थना पत्र लेकर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंच गए और उन्होंने आपबीती बताते हुए सारी कहानी बया कर दी। पीड़ित ने चैकी प्रभारी के खिलाफ कार्यवाही की गुहार करते हुए नए दिलाए जाने की मांग की। जानकारी मिलते ही प्रभारी निरीक्षक ने मामले में हस्तक्षेप किया और चैकी प्रभारी को तत्काल मामले में कार्यवाही का निर्देश दिया। दूसरी ओर प्रभारी निरीक्षक दुर्गेश मिश्रा का कहना है कि आरोपी युवक 17 वर्ष 6 माह का ही है उसके नाबालिग होने की दशा के चक्कर में विवाहिता की सुपुर्दगी को लेकर पुलिस परेशान थी। दोपहर बाद प्रभारी निरीक्षक क्राइम मीटिंग में चले गए मामले को लेकर नायाब चैकी प्रभारी राजेश कुमार यादव देर शाम तक पंचायत में जुटे रहे उन्होंने नाटो मामले में कोई मुकदमा भी दर्ज करना मुनासिब समझा और ना ही विवाहिता का मेडिकल परीक्षण कराने की जहमत मोल ली।

इसे भी पढ़े  जन्मभूमि परिसर का होगा विस्तार, ट्रस्ट ने खरीदी और जमीन

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More