The news is by your side.

मुठभेड़ के बाद तीन असलहाधारी बदमाशों को पुलिस ने दबोचा

उम्रकैद की सजा काट रहे भाई को बचाने के लिए विकास सिंह बना अपराधी

अयोध्या। अपराधियों के धर पकड़ अभियान क्रम में महराजगंज थाना पुलिस ने ऐमीघाट के समीप घेराबंदी करके बाइक पर सवार तीन बदमाशों को ललकारा तो बदमाशों ने पुलिस दल पर फायरिंग करना शुरू कर दिया। इसी बींच मोटर साइकिल का नियंत्रण खो जाने से तीनों बदमाश गिर गये और पुलिस ने उनको दबोच लिया। यह जानकारी पुलिस लाइन सभागार में आयोजित पत्रकार वार्ता में पुलिस अधीक्षक ग्रामीण शैलेन्द्र सिंह ने दिया।
उन्होंने बताया कि बीती रात महराजगंज थानाध्यक्ष सुनील कुमार सिंह को मुखबिर खास ने उस समय सूचना दिया जब वह वाहनों की चेकिंग कर रहे थे कि ऐमीघाट पुल की तरफ नाजायज असलहों से लैस एक बाइक पर सवार तीन बदमाश पुल की ओर जा रहे हैं। मुखबिर की सूचना पर पुलिस दल ने देखा कि काले रंग की पल्सर बाइक जिसपर कोई नम्बर अंकित नहीं था उसपर तीन लोग सवार होकर आ रहे है। पुलिस दल ने टार्च की रोशनी डालकर रूकने का इशारा किया परन्तु बाइक पर सवार बदमाशों ने तमंचे से फायर करना शुरू कर दिया और भागने लगे। इसी बींच बाइक फिसलकर गिर गयी एसओ सुनील कुमार सिंह व हमराही पुलिस कर्मियों ने तीनों को धर दबोचा। उन्होंने बताया कि पूंछताछ के बाद पता चला कि मुख्य अभियुक्त विकास सिंह पुत्र स्व. रामधीरज सिंह निवासी मोर्हरम पुर अरती का भाई मुन्ना सिंह कुख्यात अपराधी था और उम्रकैद की सजा भोग रहा है। भाई को बचाने के उद्देश्य से ही विकास सिंह ने भी अपराध का रास्ता अपना लिया। उसके पास से 315 बोर का एक तमंचा, एक जिन्दा व एक खोखा कारतूस बरामद किया गया। दूसरे व्यक्ति ने अपना नाम राहुल यादव पुत्र राम भजन यादव निवासी मोहर्रमपुर अरती बताया। जामा तलाशी के बाद उसके पास 315 बोर का एक तमंचा एक जिन्दा व एक खोखा कारतूस बरामद हुआ। तीसरे व्यक्ति ने अपना नाम राजेन्द्र दूबे उर्फ हैपी पुत्र कृष्णमणि दूबे निवासी रसूलाबाद बताया। उसके पास से 31बोर का एक रिवाल्वर व दो जिन्दा कारतूस बरामद हुआ। रिवाल्वर की नाल सूंघने पर पता चला कि बारूद की गंध आ रही थी जिससे साफ हो गया कि इसी से पुलिस दल पर फायर किया गया। महराजगंज थाना में मु.अ.सं. 126/19 आईपीसी की धारा 307, 504 व मु.अ.सं. 127/19 शस्त्र अधिनियम की धारा 3/25 का अभियोग पंजीकृत किया गया है। विकास सिंह के विरूद्ध थाना बीकापुर व थाना महराजगंज में दो मुकदमा, राजेन्द्र उर्फ हैपी दूबे के विरूद्ध महराजगंज थाना में गैंगेस्टर सहित तीन, जीआरपी थाना में एक व कोतवाली नगर में एक मुकदमा पहले से कायम है। राहुल यादव के विरूद्ध महराजगंज थाना में दो मुकदमें कायम हैं। गिरफ्तार करने वाले पुलिस दल में महराजगंज थानाध्यक्ष सुनील कुमार सिंह, पुलिस चैकी प्रभारी पूराबाजार योगेन्द्र मिश्रा, उप निरीक्षकगण नन्द हौंसिला यादव, अशोक कुमार मिश्रा, शैलेन्द्र कुमार यादव, हेड कास्टेबल राणा प्रताप सिंह व अनूप सिंह तथा आरक्षीगण जयबिन्द सिंह, प्रदीप कुमार, सूर्य प्रकाश चतुर्वेदी, सचिन सिंह शामिल थे। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने अपराधियों को गिरफ्तार करने वाले पुलिस दल को 10 हजार रूपया इनाम देने की घोषणा किया है।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.