समदा झील को पक्षी विहार केंद्र बनाने की योजना को लगे पंख

    समदा स्मृति वन क्षेत्र का हुआ शुभारम्भ

    सोहावल-फैजाबाद। समदा झील का सौन्दरीकरण कर पक्षी विहार केंद्र के रूप में विकसित करने के लिये बनाई गयी योजना में शनिवार को एक कड़ी और जुड़ गयी। वन महोत्सव के माध्यम से झील परिसर में स्मृति वन क्षेत्र बनाकर 11 हजार पेड़ लगाने की शुरुआत की है। सांसद के साथ जिलाधिकारी एस एस पी सहित क्षेत्रीय विधायक ने पौध रोपित कर इस महोत्सव का सुरुआत किया।
    लगभग 11 हेक्टेयर में फैली सोहावल तहसील की समदा झील को पक्षी विहार केंद्र बनाने की योजना को पंख लग गये है।जिलाधिकारी डॉ0अनिल कुमार पाठक और जिला वनाधिकारी डॉ0 रवि कुमार सिंह की पहल पर बनाये गये स्मृति वन क्षेत्र में रोपित होने वाले 11 हजार पेड़ो के सापेक्ष पहुँचे अधिकारियों के साथ एनसीसी के बच्चों और जनप्रतिनिधियों ने सैकड़ो छायादार व फलदार वृक्ष लगाये और 15 अगस्त तक लक्क्ष्य पूरा करने का संकल्प लिया। इस अवसर पर बोलते हुए सांसद लल्लू सिंह ने कहा वनों के अभाव में वन जीवों का क्षरण होता जा रहा। इनके साथ पर्यावरण संतुलन बनाये रखने के लिये वृक्षा रोपण जरूरी है। मौजूद जिलाधिकारी श्री पाठक ने कहा वृक्षो से आत्मीयता जरूरी है। प्राकृतिक छाया हमसे दूर होती जा रही है।पक्षियों के साथ जल स्तर का संरक्षण करने के लिये प्राकृतिक परिवेश देना जरूरी है। प्रकृति की सुरक्षा के प्रति हम न चेते तो प्रकृति हमे विलुप्त कर देगी। संबोधन करने वालो में एस एस पी डॉ0 मनोज कुमार,सीडीओ अक्षय त्रिपाठी प्रमुख रहे।  आगन्तुको का स्वागत और आभार डी एफ ओ डॉ0 रवि कुमार सिंह ने किया। मौजूद लोगों में बीकापुर विधायक शोभा सिंह डॉ0 अमित सिंह,सुर्य प्रसाद श्रीवास्तव,  संचालक खलील खान जिला उद्द्यान अधिकारी कोला प्रधान नुसरत अली अधिवक्ता मो0 मुकीम लाल मोहम्मद वीरभद्र गुप्ता वेद गुप्ता आदि सहित स्थानीय लोग मौजूद रहे।
    इसे भी पढ़े  बेरोजगार दिवस के रूप में मनाया प्रधानमंत्री मोदी का जन्मदिन