The news is by your side.

जश्ने ख्वाजा के अवसर पर एकत्रित हुए लोग

अयोध्या। सूफी हर दिल अजीज शाह, बछड़ा सुलतानपुर फैजाबाद, अयोध्या की मजार पर लंगर और भंडारे का आयोजन किया गया। यह मान्यता है कि यह मजार 13 वर्ष पुरानी है और यहां पर साल भर के अंदर चार बार छोटे जश्ने ख्वाजा एक बार सालाना उर्स होता है। यहां पर सभी जातियों के लोग अपनी मन्नतें लेकर आते हैं और उनकी मन्नतें पूरी होती हैं। यहां से जुड़े लोगों का कहना है कि यहां पर सभी जाति धर्म के लोग आकर सुकून महसूस करते हैं। और मन्नतें मांगते हैं उनको यह पर विश्वास है कि उनके द्वारा मांगी गई मन्नत पूरी हो होती है। लोग विश्वास के साथ यहां आकर मन्नत पूरी होने पर भंडारे और प्रसाद का वितरण करते हैं। इसी क्रम में आज यहां पर हजारों की संख्या में लोग एकत्रित होकर लंगर और भंडारे को ग्रहण किए और अपनी मन्नत मांगे। यहां पर रहने वाली हाशमी बेगम का कहना है यहां पर लोग बड़े विश्वास के साथ आते हैं और अपनी मन्नत मांगते हैं और उनकी मन्नते पूरी होती है। सूफी मुनव्वर हर दिल अजीज ,सूफी चांद मियां हर दिल अजीज ,सोफी लाइक हर दिल अजीज, इन लोगों का मानना है की यहां पर आकर लोगों को शांति और सुकून का अनुभव होता है। और उनके द्वारा मांगी गई मुरादे पूरी होती है ।जश्ने ख्वाजा के अवसर पर यहां पर एक मेले जैसा आयोजन होता है। जहां पर सभी जाति धर्म के लोग आकर समय व्यतीत करते हैं ।और जिनकी मन्नते पूरी हो जाती है वह दोबारा मजार पर दर्शन करने भी आते हैं। उसके बाद लंगर और भंडारे में पूरा सहयोग करते हैं।

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.