विद्यालय की जमीन पर भू-माफियाओं का कब्जा

जेसीबी से भू-माफिया कर रहे भूमि का समतलीकरण

गोसाईगंज-अयोध्या। खाली पड़ी सरकारी स्कूल व निजी भूमि पर मालिकाना हक कोई माएने नहीं रखता। नगर पंचायत गोसाईगंज में भूमाफिया इस कदर हाबी है कि दस्तावेजों में हेर- फेर कर रातों रात जमीन में कब्जा कर लेना इनके बांए हाथ का खेल हो गया है। जमीन की रजिस्ट्री व खसरा- खतौनी सब माफियाओं के खेल के सामने फेल हो जाती है। नगरवासी जमीन की सुरक्षा को लेकर दहशत में हैं।
स्थानीय गोसाईगंज बस स्टेशन से रेलवे रोड स्थित रामण बाल विद्या मंदिर की चारदीवारी को जेसीबी द्वारा गोसाईगंज कोतवाली थाना क्षेत्र निवासी ओमप्रकाश गुप्ता निवासी भीटी चौराहा रमेश सिंह पिता अवध नरेश सिंह निवासी पुरावा अंकारीपुर, जितेंद्र सिंह खेमापुर अम्बेडकरनगर सहित अन्य दर्जनों लोगों ने विद्यालय की चारदीवारी ढहाकर उसे समतल कर दिया सूत्रों से पता चला की इस जमीन पर भूमाफिया प्लाटिंग करने का काम करेंगे और करोड़ों का मालिक बनने का सपना देख रहे हैं इसकी लिखित शिकायत जानकी रमण संस्कृत विद्यालय के प्रबंधक देव कुमार तिवारी ने कोतवाली थाने को भू माफियाओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की तहरीर दी है। स्थानीय निवासी महतो के द्वारा भू-माफियाओं के सहयोग से अपनी जमीन बताकर जमीन पर अतिक्रमण किया जा रहा है। बकायदा जेसीबी लगाकर जमीन समतल किया जा रहा था। और चारदीवारी बनाने की पूरी तैयारी हो चुकी है। इस अतिक्रमण के खेल में स्थानीय राजनेताओं का भी सहयोग है। इस करोड़ों की जमीन को लगभग दो लाख रुपए फिट पर बेचने की तैयारी चल रही है। मगर स्थानीय प्रशासन को इसकी भनक तक नहीं। जबकि सुबे के माननीय मुख्यमंत्री का सभी जिलों के उपायुक्त को सख्त निर्देश था कि अगर किसी भी क्षेत्र में सरकारी या गैर सरकारी जमीन पर भूमाफियाओं के द्वारा अतिक्रमण किया गया तो संबंधित क्षेत्र के थाना प्रभारी को निलंबित किया जाएगा। किसी जमीन पर अतिक्रमण ना हो इसकी जवाबदेही संबंधित क्षेत्र के थाना प्रभारी की होती है। कई क्षेत्रों में जमीन को सरकार के द्वारा अतिक्रमण मुक्त कराया भी जा चुका है। मगर फिर भी जमीन पर अतिक्रमण बदस्तूर जारी है। बेखौफ होकर भूमाफिया स्थानीय राजनेताओं व पुुलिस के साथ मिलकर जमीन पर कब्जा कर रहे हैं और वह जमीन जरूरतमंदों को बरगलाकर लाखों रुपए में बेच दे रहे हैं। इस जमीन पर पहले भी एक बार अतिक्रमण की कोशिश हो चुकी है। मगर उस वक्त कोतवाल ने जमीन कब्जे करने भू माफियाओं को सख्त चेतावनी दिया। 4 मार्च को लगभग दिन में 2ः00 बजे भू माफियाओं ने गोसाईगंज रमण बाल मंदिर की बंद पड़ी स्कूल में जेसीबी लगाकर जमीन में बनी चारदीवारी को तोड़ दिया गया और जमीन को अतिक्रमण मुक्त करा लिया। बंद पड़़े विद्यालय की करोड़ों की कीमती जमीन पर कब्जा हो गया। प्रधानाचार्य ने विरोध दर्ज कराते हुए खसरा- खतौनी व अन्य दस्तावेज दिखाए तो कोतवाली प्रभारी श्री निवास पांडे ने हरकत में आए तो भूमाफिया फरार हो गए लेकिन अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। विद्यालय के प्रबंधक देव कुमार तिवारी पुत्र स्वर्गीय उमाशंकर तिवारी इसकी जानकारी गोसाईगंज कोतवाली प्रभारी श्रीनिवास पांडे को दी। शिकायत के बाद पुलिस ने काम को रुकवा दिया। गोसाईगंज की सरकारी जमीन पर भूमाफियाओं की निगाह इस तरह से गड़ी है कि प्रशासन भी उसे बचा पाने में फेल हो रहा है। गोसाईगंज कोतवाली क्षेत्र के ज्यादातर तालाबों के दो तिहाई हिस्से माफियाओं के हक में आ गए है। माफियाओं ने इस जमीन की पुराई कर मंहगे दामों में प्लाटिंग कर बेच रहे हैं। ऐसे में विवाद में प्लाट मालिक फंस रहे हैं।

Facebook Comments
इसे भी पढ़े  पीएम नरेंद्र मोदी की रैली फैजाबाद लोकसभा क्षेत्र में 1 मई को प्रस्तावित