राष्ट्रीय लोक अदालत में 1427 मामलों का किया गया निस्तारण

2 करोड़ 56 लाख 117 रूपये की हुई वसूली, सैकड़ों हुये लाभान्वित

अयोध्या। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार एवं माननीय जनपद न्यायाधीश फैजाबाद जी0के0 पाण्डेय के आदेशानुसार 8 दिसम्बर 2018 को ’राष्ट्रीय लोक अदालत’ का आयोजन हुआ। प्रभारी जनपद न्यायाधीश अशोक कुमार के संयोजन से लोक अदालत सम्पन्न करायी गयी। बैंक लोन के प्रि-लिटीगेशन विवादों का निस्तारण नोडल अधिकारी बी0डी0 गौतम अपर जिला न्यायाधीश फैजाबाद की अध्यक्षता में किया गया। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण फैजाबाद के सचिव डा0 सुनील कुमार सिंह सिविल जज सी0डि0/एफ0टी0सी0 फैजाबाद ने यह अवगत कराया कि लोक अदालत में सबसे अहम प्रि-लीटिगेशन मामलों में वादकारियों की रूचि बढ़-चढ़कर दिखी। बैंक शिविरों में भारी संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया तथा ऋण की बड़ी रकम भी वसूली गयी। राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 1804 वादों को निस्तारित किया गया जिसमें मोटर दुर्घटना दावा, प्रतिकर याचिका से सम्बन्धित 8 वादों को निस्तारित किया गया। कुल 26 लाख 55 हजार रूपये प्रतिकर दिलाया गया। बैंक रिकवरी से सम्बन्धित 377 प्री-लीटिगेशन वाद निस्तारित किये गये तथा बैंक सम्बन्धित ऋण 1 करोड़ 81 लाख 30 हजार 478 रूपया वसूल किये गये।
वहीं पारिवारिक न्यायालय द्वारा 27 मुकदमों को निस्तारित करते हुये कई पुराने वाद भी निस्तारित किये गये एवं 9 लाख 48 हजार रूपया भरण-पोषण के रूप में दिलाया गया। सम्बन्धित मजिस्ट्रेट न्यायालयों द्वारा 1025 फौजदारी वादों को निस्तारित किया गया जिसके एवज में 1 लाख 46 हजार 990 रूपया अर्थदण्ड आरोपित किया गया। सिविल न्यायालयों द्वारा कुल 33 मामलों का निस्तारण किया गया जिसमें 14 लाख 32 हजार 391 रूपये का उत्तराधिकार प्रमाण-पत्र आदि जारी किये गये। राजस्व मामलों से सम्बन्धित 317 वाद विभिन्न राजस्व न्यायालयों द्वारा निस्तारित किये गये। बी0एस0एन0एल0 कम्पनी से सम्बन्धित 4 वाद निबटाये गये।
इस प्रकार राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 1427 मामलों का निस्तारण किया गया एवं 2 करोड़ 56 लाख 117 रूपया 17 पैसे का अर्थदण्ड एवं समझौता राशि वसूल की गयी। इस अवसर पर हरिनाथ पाण्डेय ए0डी0जे0, सुरेश चन्द्र आर्य ए0डी0जे0, कुशल पाल ए0डी0जे0, सुरेश कुमार शर्मा ए0डी0जे0, श्रद्धा तिवारी लघु वाद न्यायाधीश, वरूण मोहित निगम सी0जे0एम0, प्रज्ञा सिंह ए0सी0जे0एम0, विजय कुमार गुप्ता ए0सी0जे0एम0, अभिनव तिवारी जे0एम0, सुश्री अनीता सिविल जज हवेली, रश्मि चंद जे0एम0, अविनाश चन्द्र गौतम जे0एम0, देवेन्द्र प्रताप सिंह जे0एम0, साधना गिरी सिविल जज, मयूरेश श्रीवास्तव सिविल जज सहित तमाम न्यायिक अधिकारी, कर्मचारी, अधिवक्ता, वादकारी, बैंक अधिकारी आदि उपस्थित रहे। इस मौके पर प्राधिकरण के सचिव डा. सुनील कुमार सिंह ने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत के आयोजन से महिलाओं, विकलांगों, वरिष्ठ नागरिकों, पिछड़े, अनुसूचित जाति, जनजाति एवं सामान्य गरीब वर्ग के लोगों को लाभ पहुंचा।

इसे भी पढ़े  पंचायत चुनाव उम्मीदवारों के लिए ‘आप’ ने जारी किया आवेदन पत्र

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More