The news is by your side.

मृगेंद्र राज पांडे को सम्पूर्ण मंत्रीपरिषद की बायोग्राफी लिखने का वर्ल्ड रिकॉर्ड

– गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड ने मोस्ट बायोग्राफीज आफ काउंसिल मिनिस्टर्स आफ ए स्टेट औथेर्द् बाय एन इंडिविदुअल् का दिया सर्टीफिकेट

अयोध्या। सबसे उम्र के कवि का वर्ल्ड रिकॉर्ड , देश की नदियों पर पुस्तक लिखने का वर्ल्ड रिकॉर्ड , महिला क्रांतिकारियों पर पुस्तक लिखने का वर्ल्ड रिकॉर्ड , रामायण के पात्रों पर पुस्तक लिखने का वर्ल्ड रिकॉर्ड सहित तमाम शख्सियतों की बायोग्राफी लिखने का वर्ल्ड रिकॉर्ड बना चुके आज का अभिमन्यु के नाम से पूरी दुनिया में विख्यात अयोध्या के गौरव 16 वर्षीय मृगेंद्र राज पांडे ने अखंड साधना करते हुए एक बार फिर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाते हुए विश्व भर में अयोध्या का परचम फहराया है।

Advertisements

इस असाधारण प्रतिभाशाली बालक ने मात्र 1 वर्ष में ही उत्तर प्रदेश मंत्रिपरिषद के समस्त 52 मंत्रियों पर अलग-अलग पुस्तक लिख डाली जो अपने आप में अद्भुत है । वर्ल्ड रिकॉर्ड वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज करने वाली लब्ध प्रतिष्ठित संस्था गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड ने लंबी प्रक्रिया के उपरांत मृगेंद्र की इस उपलब्धि को वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज करने हेतु अनुमोदित करके सर्टिफिकेट प्रदान किया है।

बालक की बेमिसाल मेहनत और लाजवाब उपलब्धि पर अयोध्या में हर्ष व्याप्त है तथा अनेक शीर्षस्थ राजनेता, उच्च पदस्थ प्रशासनिक अधिकारियों तथा विविध संभ्रांत जनों द्वारा मृगेंद्र को बधाई देने का ताता लगा हुआ है। अनेक टीवी चैनल के कार्यक्रम में महज 2 वर्ष की उम्र से ही विभिन्न विषयों के कठिन तम प्रश्नों का पलक झपकते उत्तर देने वाला मृगेंद्र अपनी प्रतिभा का लोहा अनेक बार मनवा चुका है। मृगेंद्र की इस विलक्षण प्रतिभा के चलते देश विदेश के शैक्षणिक संस्थानों में लेक्चर देने हेतु आमंत्रित किया जाता रहता है।

इसे भी पढ़े  स्वामी जानकी शरण के जीवन पर रचित पुस्तक झुनकी चरित पुस्तक का हुआ  विमोचन

गणपत सहाय पोस्ट ग्रैजुएट कॉलेज सुल्तानपुर में वनस्पति विज्ञान की प्रोफेसर माता डॉ श्रीमती शक्ति पांडे व जनपद गोंडा में गन्ना विकास विभाग में सेवारत पिता राजेश पांडे का एकलौता पुत्र मृगेंद्र विविध विषयों पर अभी तक 300 से अधिक पुस्तकें लिख चुका है तथा कई सौ राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त कर चुका है।भारतीय संविधान हो या विज्ञान , इतिहास, भूगोल , अर्थशास्त्र हो अथवा अंग्रेजी , हिंदी साहित्य सभी पर इस बालक को महारथ हासिल है ।

प्रभु श्रीराम पर लिखी पुस्तक तथा राम कथा चरित्रम नाम से मृगेंद्र द्वारा लिखी गई पुस्तक ने बड़े मन्चो एवं वैश्विक पटल पर काफी ख्याति अर्जित की है।काव्य रूप में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बायोग्राफी लिखने का कारनामा भी इस नायाब मेधा के धनी बालक द्वारा किया जा चुका है । मृगेंद्र की बहुमुखी प्रतिभा के चलते अनेक राज्यपाल, नोबेल पुरस्कार प्राप्त विजेताओं , मुख्यमंत्रियों द्वारा भी सम्मानित किया जा चुका है।

मृगेंद्र के नाम अभी तक यंगेस्ट पोएट ऑफ द वर्ल्ड , यंगेस्ट मल्टी डाइमेंशनल राइटर ऑफ द वर्ल्ड , यंगेस्ट प्रोलोफिक राइटर ऑफ द वर्ल्ड, यंगस्टर आथर मोस्ट करैक्टर ऑफ रामायण , यंगेस्ट आथर मोस्ट फीमेल फ्रीडम फाइटर ऑफ इंडिया , यंगस्ट आथर मोस्ट रिवर ऑफ इंडिया, यंगेस्ट ,आथर मोस्ट बायोग्राफीज तथा यंगेस्ट ,आथर मोस्ट ऑनलाइन बायोग्राफीज का वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज है।

Advertisements

Comments are closed.