लापता बच्चों को पुलिस ने किया बरामद

    भटककर सोहवल सलोनी पहुंच गये थे बच्चे, परिजनों ने जताई थी अपहरण की आशंका

    Advertisement

    फैजाबाद। प्राथमिक पाठशाला मवईकला से पढ़कर घर लौटते समय दो सगे भाई रास्ता भटकरकर करीब 12 किमी दूर ग्राम सोहवल सलोनी पहुंच गये। लड़कों के पिता राजकिशोर निवासी पूरे लदई मवई कला थाना इनायतनगर में आईपीसी की धारा 364 के तहत मुकदमा पंजीकृत कराया था। मुकदमा दर्ज होने के बाद सक्रिय हुई पुलिस ने 20 घंटे के भीतर दोनों बच्चों को बरामद कर लिया और सकुशल परिजनों को सौंप दिया।
    यह जानकारी पुलिस अधीक्षक ग्रामीण संजय कुमार ने पुलिस लाइन सभागार में आयोजित पत्रकार वार्ता में दिया। उन्होंने बताया कि 7 वर्षीय प्रमोद कुमार व 5 वर्षीय प्रभात पुत्रगण राजकिशोर प्राथमिक पाठशाला मवई कला पढ़ने गये थे। दोपहर 1 बजे स्कूल से छुट्टी के बाद घर लौटते समय वह रास्ता भटक गये। उनके पिता राजकिशोर तिवारी ने बच्चों को इधर उधर तालश किया और जब बच्चे नहीं मिले तो उन्होंने थाना इनायतनगर में गुमशुदगी की रिर्पोट दर्ज करायी। बच्चों के पिता ने आशंका व्यक्त किया कि उनका एक व्यक्ति से भूमि को लेकर विवाद चल रहा है उन्हें आशंका है कि कहीं उन्हीं लोगों ने बच्चों का अपहरण तो नहीं कर लिया है।
    उन्होंने बताया कि वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर जब पुलिस ने छानबीन शुरू की तो जांच में पाया कि दोनो बच्चे सगे भाई है। कम उम्र के और बौद्धिक रूप से अन्य बच्चांे से कमजोर हैं। राजकिशोर तिवारी ने बताया कि 13 जुलाई को सुबह प्राथमिक पाठशाला मवई कला जाने के लिए बच्चों को उनके विवेक पर बींच रास्ते में ही छोड़ दिया था। छुट्टी के समय वह रास्ते में चाय की दूकान पर बच्चों का इंतजार कर रहे थे परन्तु जब बच्चे नहीं आये तो उनकी चिन्ता बढ़ी और उन्होंने स्कूल से लेकर तमाम जगहों पर बच्चों की तलाश किया जब बच्चे नहीं मिले तो थाने जाकर रिर्पोट लिखाया। एसपीआरए ने बताया कि जांच में मिले तथ्य के आधार पर पुलिल दल ने आसपास के सभी गांवों में जाकर बच्चों की तलाश शुरू किया तो दोनों बच्चे ग्राम सोहवल सलोनी में पाये गये। उन्होंने बताया कि बच्चों को बरामद करने वाले पुलिस दल को 10 हजार रूपये ईनाम देने की घोषणा की गयी है। बच्चों की बरामदगी करने वाले दल में इनायतनगर थाना के प्रभारी निरीक्षक दुर्गेश मिश्र, उपनिरीक्षक नरेन्द्र प्रताप सिंह, उप निरीक्षक विपिन अवस्थी, आरक्षी अखिलेश गुप्ता, आरक्षी सुनील चैरसिया, आरक्षी बिरला कुशवाहा शामिल रहे। पत्रकार वार्ता के दौरान सीओ मिल्कीपुर रूची गुप्ता भी मौजूद रहीं।