The news is by your side.

प्राण प्रतिष्ठा के दौरान वैश्विक स्तर पर अयोध्या से जाना चाहिए संदेश: लल्लू सिंह

22 जनवरी को पूरी दुनिया की निगाह अयोध्या पर रहेगी

अयोध्या। पांच सौ वर्षाे के संघर्षाेपरान्त राममंदिर प्राण प्रतिष्ठा का ऐतिहासिक समय नजदीक आ गया है। 22 जनवरी को पूरी दुनिया की निगाह अयोध्या पर रहेगी। यहां के प्रत्येक नागरिक की जिम्मेदारी बढ़ गयी है। प्राण प्रतिष्ठा समारोह के दौरान वैश्विक स्तर पर संदेश अयोध्या से जाना चाहिए। उक्त बातें सांसद लल्लू सिंह ने अमानीगंज ब्लाक के बिरौली झाम रामजानकी मंदिर व अनूसूचित बस्ती अमवा छीटन गांव में शनिवार को कही। वह जनचौपाल के दौरान जनता से संवाद स्थापित कर रहे थे। जनता की शिकायतों को सुनकर उन्होनं इसके निवारण के लिए सम्बंधित को निर्देशित किया।

Advertisements

उन्होनें कहा कि प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के दौरान प्रत्येक घर में कम से कम पांच दीपक अवश्य चलने चाहिए। अपने पास के मंदिर में कार्यक्रम के लाइव प्रसारण की व्यवस्था करें। जिसमें मोहल्ले अथवा गांव के प्रत्येक व्यक्ति की उपस्थिति होने का प्रयास हो। 22 जनवरी के बाद किसी तिथि पर रामलला का दर्शन करने जाय। उन्होंने कहा कि केन्द्र व प्रदेश सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ कतार में खड़े अंतिम व्यक्ति का मिल रहा है। गरीबों को आवास, शौचालय, गैस व विद्युत कनेक्शन दिया गया है। आयुष्मान भारत योजना के तहत पांच लाख के इलाज की व्यवस्था की गई है। चौपाल के दौरान राशन कार्ड, पेंशन, किसान सम्मान निधि, छुट्टा जानवर के प्रकरण सामने आये।

सांसद लल्लू सिंह ने जनचौपाल में मौजूद प्रत्येक व्यक्ति से वार्ता किया तथा उन्हें योजनाओं की जानकारी दी। कार्यकर्ताओं से उन्होने सम्पर्क व संवाद की प्रक्रिया और तेज करने के लिए कहा। इस अवसर पर रामउजागिर तिवारी पूर्व प्रधान, रतिपाल, रामअवतार, राममिलन कन्नौजिया, रामबालक, बाबूलाल, रामअचल पाठक, जय गुप्ता, गया प्रसाद गुप्ता आदि मौजूद रहे।

इसे भी पढ़े  मलेरिया लाल रक्त कोशिकाओं का संक्रमण : डाॅ. अभय त्रिपाठी

 

Advertisements

Comments are closed.