The news is by your side.

जनपद न्यायाधीश को पितृ शोक, सरयू घाट पर हुआ अंतिम संस्कार

अयोध्या। जिला एवं सत्र न्यायधीश गौरव कुमार श्रीवास्तव के वृद्ध पिता विजय कुमार श्रीवास्तव का निधन हो गया। उनका अंतिम संस्कार रामनगरी में सरयू किनारे पुराने घाट पर किया गया। जिला जज को पितृ शोक को लेकर न्यायिक अधिकारियों और अधिवक्ताओं में शोक की लहर है। दिवंगत 91 वर्षीय विजय कुमार श्रीवास्तव पुत्र स्व रमापति श्रीवास्तव भी न्यायिक अधिकारी थे और जिला एवं सत्र न्यायधीश पद से सेवानिवृत्त हुए थे। यहीं पर अपने पुत्र जिला जज के साथ रहते थे और गुरुवार की देर रात 11 बजे के बाद उनका एक निजी अस्पताल में निधन हो गया।

Advertisements

अपने पीछे वह पत्नी श्रीमती पूर्णिमा श्रीवास्तव, बड़े पुत्र वर्तमान जिला जज गौरव कुमार श्रीवास्तव व छोटे पुत्र सौरभ कुमार श्रीवास्तव को छोड़ गए हैं। संयुक्त परिवार में बहुओं के अलावा 3 पौत्र आदित्य कुमार श्रीवास्तव, राघव श्रीवास्तव, सिद्धांत कुमार श्रीवास्तव हैं। पूर्व जिला जज के निधन की खबर के बाद शोक संवेदना व्यक्त करने वालों का तांता लगा हुआ है। न्यायिक अधिकारियों के साथ पुलिस और प्रशासन के अधिकारी तथा अधिवक्ताओं का आवास पर आना जाना लगा है।

अंतिम संस्कार अयोध्या के पुराना शमशान घाट पर किया गया तथा मुखाग्नि उनके बड़े बेटे जिला जज गौरव कुमार श्रीवास्तव ने दी। इस अवसर पर न्यायिक अधिकारी, पुलिस-प्रशासन के अधिकारी, बार एसोसिएशन के पदाधिकारी व अधिवक्ता आदि मौजूद रहे।

 

Advertisements
इसे भी पढ़े  अवध विवि के छात्रों ने प्रभु श्रीराम के सूर्य अभिषेक की तर्ज पर बनाया मॉडल

Comments are closed.