The news is by your side.

आत्मबल से ही कोविड संक्रमण को किया जा सकता है खत्म : प्रो. रविशंकर

-अविवि के कुलपति ने की भावनात्मक अपील

अयोध्या। डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह ने परिसर एवं सम्बद्ध महाविद्यालयों के शिक्षकों, कर्मचारियों एवं छात्र-छात्राओं से कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए भावनात्मक अपील की। कुलपति ने कहा कि वर्तमान दौर में कोविड का संक्रमण बहुत तेजी से फैल रहा है। इस पर नियंत्रण पाने के लिए केन्द्र व राज्य सरकार प्रयासरत् है। इस विषम परिस्थिति में हम सभी को आत्मसंयम का परिचय देना होगा। कुलपति ने शिक्षकों एवं छात्रों से कहा कि भारत सरकार के कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिए जारी की गई एडवाइजरी का कड़ाई के साथ पालन करें। निश्चित ही हमें इस महामारी से निजात मिल जायेगी।

Advertisements

कुलपति प्रो0 सिंह ने कहा कि विश्वविद्यालय परिवार ने इस बीच कई अपनों को संक्रमण के कारण खो दिया है जिसकी भरपाई कर पाना सम्भव नहीं है। इस महामारी से निपटने के लिए सकारात्मक सोच बनाये रखे। आत्मबल से ही इस संक्रमण को खत्म किया जा सकता है। आज देश विषम परिस्थितियों से गुजर रहा है। इसलिए आवश्यक है कि एक दूसरे के साथ संयम का परिचय देते हुए कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोका जाये। कुलपति ने कहा कि बिना वजह घर से बाहर न निकले, मास्क बराबर लगाये, दो गज की दूरी बनाये रखे, समय-समय पर हाथ की धुलाई एवं सेनिटाइजर का प्रयोग करते रहे। भीड़-भाड़ वाले स्थानों में जाने से बचे एवं प्रदेश सरकार द्वारा लगाये गये लॉकडाउन के नियमों का पालन करें।

कुलपति ने कहा कि भारत सरकार द्वारा 1 मई से तीसरे चरण के लिए कोविड वैक्सीनेशन का शुभारम्भ हो रहा है। इसमें 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों का टीकाकरण किया जाना है। पंजीकरण के उपरांत बारी आने पर टीकाकरण केन्द्र पर पहुॅच कर टीकाकरण अवश्य कराये। क्योंकि कोविड की दूसरी लहर पहले के मुकाबले ज्यादा से ज्यादा लोगों को संक्रमित कर रही है। टीकाकरण हो जाने से सकंमण का प्रभाव कम हो जायेगा। कुलपति प्रो0 सिंह ने कहा कि आमजन के सहयोग से ही कोविड महामारी से लड़ा जा सकता है। इसलिए एक दूसरे को प्रेरित करते हुए टीकाकरण के लिए अवश्य जागरूक करे।

Advertisements

Comments are closed.