हिंदू महासभा ने सरयू तट पर राम मंदिर निर्माण का लिया संकल्प

कहा-राम मंदिर निर्माण हेतु विधेयक एकमात्र रास्ता

अयोध्या। रामनगरी अयोध्या में अगर भव्य राम मंदिर निर्माण करना है तो जितनी जल्दी हो सके केंद्र की भाजपा सरकार को संसद में विधेयक लाकर मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त करना ही होगा अन्यथा बुरा परिण्1ाम भी भुगतने को तैयार रहना होगा उक्त बातें हिंदू महासभा के राष्ट्रीय प्रवक्ता मनीष पान्डेय ने सरयू तट पर आयोजित संकल्प सभा के दौरान कहीं है श्री पान्डेय ने आगे कहा कि भगवान राम के नाम पर जिस तरह शिवसेना और विश्व हिंदू परिषद अपने अपने स्वार्थ के वशीभूत होकर हिंदू शक्ति को खंडित कर रही है वह देखना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण और आहत करने वाले क्षण है, क्योंकि हिंदू शक्ति की एकजुटता के ही कारण बाबरी का विध्वंस हुआ था तो फिर रामलला के मंदिर के निर्माण के समय यह शक्ति खंडित क्यों छिन्न भिन्न क्यों वास्तव में अवश्य में आ गया है कि राम भक्त स्वयं निर्णय ले कि उन्हें किस नीति अपनाकर भव्य राम मंदिर का निर्माण करवाने हेतु सरकार को मजबूर करना है सुप्रीम कोर्ट और संगठनों से तो राम भक्तों का भरोसा पूरी तरह से उठ चुका है हिंदू महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष महंत रामलोचन शरण शास्त्री ने कहा कि कुछ कालनेमियों के कारण भव्य राम मंदिर निर्माण में निरंतर बाधाएं आ रही हैं इन कालोनियों को हटाकर राम भक्त भव्य राम मंदिर निर्माण की कमान स्वंय अपने हाथों में ले तभी राम मंदिर निर्माण का संभव होगा संकल्प लेने वाले प्रमुख हिंदू महासभाईयों मे प्रवीण सनाढ्य, चंद्रहास दीक्षित अनुपम तिवारी अरविंद शास्त्री पुजारी नैना दास राम प्रकाश यादव अजेन्द्र पान्डेय आदि लोग प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

इसे भी पढ़े  पंचकोसी परिक्रमा : आस्था की डगर पर बढ़े श्रद्धालुओं के कदम

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More