मिर्जापुर से गइले हमार पिया……

0

पद्मश्री सोमा घोष ने किया शास्त्रीय गायन

फैजाबाद। डाॅ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के 23 वें दीक्षांत सप्ताह के अन्तर्गत संत कबीर सभागार में स्पीक मैके एवं विश्वविद्यालय के संयुक्त तत्वावधान में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में शास्त्रीय गायिकी की प्रतिष्ठित कलाकार भारत रत्न विस्मिल्लाह खान की दत्तक पुत्री पद्मश्री सम्मान से अंलकृत सोमा घोष ने शास्त्रीय गायन प्रस्तुत किया। समारोह के मुख्य अतिथि कुलपति प्रो0 मनोज दीक्षित रहे।
सांस्कृतिक कार्यक्रम में सोमा घोष ने रूद्राष्टक भगवान शिव की वंदना से प्रारम्भ किया। संगाीत के क्रम में जिया जाये न तेरे बिना…… मिर्जापुर से गइले हमार पिया……की प्रस्तुति ने सभागार में उपस्थित जनसमूह का ध्यान आकर्षित किया। रघुपति राघव राजा राम……. जैसी भक्तिपूर्ण प्रस्तुति ने दर्शकों के बीच भक्तिपूर्ण धारा प्रवाहित की। कार्यक्रम के दौरान सुश्री घोष ने उस्ताद विस्मिल्लाह खान के कई संस्मरण व कृतित्व पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम के क्रम में राग भैरवी व ठुमरी हमरी अटरियां पर आओं संवरिया की प्रस्तुति ने संगीत की छटा बिखेर दी। अपने वक्तब्य में सोमा घोष ने कहा कि वतर्मान परिवेश के बारे में बताया कि जमाना बदलता है, शरीर बदलती है यह हमें नये वातावरण की ओर अग्रसर करता है। छात्र-छात्राओं से उन्होंने अपील किया कि परिस्थितियों का डटकर मुकाबला करे। जीवन में कभी हार नहीं मानना चाहिए। युवा पीढ़ी में अवसाद की समस्या बढ़ रही है। इससे पूरी तरह से निपटने के लिए संगीत साधना एक महत्वपूण उपाय है।
समारोह को संबोधित करते हुए कुलपति प्रो0 मनोज दीक्षित ने कहा कि संगीत एक ऐसी विधा है जिसकी साधना से हमे शांति मिलती है। मानसिक रूप से सशक्त होने में संगीत का योगदान अमूल्य है। संगीत साधना ऊर्जा का केन्द्र है इसके स्वाध्याय से चितंन शक्ति को बल मिलता है। आध्यात्मिक शक्ति का विकास होता है। उन्होंने कहा कि सफल जीवन के लिए बचपन की याद बनाये रखनी आवश्यक है इससे जीवन भर उल्लास बना रहता है। अयोध्या फैजाबाद की संगीत परम्परा को बनाये रखने के लिए की विरासतों का संजोये रखने के लिए आवश्यक कदम उठाये जा चुके है।
इस अवसर पर मुख्य नियंता प्रो0 आर0एन0 राय, अधिष्ठाता छात्र-कल्याण प्रो0 आशुतोष सिन्हा, प्रो0 राम लखन सिंह, मीडिया प्रभारी प्रो0 के0 के0 वर्मा, प्रो0 हिमांशु शेखर सिंह, प्रो0 एस0के0 रायजादा, प्रो0 मृदुला मिश्रा, प्रो0 फारूख जमाल, प्रो0 नीलम पाठक, डाॅ0 तुहिना वर्मा, डाॅ0 नीलम यादव, डाॅ0 सिंधू, डाॅ0 वन्दिता पाण्डेय, डाॅ0 अनिल यादव, डाॅ0 मणिकांत त्रिपाठी सहित अन्य शिक्षक एवं छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

इसे भी पढ़े  गुरुदेव पैलेस का हुआ भव्य शुभारम्भ

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

%d bloggers like this: