गोसाईगंज पुलिस ऑपरेशन पहचान से कसेगी अपराधियों पर लगाम

गोसाईगंज। स्थानीय गोसाईगंज कोतवाली प्रभारी ने बताया कि फैजाबाद पुलिस अधीक्षक के आदेश पर वांछित अपराधियों को पकड़ने के लिए पुलिस चलाएगी ऑपरेशन पहचान जिससे कोतवाल सुरेश पांडे में गोसाईगंज कोतवाली में चिह्नित किए गए 35 अपराधियों की गतिविधियों पर रखी जाएगी नजर वही हर सप्ताह पुलिसकर्मी घर जाकर करेंगे वैरीफिकेशन, गड़बड़ी मिलने पर होगी कार्रवाई। आर्थिक अपराध से जुड़े शातिरों पर नजर रखने के लिए विशेष अभियान ऑपरेशन पहचान चलाया जाएगा। गोसाईगंज कोतवाली में आर्थिक अपराधों में लिप्त रहे 35 शातिरों की पहचान कर ली गई है। वही 16 वारंटियों को जेल भी भेजा है।
        एसएसपी मनोज कुमार के अनुसार पिछले 10 वर्ष में जेल गए अपराधियों को चिह्नित करने का मकसद क्राइम कंट्रोल है। योजना के तहत चिह्नित अपराधियों पर नजर रखकर वर्तमान में उनकी सक्रियता का पता लगाया जाएगा। गतिविधियों के साथ ही आय का साधन, मोबाइल नम्बर व निवास स्थान का पता लगाया जाएगा। गांव या मोहल्ला बदलने पर नए पते के थाने की पुलिस को जानकारी दी जाएगी। इसके साथ ही अपराधी का केस लड़ने वाले वकील के बारे में भी जानकारी जुटाई जाएगी। स्थानीय पुलिस की जिम्मेदारी होगी कि लगातार नजर रखने के साथ ही हफ्ते में कम से कम एक बार पुलिसकर्मी घर जाकर वैरीफिकेशन करे। लम्बे समय से कोई वारदात न करने और सही तरीके से जीविकोपार्जन की पुष्टि पर हिस्ट्रीशीट बंद करवाई जाएगी। अभियान के दौरान इलाके में नए या अनजान लोगों का ब्योरा भी जुटाया जाएगा। इलाकाई लोगों से गतिविधियों की जानकारी ली जाएगी। हरकतें संदिग्ध होने के साथ ही लग्जरी गाड़ियों का इस्तेमाल या आलीशान मकान बनवाने वालों का इतिहास खंगाला जाएगा। हत्या, डकैती, लूट, नकबजनी, चोरी, नशीले पदार्थों की तस्करी, ऑटो लिफ्टर, जुआ अड्डे के संचालक, अवैध हथियारों की खरीद-फरोख्त करने वाले अपराधी। मुखबिर की सूचना पर पुलिस इन पर नियमित रूप से नजर रखने के साथ ही पता लगाएगी कि अपराधी अब सक्रिय हैं या नहीं। अपराधों में लिप्त होने की पुष्टि पर चेतावनी के साथ ही कार्रवाई भी की जाएगी।
इसे भी पढ़े  राम मंदिर निर्माण के लिए विदेश से भी आने लगा दान