The news is by your side.

कोरोना संक्रमण को लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में करें अधिक फोकस : जय प्रताप सिंह

-चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ने मेडिकल कालेज दर्शननगर का किया निरीक्षण

अयोध्या। चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जय प्रताप सिंह ने मंगलवार को सबसे पहले राजर्षि दशरथ मेडिकल कालेज दर्शननगर पहुंचकर कोविड वार्ड में संक्रमित मरीजों के चल रहे इलाज के बावत जानकारी ली तथा दवाओं एवं आक्सीजन की उपलब्धता के बारे में सम्बंधित इंचार्ज से पूछतांछ की। तत्पश्चात मेडिकल कालेज में आक्सीजन प्लांट की प्रगति की जानकारी के साथ उसका भी निरीक्षण भी किया। तत्पश्चात कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिला प्रशासन एवं चिकित्सा विभाग से जुड़े अधिकारियों के साथ बैठक कर पूरे जनपद के कोविड संक्रमण की स्थिति, मरीजों के इलाज, संक्रमण की रोकथाम आदि के सम्बंध में जानकारी प्राप्त करने के साथ कहा कि वर्तमान समय में हम सभी को ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक फोकस करने के साथ लक्षण युक्त लोगों को चिन्हित करने के साथ उन्हें समय से मेडिसीन किट उपलब्ध कराने के साथ उनकी कोविड टेस्टिंग भी करायी जाय। यदि निगरानी समितियों के माध्यम से हम लक्षण युक्त व्यक्तियों के चिन्हांकन तथा उन्हें समय से मेडिसीन किट उपलब्ध कराने में सफल रहे तो निश्चित रूप से कोविड संक्रमण को रोकने में हम सफल रहेंगे।

Advertisements

जनपद में अब तक कुल 573722 कोविड-19 टेस्टिंग

स्वास्थ्य मंत्री को जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने बैठक में बताया कि जनपद में अब तक कुल 573722 कोविड-19 टेस्टिंग अब तक कराई गई जिसमें 235241 आरटीपीसी तथा 3 लाख 38 हजार 481 एन्टीजन सैंपल कराए गए जिसके सापेक्ष कुल पोजिटिव केस 16026 तथा पोजिटिव रेट 2.79 है। 1 सप्ताह पूर्व 2100 से 2200 सैंपलिंग कराई जा रही थी जिसे अब बढ़ाकर 2700 से 2800 कर दिया गया है। 1 सप्ताह पूर्व पोजिटिविटी रेट 8.32 थी जो वर्तमान में घटकर 6 पॉइंट 04 रह गई है जिससे परिलक्षित होता है कि जनपद में संक्रमण पर प्रभावी रोकथाम लगी है और पोजिटिविटी रेट लगातार घट रही है जनपद में 10 मई को सक्रिय केस 1944 था जो 17 मई को घटकर 1259 रह गया है जिसमें से 204 मरीज चिकित्सालय में भर्ती है और उनका इलाज चल रहा है तथा 1055 मरीज होम आइसोलेशन में अपना इलाज डॉक्टर टीम की देखरेख में करा रहे हैं। होम आइसोलेशन के मरीजों को शत प्रतिशत दवाओं की किट का वितरण कर दिया गया है। होम आइसोलेशन के तहत 0.187 आक्सीजन की मांग हो रही थी जिसकी शत प्रतिशत उपलब्धता जिला प्रशासन द्वारा करायी जा रही है। जिलाधिकारी ने मंत्री को बताया कि जनपद में कुल पॉजिटिव केस 16026 के सम्पर्क में आये हुये (कांटेक्ट ट्रेसिंग) 167961 लोगों का कोविड-19 टेस्ट कराया गया कुल कांटैक्ट ट्रेसिंग प्रति पोजिटिव केस 9.54 थर। उन्होंने आगे बताया कि कुल पोजिटिव केस 16026 के सापेक्ष 14184 मरीज स्वस्थ हुये। रिकवरी रेट जनपद का 88.51 रहा है जबकि कुल मृत्यु 184 हुई है कुल मृत्यु दर 1.14 है जनपद में आंशिक ऑक्सीजन युक्त बेड की संख्या में लगातार बढ़ोतरी की जा रही है 1 सप्ताह पूर्व जनपद में ऑक्सीजन के साथ बेड की संख्या 373 थी जिसे इस सप्ताह बढ़ाकर 473 कर दी गई है। सम्प्रति आक्सीजन सहित कुल रिक्त बेडों की संख्या 253 है।

इसे भी पढ़े  31 मई से होंगी अवध विश्वविद्यालय की एनईपी सम सेमेस्टर परीक्षाएं

जनपद में अब तक 156,578 टीकाकरण

जनपद में कुल आक्सीजन की मांग 8 एमटी है, जिसकी आपूर्ति सुनिश्चित करायी जा रही है। विगत सप्ताह 3 एमटी आक्सीजन की आपूर्ति हो रही थी जो बढ़कर 4 एमटी हो गयी है। जनपद में राजकीय चिकित्सालयों में 78 वेन्टिलेटर तथा निजी चिकित्सालयों में 10 वेन्टिलेटर कुल 88 वेन्टिलेटर उपलब्ध है जो सभी सक्रिय है। जनपद के राजकीय चिकित्सालयों में 58 एवं निजी चिकित्सालयों में 13 कुल 71 आक्सीजन कन्सट्रेटर उपलब्ध है और सभी क्रियाशील है। जनपद में अब तक 156,578 टीकाकरण किया जा चुका है। जिसमें से 118,477 व्यक्तियों को सिंगल डोज जबकि 38101 व्यक्तियों को डबल डोज दिया जा चुका है। जनपद में ग्रामीण क्षेत्रों में कुल निगरानी समितियां 833 तथा नगरीय निगरानी समितियां की संख्या 119 है जो डोर टू डोर जाकर लक्षण वाले मरीजों को चिन्हित करने के साथ बाहर से आये हुये प्रवासी की पहचान कर उनको क्वॉरांटीन कराया जा रहा है। विगत सप्ताह ग्रामीण क्षेत्रों रैपिड रिस्पांस टीम की संख्या 55 थी जिसे बढ़ाकर 103 कर दी गयी है। इसी प्रकार नगरीय क्षेत्र में गत सप्ताह रैपिड रिस्पांस टीम की संख्या 12 थी जिनकी संख्या बढ़ाकर 22 कर दी गयी है। जिलाधिकारी ने  मंत्री को बताया कि जनपद में कोविड 19 संक्रमण की जीवन रक्षक दवाएं तथा अन्य दवाओं पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। आक्सीजन भी पर्याप्त मात्रा में अनवरत आपूर्ति हो रही है। कहीं से किसी प्रकार की कोई परेशानी नही है।

46 डॉक्टर अपनी सेवाएं प्रदान कर रहे

जनपद में टेलीकन्सल्टेशन के तहत 46 डॉक्टर अपनी सेवाएं प्रदान कर रहे हैं और अब तक इस सुविधा का लाभ 3786 मरीजों ने उठाया है जनपद में नगर निगम के साथ 60, नगर पंचायत नगर पालिका क्षेत्रों में 19 तथा ग्रामीण क्षेत्रों में 308 टीमों द्वारा जनपद में ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में स्वच्छता एवं सैनिटाइजेशन का कार्य निरंतर चल रहा है। जनपद में अब तक कुल घोषित कन्टेनमेंट जोन की संख्या 4668 के सापेक्ष 799 सक्रीय कन्टेनमेंट जोन है जिसमें से नगर क्षेत्र में 257 एवं ग्रामीण क्षेत्र में 542 है। जहां सैनिटाइजेशन, हाउस टू हाउस सर्वे एवं सैम्पलिंग आदि का कार्य अनवरत कराया जा रहा है।

इसे भी पढ़े  सरयू की निर्मलता के लिए कार्ययोजना तैयार करने को किया गया मंथन

4 आक्सीजन जनरेटर मेडिकल कालेज में स्थापित

बैठक में जिलाधिकारी द्वारा मेडिकल कालेज सहित अन्य चिकित्सालयों में स्थापित कराये जाने वाले आक्सीजन प्लांट की जानकारी विस्तार से देते हुये बताया कि 4 आक्सीजन जनरेटर मेडिकल कालेज में स्थापित कराया गया है। एम्बुलेंस की संख्या के बारे में विस्तार से बताते हुये जिलाधिकारी ने बैठक में बताया कि वर्तमान में 108 सेवा की 14 एम्बुलेंस एवं एएलएस सेवा की 2 एम्बुलेंस कुल 16 एम्बुलेंस को कोविड कार्यो में लगाया गया है। आवश्यकता पड़ने पर नान कोविड एम्बुलेंस में से एम्बुलेंस की संख्या बढ़ायी जा सकती है। उन्होंने आगे बताया कि कोविड कन्ट्रोल कमाण्ड सेंटर विकास भवन के गांधी सभागार में स्थापित है जो कोविड सम्बंधी समस्याओं के निस्तारण, कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग के साथ होम आइसोलेशन के संक्रमित मरीजों को अपनी सेवायें उपलब्ध करा रहा है। शव वाहनों की उपलब्धता के बारे में बताते हुये कहा कि 2 नगर निगम एवं 1 जिला चिकित्सालय में शव वाहन की सेवा आन काल उपलब्ध करायी जा रही है। बैठक में रूदौली विधायक रामचन्द्र यादव द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में गम्भीर संक्रमित मरीजों को आक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराने के सम्बंध में जिलाधिकारी से कहा कि नगरीय क्षेत्र की भांति ग्रामीण क्षेत्रों में भी आक्सीजन उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जाय।

बैठक में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पांडेय, मुख्य विकास अधिकारी अनीता यादव, संयुक्त निदेशक चिकित्सा डा0 रमेश, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 घनश्याम सिंह, जिला सर्विलांस अधिकारी डा0 दुष्यंत सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष संजीव सिंह, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 आरके सक्सेना, नगर स्वास्थ्य अधिकारी, जिला मलेरिया अधिकारी एमए खान, जिला चिकित्सालय से डा0 सीवीएन त्रिपाठी, कार्यक्रम सहायक अजय सिंह, डीपीएम राम प्रकाश पटेल, डीपीसीएम अमित कुमार आदि मौजूद रहे।

इसे भी पढ़े  डीजे व लाइट कारोबारी की हत्या का पुलिस ने किया पर्दाफाश

 

Advertisements

Comments are closed.