The news is by your side.

महिला चिकित्सकों ने जाँची गर्भवती महिलाओं की स्वास्थ्य स्थिति

-लगभग 1376 महिलाओ को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना का मिला लाभ

अयोध्या। सुरक्षित मातृत्व अभियान के अंतर्गत हर माह की 10 तारीख को गर्भवती महिलाओं की प्रसव पूर्व जांच की जाती है। इसी के तहत जनपद के जिला महिला अस्पताल सहित सभी सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस दौरान चिकित्सकों ने गर्भवती महिलाओं की प्रसव पूर्व जाँचें जैसे – हीमोग्लोबिन, शुगर, ब्लड ग्रुप, एचआईवी, वजन, ब्लडप्रेशर, अल्ट्रासाउंड एवं अन्य जांच एवं मुफ़्त निःशुल्क उपचार की सेवाएँ प्रदान की गईं गई।

Advertisements

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अजय राजा ने बताया कि इस दिन गर्भवती महिला के ब्लड प्रेशर, ब्लड टेस्ट, यूरीन टेस्ट, हीमोग्लोबिन जांच और अल्ट्रासाउंड का टेस्ट फ्री में किया जाता है. इसके अलावा जो महिलाएं ज्यादा गंभीर होती हैं उन्हें उच्च चिकित्सा केन्द्रों के लिए रेफर कर दिया जाता है. अभियान के तहत आज जनपद में 1376 से अधिक महिलाओं ने प्रसव पूर्व जाँच करवाई। इस मौके पर महिला रोग विशेषज्ञों की देख रेख में गर्भवती महिलाओं की प्रसव पूर्व जांच कर उनका टीकाकरण भी किया गया। विटामिन, आयरन-फ़ॉलिक एसिड व कैल्शियम की दवाएं वितरित कर महिलाओं को प्रसव पूर्व व प्रसव उपरान्त संतुलित और पौष्टिक आहार लेने, साफ-सफाई रखने, समय-समय पर चिकित्सीय परामर्श लेने और संस्थागत प्रसव कराने के लिए प्रेरित किया गया।

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. आर.के. सक्सेना ने बताया कि जनपद के सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र व प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर सुरक्षित मातृत्व अभियान को विशेष दिवस के रूप में आयोजित किया गया। स्वास्थ्य इकाईयों तक आने वाली सभी गर्भवती महिलाओं की सभी प्रसव पूर्व जांच कराई गई । उच्च जोखिम वाली महिलाओं की जांच व इलाज एमबीबीएस महिला विशेषज्ञ डॉक्टर के द्वारा किया गयाद्य इसके साथ ही गर्भवती एवं धात्री महिला को कोविड टीकाकरण के लिए भी प्रेरित किया गया । उन्होंने बताया- प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस (पी.एम.एस.एम.ए.) के अन्तर्गत समस्त गर्भवती महिलाओं की द्वितीय/तृतीय तिमाही में सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर कम से कम एक बार विशेषज्ञ अथवा एम0बी0बी0एस0 चिकित्सक की देख-रेख में प्रसव पूर्व जाँचें की जाती हैं।

इसे भी पढ़े  पैमाइश सम्बंधी वादों का प्राथमिकता से करें निराकरण : नितीश कुमार

ऊषा ने बताया कि उन्होंने गर्भावस्था की द्वितिय प्रसव पूर्व जांच करवाइ डॉक्टर ने बताया कि मेरा ब्लड प्रेशर व हिमोग्लोबिन का स्तर सामान्य है खानपान पर विशेष ध्यान देने के लिए कहा। वही ( ऊषा) ने बताया कि उनका पहला बच्चा है आशा कार्यकर्ता की मदद से मैंने मवई पर जाकर द्वितीय प्रसव पूर्व जांच करवाई सारी जांचे सामान्य है ध्यान देने और पौष्टिक आहार की सलाह दी गई। जिला कार्यक्रम प्रबंधक राम प्रकाश पटेल ने बताया कि आयोजित सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस के अवसर पर सरकारी के साथ निजी महिला चिकित्सकों के द्वारा भी गर्भवती की एएनसी (प्रसव पूर्व जांच) की गई द्य इस दौरान 205 महिलाओं का अल्ट्रासाउंड, 1376 हीमोग्लोबिन, ब्लड-प्रेशर, ब्लड-ग्रुप,शुगर, वजन,896 महिलाओं एचआईवी, हेपेटाइटिस-बी व पेट की जाँच की गई जांच के दौरान 78 गंभीर रक्ताल्पता पाई गयी महिलाओं को आयरन-शुक्रोज लगाया गया तथा उन्हें दवा के नियमित सेवन के साथ-साथ विशेष देखभाल रखने और समय-समय पर चिकित्सीय परामर्श लेते रहने की सलाह दी गयी।

डीसीपीएम अमित कुमार ने बताया कि गर्भवती महिलाओं को हरी साग-सब्जियों, अंकुरित चना एवं दाल, गुड़ आदि का अधिक से अधिक सेवन करना जरूरी होता है। महिला रोग विशेषज्ञ / एमबीबीएस निजी चिकित्सको के द्वारा अर्बन पीएचसी में आयोजित सुरक्षित मातृत्व अभियान में गर्भवती महिलाओं की प्रसव पूर्व जाँचें कर चिकित्सीय परामर्श दिया गया।

Advertisements

Comments are closed.