The news is by your side.

अंतरराष्ट्रीय श्रम दिवस पर सम्मान समारोह का आयोजन

-सामाजिक न्याय और समानता को बढ़ावा देने के लिए एकजुट होने का किया आह्वान


अयोध्या। मंगलवार को अंतरराष्ट्रीय श्रम दिवस के अवसर ORS कंस्ट्रक्शन एन्ड डेवेलोपेर्स अयोध्या ने श्रमिक सम्मान दिवस मनाया गया।रायबरेली मार्ग बाईपास परआयोजित इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि  महानगर संघचालक विक्रमा प्रसाद के साथ भारतीय मजदूर संघ विभाग प्रमुख जयप्रकाश सिंह,भारतीय जनता पार्टी के छेत्रिय विदेश सम्पर्क विभाग ई रवि तिवारी, अरोग्य भारती के प्रान्त सहमंत्री डॉक्टर उपेंद्रमणि त्रिपाठी ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का विधिवत उद्घाटन किया।

Advertisements

महानगर संघचालक विक्रमा प्रसाद ने कहा उन लोगों के योगदान को याद करने और सम्मानित करने का अवसर है जो हमारे समाज के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। यह दिन श्रमिकों के अधिकारों, जैसे कि सुरक्षित काम करने की स्थिति, उचित मजदूरी, काम के घंटे और सामाजिक सुरक्षा, के महत्व पर प्रकाश डालता है। मजदूर दिवस सामाजिक न्याय और समानता को बढ़ावा देने के लिए एकजुट होने का आह्वान करता है। यह दिन दुनिया भर के श्रमिकों को एकजुट करने और एक मजबूत आवाज बनाने का अवसर है।

भारतीय मजदूर संघ के विभाग प्रमुख जयप्रकाश सिंह ने कहा ने कहा कि वर्तमान सरकार गरीबों और श्रमिकों के चेहरे पर मुस्कान लाने के लिए कटिबद्ध है एवं हर संभव प्रयास कर रही है। श्रम नियोजन एवं प्रशिक्षण विभाग द्वारा पहले से हीं श्रमिकों के कल्याण के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं चलाई जा रही है। जिसका लाभ प्राप्त करने के लिए श्रमिकों को संबंधित विभाग में अपना निबंधन कराना है। इसके बाद जन्म से लेकर मृत्यु तक कई योजनाएं है। इसका लाभ श्रमिकों को मिलेगा। उन्होंने कहा कि आज अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस के अवसर पर श्रमिकों को सम्मान दिया जाता है।

इसे भी पढ़े  संविधान संशोधन की बात कहकर बाबा साहब का अपमान कर रहे बीजेपी के लोग : के.एच. मुनियप्पा

भाजपा नेता ई रवि तिवारी ने कहा कि 1 मई की तारीख को पूरी दुनिया मजदूर/श्रमिक दिवस के रूप में मनाती है। ये दिवस दुनिया भर के मजदूरों की हक की आवाजों को बुलंद करने के मकसद से मनाया जाता है। दुनिया में इसे 1 मई 1889 तो वहीं, भारत में इस दिवस की शुरुआत सबसे पहले चेन्नई में साल 1923 में हुई थी। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कई बार मजदूरों का सम्मान किया है। कई बार देखने को मिला है कि पीएम मोदी ने श्रमिकों पर फूल बरसाए और पैर भी धोए हैं। आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ खास मौकों के बारे में।साल 2019 में प्रयागराज में भव्य स्तर कुंभ का आयोजन किया गया था।

इस आयोजन के बाद पीएम मोदी ने सफाई कर्मचारियों के पांव धुले थे। पीएम मोदी ने कहा था कि स्वच्छ कुंभ के आयोजन में इन सफाई कर्मचारियों का महत्वपूर्ण योगदान था। पीएम का ऐसा करने का मकसद लोगों के मन में सफाई व मजदूरी करने वाले कर्मचारियों के प्रति लोगों की सोच बदलने के तौर पर भी देखा गया था।दिसंबर 2021 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काशी कॉरिडोर के निर्माण में लगे श्रमिकों का सम्मान किया था। उन्होंने कॉरिडोर का निर्माण करने वाले श्रमिकों के ऊपर फूल बरसाए थे।22 जनवरी 2024 को उत्तर प्रदेश के अयोध्या में भव्य राम मंदिर का उद्घाटन किया गया था। इस मंदिर का निर्माण करने वाले श्रमिकों को भी पीएम मोदी ने सम्मान दिया था। पीएम मोदी ने राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा समारोह के आयोजन के बाद मंदिर निर्माण में लगे श्रमिकों का सम्मान किया और उनपर फूलों की बारिश की थी।

इसे भी पढ़े  भाकपा प्रत्याशी ने 80 किमी जुलूस निकालकर किया शक्ति प्रदर्शन

डाक्टर उपेंद्रमणि त्रिपाठी ने कहा द्वारा अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस की सभी को बधाई देते हुए कहा गया कि मानव सफलता के विकास में श्रम का काफी महत्व है। श्रम नियोजन एवं प्रशिक्षण विभाग द्वारा संगठित एवं असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के कल्याण हेतु कई तरह की योजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है एवं उन्हीं में से एक है श्रमिक वर्ग का निबंधन कराना। साथ हीं उनके द्वारा श्रमिक वर्ग के लोगों के स्वास्थ्य की जांच पर बल देते हुए कहा गया कि सरकार की मंशा है कि एक प्रयोगशाला बनाया जाय, ताकि उसके माध्यम से संगठित व असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों के कार्य करने के स्थल की जांच कर रिपोर्ट तैयार किया जा सके एवं यह पता लगाया जा सके इन जगहों पर काम करने वाले श्रमिक किस तरह के बीमारी से ग्रसित है या ग्रसित हो सकते हैं।

संचालन कर रहे ORS कंस्ट्रक्शन एन्ड डेवेलोपेर्स के अध्यक्ष राजीव पाठक ने कहा इस दिन को मनाने का मुख्य उद्देश्य देश के निर्माण में मजदूरों के योगदान को याद करना. उनके काम को सम्मानित करना है. मजदूर दिवस के दिन श्रमिकों के संघर्षों को याद किया जाता है. साथ ही, इस दिन को मनाने के पीछे का एक उद्देश्य मजदूरों के अधिकारों की रक्षा करना और इसके प्रति उन्हें जागरूक करना भी है। इस अवसर पर जिला संरक्षक भारतीय मजदूर संघ सत्यप्रकाश श्रीवास्तव,जिला सह मंत्री जे एन पांडेय,प्रचार मंत्री भारतीय मजदूर संघ व जिला सेवा प्रमुख पुष्कर दत्त तिवारी, प्रशांत पांडे,राजेंद्र त्रिपाठी आदि कार्यकर्ता व मजदूर उपस्थित रहे।

Advertisements

Comments are closed.