The news is by your side.

बेटे को गोली मारने में पिता और उसका साथी गिरफ्तार

-वारदात में प्रयुक्त देशी पिस्टल व दो जिंदा कारतूस बरामद

गोसाईगंज। गोसाईगंज कोतवाली इलाके के केवलापुर टन्डौली गांव में कलयुगी पिता द्वारा बेटे को गोली मारने के मामले में आरोपी पिता व उसके साथी को कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।मामले में कोतवाली पुलिस ने दोनों आरोपितों का चालान कर जेल भेज दिया।एसएचओ सन्तोषकुमार सिंह के मुताबिक शनिवार की भोर में दोनो को टन्डौली केवलापुर मार्ग से गिरफ्तार किया गया।आरोपितों की पहचान अभिमन्यु तिवारी उर्फ मन्नू तिवारी पुत्र भगौती प्रसाद तिवारी निवासी केवलापुर मजरे टन्डौली व मनीष लोधी पुत्र सोहन लाल निवासी अमराई गांव तकरोही थान इंदिरानगर लखनऊ उत्तरी कमिश्नरेट लखनऊ के रूप में हुई।

Advertisements

आरोपितों के पास से वारदात में प्रयुक्त एक अदद32बोर देशी पिस्टल व दो जिंदा कारतूस भी बरामद हुआ है।बताते चले कि7अगस्त की रात्रि में बारह बजे केवलापुर गांव में बहन के साथ बदनीयती का विरोध करने पर कलयुगी पिता ने बेटे को गोली मार दिया था।मामले में पुत्री की तहरीर पर पिता व उसके एक साथी के खिलाफ कोतवाली पुलिस ने केस दर्जकर आरोपितों की तलाश में जुटी थी।पुत्री का कहना था कि अभिमन्यु तिवारी अपने साथी मनीष लोधी के साथ घर मे शराब पी रहा था।इसी बीच उसके पिता ने उसे कुछ बात करने के लिए बुलाया।आरोप है कि दोनो उसे कमरे में खीचने लगे।चिल्लाने पर उसका भाई सत्यमेघा उर्फ शुभम दौड़कर आया और उसने उनकी हरकतों का विरोध किया।

दोनो ने भाई को चले जाने को कहा लेकिन भाई नही गया। इसी ताव में आकर पिता अभिमन्यु तिवारी ने असलहे से उसपर फायर झोंक दिया।एक गोली जबड़े में और एक कंधे में लगी। घटना के बाद दोनों आरोपी भाग निकले। बहन ने हिम्मत दिखाते हुए भाई को लेकर खेतो के बीच होती हुई आठ किमी दूर महराजगंज थाने पहुंची,जहां रेफर होते हुए ट्रामा सेंटर लखनऊ पहुंची। भाई का इलाज ट्रामा सेंटर में चल रहा है,उसकी हालत में सुधार हो रहा है। एसएचओ ने बताया कि अभिमन्यु तिवारी का अपराधों से पुराना नाता रहा है।

इसे भी पढ़े  मण्डलायुक्त ने अधिकारियों के साथ मेला परिसर का लिया जायजा

अभिमन्यु तिवारी एक लड़की के मर्डर के मामले में लखनऊ में जेल भी जा चुका है।इसके खिलाफ लखनऊ के इंदिरानगर थाने में हत्या,फ्राड करके जमीन कब्जाने सहित आधा दर्जन से अधिक केस दर्ज है।अभियुक्तों की गिरफ्तार करने में एसआई उपेन्द्रप्रताप सिंह,कमलेशकुमार, सिपाही चंदन यादव,अमित कुमार यादव व रमाकांत की बड़ी भूमिका रही।

Advertisements

Comments are closed.