The news is by your side.

खुंब का उत्पादन व प्रसंस्करण करेंगे मिल्कीपुर और सोहावल के किसान

-पांच दिवसीय प्रशिक्षण प्राप्त कर लौटे प्रगतिशील किसान

मिल्कीपुर। राष्ट्रीय कृषि और ग्रमीण विकास बैंक (नाबार्ड) के सहयोग से जनपद के पच्चीस प्रगतिशील किसान ओंकार सेवा संस्थान के द्वारा 5 सितम्बर को बिहार स्थित डॉ राजेन्द्र प्रसाद केन्द्रीय कृषि विश्वविद्यालय समस्तीपुर विहार मे पाँच दिवसीय प्रशिक्षण प्राप्त करके आज जनपद वापस आ गए हैं।

Advertisements

कार्यक्रम संयोजक सूर्य कुमार त्रिपाठी ने बताया कि विहार मे किसानो को खुंब उत्पादन और प्रसंस्करण ’बागवानी की उच्च तकनीकी तथा डेरी प्रोद्योगिकी पर प्रशिक्षण प्राप्त किया। डॉ राजेन्द्र प्रसाद कृषि विश्वविद्यालय मे खुंब ( मशरूम) से सम्बंधित प्रशिक्षण डॉ दयाराम के द्वारा प्रदान किया गया। भ्रमण पर गए सोहावल विकास खण्ड के किसान विवेक सिंह, उत्सव सिंह, क्रांती कुमार व वीरेंद्र कुमार सिंह सहित बारह किसान औषधीय गुणों से युक्त सीड के खुंब और आयस्टर खुंब की खेती करेंगे।

विदित हो कि औषधीय खुंब की मांग विदेशो मे बहुत अधिक है , इस बार के किसानो मे कई किसान प्रबंधन और इंजीनियरिंग की पढाई करके खेती करने वाले किसान है, जो कि खेती मे नया स्टार्टअप शुरु करने का मन बना चुके है। नाबार्ड के जिला विकास प्रबंधक कमलेश यादव की पहल पर ओंकार सेवा संस्थान द्वारा ऐसे किसानो का प्रशिक्षण कराया गया। हैरिगटनगंज के बसवार कला के किसान हरिश्चंद्र चौरसिया, जमुना मौर्य, कुलदीप चौरसिय, मोती लाल, नवल किशोर सहित सभी बारह किसान खुंब ( मशरुम ) का स्पान ( बीज) भी लाएं है और अगले एक सप्ताह मे खुंब की बिजाई शुरु करेंगे।

जबकि अमानी गंज के किसान श्री कृष्ण दुबे, सीताराम यादव और सत्येंद्र मिश्रा भी खुंब का बीज पाँच पाँच किलो लाए है और खुंब की खेती को लेकर काफ़ी उत्साहित है। सभी किसानो ने डी डी एम कमलेश यादव को ऐसा अनोखा प्रशिक्षण कराने के लिए धन्यवाद ज्ञपित किया। भ्रमण दल मे विवेक सिंह, क्रांती कुमार सिंह, हिमांशु सिंह, उत्सव सिंह( नेता जी), हरिश्चंद्र चौरसिया, जमुना मौर्य, कुलदीप कुमार चौरसिया, सच्चिदानंद तिवारी, अशोक कुमार चौरसिया सहित सभी किसान उपस्थित रहे।

Advertisements

Comments are closed.