The news is by your side.

खुशियों के लिए जरूरी है परिवार नियोजन : सीएमओ

-लाउडस्पीकर, पोस्टर व पम्पलेट के जरिए गली-मुहल्लों में संदेश देगा सारथी वाहन

अयोध्या। समुदाय में परिवार नियोजन के प्रति जागरूकता और गर्भनिरोधक साधनों की स्वीकार्यता बढ़ाने के उद्देश्य से जिले में आज विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जाएगा द्य इसके साथ ही आगामी 24 जुलाई तक ‘जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा’ चलाया जाएगा, जिसमें समुदाय अथवा चिकित्सा इकाई स्तर पर इच्छुक लाभार्थियों की परिवार नियोजन के विभिन्न गर्भनिरोधक साधनों पर काउंसलिंग की जाएंगी। गतिविधि कैलेंडर तैयार कर सभी ब्लॉकों में परिवार नियोजन की सेवाएं दी जाएंगी। इसके अलावा चिकित्सा इकाईयों पर परिवार नियोजन सम्बन्धित बैनर-पोस्टर, दीवार-लेखन, तथा पम्फलेट वितरण सुनिश्चित किया जाएगा। उक्त बातें सोमवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ संजय जैन ने विश्व जनसंख्या दिवस के प्रचार-प्रसार के लिए निकाली गयी सारथी वाहन रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना करने के दौरान कही।

Advertisements

उन्होंने बताया कि सारथी वाहन गलियों और चौराहों पर जाकर परिवार नियोजन का प्रचार प्रसार करेगा। इसके माध्यम से परिवार नियोजन के महत्व के बारे में लोगों को जागरूक किया जाएगा और जागरूकता कार्यक्रम जैसे माइकिंग, पोस्टर-पम्फलेट इत्यादि के माध्यम से प्रचार- प्रसार तथा स्वास्थ्य कार्यकर्ता गांव-गांव में सम्पर्क करेंगे। अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आरके सक्सेना ने बताया कि जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा में अस्थायी विधि जैसे- आईयूसीडी, गर्भ निरोधक इंजेक्शन अंतरा, गर्भनिरोधक गोली छाया, माला-एन इत्यादि जिले के सभी स्वास्थ्य केन्द्रों में उपलब्ध रहेंगी, जहाँ से इच्छुक लाभार्थी आसानी से सेवाएं ले सकेंगे।

जिला कार्यक्रम प्रबंधक राम प्रकाश पटेल एवम जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी वीपी सिंह ने बताया कि सीमित परिवार रखने के लिए स्वास्थ्य इकाईयों पर बास्केट ऑफ़ च्वाइस का विकल्प मौजूद है। इसमें महिला और पुरुष नसबंदी को स्थायी तथा आईयूसीडी, पीपीआईयूसीडी, अंतरा इंजेक्शन, छाया गोली, माला-एन व कंडोम को अस्थायी साधनों के रूप में शामिल किया गया है। इन साधनों में से अपनी पसंद का साधन चुनकर शादी के दो साल बाद ही बच्चे के जन्म की योजना बना सकते हैं दो बच्चों के जन्म में पर्याप्त अंतर रखना माँ और बच्चे के स्वस्थ और खुशहाल जीवन के लिए बहुत जरूरी है द्य जब परिवार पूरा हो जाए तो दंपत्ति स्थायी साधन के रूप में नसबंदी अपना सकते हैं।

Advertisements

Comments are closed.