The news is by your side.

रामपथ चौड़ीकरण की प्रगति का डीएम ने लिया जायजा

-प्रभावित दुकानदारों व भू-स्वामियों की समस्याओं को सुनकर किया समाधान


अयोध्या। मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार अयोध्या को एक विश्व स्तरीय धार्मिक एवं पर्यटन नगरी के रूप में विकसित करने के उद्देश्य के क्रम में जिलाधिकारी नितीश कुमार ने श्रीराम जन्मभूमि मंदिर को जोड़ने वाले प्रमुख सम्पर्क मार्गो यथा रामपथ (सहादतगंज से नयाघाट), भक्तिपथ (श्रृंगार हाट से रामजन्मभूमि पथ) तथा श्रीराम जन्मभूमि पथ (सुग्रीव किला से श्रीराम जन्मभूमि मंदिर तक) के चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण के कार्यो की प्रगति का स्थलीय निरीक्षण कर जायजा लिया तथा सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को उक्त मार्गो के निर्माण कार्यो में आपस में समन्वय कर और तेजी लाने के निर्देश दिये।

Advertisements

निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने पैदल चलकर उक्त पथों पर कार्य की प्रगति की स्थिति को देखा तथा मार्गो के चौड़ीकरण से प्रभावित दुकानदारों व भू-स्वामियों से उनकी समस्याओं एवं शंकाओं को गम्भीरता के साथ सुनकर उनका समाधान किया गया व सम्बंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। इस दौरान जिलाधिकारी ने उक्त पथों के दोनों तरफ के दुकानदारों/भू-स्वामियों को अयोध्या विकास प्राधिकरण द्वारा निर्धारित फसाड डिजाइनिंग के अनुरूप ही अपने-अपने दुकानों/भवनों का फसाड डिजाइन बनाने के निर्देश दिये तथा सभी मकानों/दुकानों की निर्धारित फसाड डिजाइन सुनिश्चित करने हेतु रामपथ व भक्तिपथ पर ए0डी0ए0 की अलग-अलग टीमें लगाने हेतु ए0डी0ए0 के टाउन प्लानर को निर्देशित किया। उन्होंने ए0डी0ए0 टीमों द्वारा घूम घूम कर फसाड डिजाइन संबंधी दुकानदारों की शंकाओं का समाधान करने के निर्देश दिये।

जिलाधिकारी ने ए0डी0ए0 टाउन प्लानर को रामपथ व भक्तिपथ के निर्धारित चौड़ाई के बाद ही दुकानदारों/मकान मालिकों द्वारा छज्जा अथवा सीढ़ी बनाया जाना सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। इस दौरान जिलाधिकारी ने विद्युत विभाग को घरों में नियमित विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने भक्तिपथ व रामजन्मभूमि पथ में दो शिफ्टों में पर्याप्त मानव संसाधन लगाकर तीव्र गति से गुणवत्तापूर्ण ढंग से कार्य करने के निर्देश दिये। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व, तहसीलदार सदर व अन्य सम्बंधित अधिकारी उपस्थित थे।

इसे भी पढ़े  डॉ. डी.आर.भुवन को प्री स्टेट शूटिंग चैंपियनशिप में मिला मेडल

रामपथ निर्माण में अब तक 74 करोड़ 19 लाख से ज्यादा का किया जा चुका है भुगतान

अयोध्या। सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशानुसार अयोध्या को भव्य स्वरूप प्रदान करने तथा यहां आने वाले श्रद्धालुओं एवं पर्यटकों को बेहतर से बेहतर सुविधाएं सुगमता से उपलब्ध कराने के दृष्टिगत राम जन्मभूमि मंदिर के प्रमुख संपर्क मार्गो यथा रामपथ (सहादतगंज से नया घाट) राम जन्मभूमि पथ (सुग्रीव किला से श्रीराम जन्मभूमि मंदिर तक) तथा भक्ति पथ (श्रृंगारहाट से राम जन्मभूमि पर तक) के चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण का कार्य मंडल आयुक्त गौरव दयाल तथा जिलाधिकारी नितीश कुमार के निर्देशन में तीव्र गति से चल रहा है।

अपर जिलाधिकारी प्रशासन अमित कुमार सिंह ने बताया कि रामपथ (सहादतगंज से नया घाट) के चौड़ीकरण हेतु अब तक 627 बैनामे हो चुके हैं, इन बैनामों में शामिल 936 व्यक्तियों को 47 करोड़ 53 लाख 90 हजार 218 रुपए भूमि का प्रतिकर उनके खाते में प्रदान की जा चुकी है तथा इससे प्रभावित 1631 दुकानदारों/पुनर्वासन प्राप्त व्यक्तियों को 26 करोड़ 65 लाख 48 हजार 279 रुपए की धनराशि उनके खाते में प्रदान की जा चुकी है। इस प्रकार सहादतगंज से नया घाट तक चौड़ीकरण मार्ग के निर्माण में प्रतिकर एवम् पुनर्वासन हेतु संबंधित दुकानदारों/भू-स्वामियों के खाते में कुल 74 करोड़ 19 लाख 38 हजार 497 रुपए भेजी जा चुकी है। राम पथ के निर्माण संबंधी कार्यों को तीव्र गति से किए जाने के दृष्टिगत पूरे मार्ग में जे.ई., लेखपालों व तहसीलदार की 10 टीमें सर्वे कार्य हेतु लगाई गई हैं। टीमों को कोऑर्डिनेट करने के लिए पांच एसडीएम व तीन एडीएम भी लगाए गए हैं।

इसे भी पढ़े  चिरंजीव हॉस्पिटल में अल्ट्रासाउंड की सुविधा शुरू

पूरे मार्ग में तीव्र गति से मार्ग के निर्माण संबंधी कार्य किए जा रहे हैं। इसी के साथ ही अयोध्या विकास प्राधिकरण की पांच टीमों द्वारा फसाड डिजाइनिंग का प्रारूप भू-स्वामियों एवं दुकानदारों को दिया जा रहा है तथा उन्हें निर्धारित फसाड के अनुरूप दुकानों एवं भवनों का निर्माण करने हेतु समझाया/प्रेरित किया जा रहा है पूरे मार्ग में प्रभावित भूस्वामियों व दुकानदारों द्वारा सहमती के आधार पर तोड़फोड़ का कार्य तीव्र गति से किया जा रहा है तथा विभिन्न दुकानदारों एवं भू स्वामियों द्वारा अपने अपने भवनों का निर्माण निर्धारित फसाड डिजाइन के अनुरूप प्रारंभ कर दिया है। उक्त पथों से सबंधित सभी कार्यों का मंडल आयुक्त एवं जिलाधिकारी द्वारा नियमित पर्यवेक्षण एवम् अवलोकन किया जा रहा है तथा समय-समय पर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए जा रहे हैं।

Advertisements

Comments are closed.