The news is by your side.

उदारमना चिकित्सक की मदद से दिव्यांग शिवा की ज़िंदगी हुई आसान

-हौसला फाउंडेशन की पहल पर कैंसर विशेषज्ञ डॉ. नफीस अहमद सिद्दीकी ने गरीब दिव्यांग बालक को भेंट की ट्राई साइकिल

लखनऊ। आशियाना क्षेत्र के गरीब दिव्यांग बालक शिवा को आज ट्राई साइकिल क्या मिली, बारिश के मौसम में उसके लिए खुशियों की बरसात हो गयी। शत-प्रतिशत विकलांग शिवा को अब लकड़ी के सहारे चलना नहीं पड़ेगा। ट्राई साइकिल के ज़रिए वह आ-जा कर अपने छोटे-मोटे काम कर पायेगा। दूसरों के घरों में काम कर गुजारा करने वाली अपनी माँ का सहारा बन सकेगा। चौदह वर्षीय शिवा की ज़िंदगी अब हौसले की नई इबारत लिखेगी।

Advertisements

दिव्यांग शिवा की ज़िंदगी में खुशियों की यह सौगात सामाजिक कार्यों में संलग्न अग्रणी संस्था हौसला फॉउंडेशन की एक सार्थक पहल ने दी है। गत दिनों हौसला फॉउंडेशन की अध्यक्ष नेहा सिंह ने विकलांग शिवा को लकड़ी के सहारे तकलीफ उठा कर चलते हुए देखा। बालक की दशा देख कर उनका दिल भर आया। वे मदद का जज़्बा लेकर शिवा से मिलीं। शिवा की माँ ने बताया कि शिवा को चलने में बहुत तकलीफ होती है। खराब माली हालत के चलते वह कुछ कर नहीं पा रही है। उसने कहा कि शिवा को यदि तिपहिया साइकिल मिल जाए तो उसकी ज़िन्दगी कुछ आसान हो जाये।

हौसला फाउंडेशन के अध्यक्ष नेहा सिंह ने महसूस किया कि इस बच्चे को मदद की सख्त जरूरत है। उनकी संस्था अभी नॉन एडेड है। वे घर के खर्चे बचा कर सामाजिक कार्यों को अंजाम दे रही है। अपने सीमित संसाधनों से तिपहिया साइकिल दिला पाना उनके लिए संभव नहीं दिखा। उन्होंने फाउंडेशन के फेसबुक पेज पर शिवा की फोटो के साथ उसे ट्राई साइकिल की सहायता प्रदान करने की पुरजोर अपील की।

संस्था की अपील पर नगर के जानेमाने कैंसर रोग विशेषज्ञ डॉ. नफीस अहमद सिद्दीकी ने शिवा की मदद के लिए आगे आए। उन्होंने संस्थाध्यक्ष नेहा सिंह को फोन पर बताया कि वे अपने मरहूम वालिद डॉ. रईस अहमद की याद में अपने चिकित्सा प्रतिष्ठान नबील हेल्थ केयर सेंटर की ओर से शिवा को ट्राई साइकिल भेंट करेंगे। डॉ. सिद्दीकी के बुलावे पर आज संस्थाध्यक्ष नेहा सिंह शिवा और उसके परिवार के सदस्यों को लेकर गईं। डॉ. सिद्दीकी ने हौसला फाउंडेशन के पदाधिकारियों की उपस्थिति में शिवा को नई ट्राइ साइकिल भेंट की। अपनी नई ट्राई साइकिल पर बैठ कर शिवा की खुशियों का ठिकाना नहीं रहा। इस अवसर पर नेहा सिंह के साथ संस्था के सहयोगी डॉ. देवेंद्र प्रताप सिंह भी मौजूद थे।

उदारमना चिकित्सक के इस योगदान की सराहना करते हुए संस्थाध्यक्ष नेहा सिंह ने कहा कि डॉ. सिद्दीकी आज के युग के मसीहा हैं। उन्होंने लाचार बालक की निस्वार्थभाव से मदद करने के लिए डॉ. सिद्दीकी के प्रति आभार प्रकट किया।

Advertisements

Comments are closed.