जेष्ठ माह के दूसरे बड़े मंगल पर वितरित किया गया शरबत


फैजाबाद। ज्येष्ठ माह के दूसरे बड़े मंगल पर पूर्व राज्यमंत्री तेजनारायण पाण्डेय पवन ने श्रद्धालुओं को प्रसाद के रूप में शरबत वितरित किया। श्री मरी माता मन्दिर रामनगर तिराहा पर पुजारी चंचल दास के नेतृत्व में शरबत का वितरण हुआ। इस मौके पर पूर्व राज्यमंत्री श्री पाण्डेय ने हनुमानजी के प्रतिमा पर माल्यार्पण कर पूजा अर्चना की। इस मौके पर श्री पाण्डेय ने कहा कि गांव से लेकर शहर तक बड़े मंगल के अवसर पर जगह-जगह प्रसाद वितरण हो रहा है। श्रद्धालु बड़े उत्साह के साथ प्रसाद ग्रहण कर रहे हैं। पूरे जनपद में धार्मिक माहौल बना हुआ है और चारों ओर हनुमानजी के भजन, कीर्तन चल रहे हैं और जय-जयकार हो रही है। मरी माता मन्दिर में भव्य झाँकी सजायी गयी। श्रद्धालुओं ने झाँकी का दर्शन किया। इस मौके पर सपा प्रवक्ता ओम प्रकाश ओमी, कांग्रेस के नेता राजेन्द्र प्रताप सिंह, अवधेश तिवारी, उग्रसेन मिश्रा व एस0एन0 पाण्डेय, संजू महराज, शिव कुमार तिवारी, सुमित माखेजा, रामजी पाण्डेय, पार्षद इरशाद इदरीसी, आकाश सोनकर, विकास सोनकर, सन्टी तिवारी, पप्पू, शालू, सुमन, शिवा आदि ने श्रद्धालुओं को प्रसाद वितरित किया।
इसी तरह ज्येष्ठ माह के द्वितीय मंगल पर राकेशचन्द्र कपूर सेवा संस्थान द्वारा शहर के रिकाबगंज चैराहे पर शर्बत वितरण का कार्यक्रम किया गया। कार्यक्रम के मुख्यअतिथि भाजपा नेता अमल गुप्ता ने हनुमान जी के चित्र पर माल्र्यापण कर व राहगीरों को शर्बत पिलाकर कार्यक्रम की शुरुआत की। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में सी0ओ0सिटी श्री अरविन्द चैरसिया मौजूद रहे। सेवा संस्थान के सचिव सुप्रीत कपूर ने अतिथियों का स्वागत माल्र्यापण कर किया। मुख्य अतिथि अमल गुप्ता ने कहा कि राकेशचन्द्र कपूर सेवा संस्थान लगातार सामाजिक क्षेत्र में काम कर रहा है। मेरी शुभकामनायें इस संस्था के साथ है। विशिष्ट अतिथि श्री अरविन्द चैरसिया ने संस्था को इस पुनीत कार्य के लिए शुभकामना दी। संस्थान के उपाध्यक्ष देवेन्द्र मिश्रा दीपू ने आये हुये लोगों का धन्यवाद ज्ञापित किया। इस दौरान सामाजिक कार्यकर्ता संजय महेन्द्रा, केन्द्रीय दुर्गापूजा समिति के सहसंयोजक गगन जायसवाल, पार्षद राजेश गौड़, संदीप वैश्य, विवेक साहू, विनोद गुप्ता, पंकज तिवारी, सचिन सरीन, संजय सिंह, दीपक सिंह गब्बर, मोनू सिंह, राजेश सिंह, हर्षित धवन, अमित वासवानी, स्वप्निल रस्तोगी मौजूद थे।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More