The news is by your side.

सावन के पहले सोमवार को रामनगरी में उमड़े श्रद्धालु

सोशल डिस्टेंसिंग के साथ  जल चढ़ाने की दी गयी अनुमति

अयोध्या। रामनगरी अयोध्या में सावन के पहले सोमवार पर शिव भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी। इस दौरान कोरोना महामारी को देखते हुए शिव मंदिरों के गर्भगृह में भक्तों के प्रवेश पर रोक लगा है। लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग के साथ दूर से ही जल चढ़ाने की अनुमति दी गई है। जहां भक्त पूजन अर्चन कर रहे हैं। इस दौरान सुरक्षा व्यवस्था भी सख्त है।सावन माह प्रारंभ के साथ पहला सोमवार शिव भक्तों के लिए बड़ा पर्व माना जाता है। और बड़ी संख्या में भक्त भगवान भोले नाथ का अपने श्रद्धा से जलाभिषेक, रुद्राभिषेक, दुग्धाभिषेक व अन्य विधि विधान के साथ कर रहे हैं। वहीं राम नगरी अयोध्या में दो प्रमुख स्थान है। भगवान नागेश्वरनाथ व क्षीरेश्वर नाथ महादेव के प्राचीन मंदिर है जहां सावन के प्रारंभ पर लाखों कावड़िया सरयू में जल भरने अयोध्या पहुंचते हैं लेकिन वर्ष भी कावड़ यात्रा पर रोक लगा दिया गया है।वही महिला थानाध्यक्ष रत्ना कुमारी ने बताया कि अयोध्या में सावन के पहले सोमवार पर लाखों श्रद्धालु अयोध्या पहुंचते हैं, जोकि सरयू में स्नान कर नागेश्वर नाथ मंदिर में दर्शन पूजन कर हनुमानगढ़ी व कनक भवन में भी दर्शन पूजन करते हैं लेकिन इस बार महामारी को देखते हुए श्रद्धालुओं के लिए सुरक्षा लगाई गई है। जिसके लिए कई स्थानों पर बैरियर लगाए गए हैं। और भीड़ वाले स्थान पर छोटे छोटे टुकड़ियों में भेजे जा रहे हैं। जिससे मंदिरों में अधिक भीड़ न हो सके।

Advertisements

 

Advertisements

Comments are closed.