सरहद पर तैनात जवानों को राखी भेज मांगा रक्षा का संकल्प

Advertisement

रूदौली। सीमा पर देश की सुरक्षा के लिए तैनात जवानों की कलाई सूनी न रहे इसलिए एल एस डी पी पब्लिक स्कूल गौरिया मऊ की दर्जनों छात्राओ ने मंगलवार को तहसील रूदौली पहुंच कर सी आर ओ फैजाबाद पी डी गुप्ता एस डी एम टी पी वर्मा व सी ओ अमर सिंह के माध्यम से उनके लिए राखियाँ भेजी हैं। बच्चों ने जवानों के लिए राखियों के साथ ही तरह-तरह के संदेश भी भेजे हैं। अपने संदेशों में किसी बच्ची ने जवानों को श्आर्मी अंकल श्कहकर संबोधित किया है तो किसी नेश् माई हीरो श्कहा है। राखी भेजकर मासूम बच्चियों ने उनसे देश व बहन-भाइयों की रक्षा का संकल्प भी मांगा है। अपनी राखियाँ सैनिकों तक पहुंचाने के लिए बच्चों में इतना उत्साह था कि उन्होंने राखियाँ खरीदने के बजाय उन्हें खुद बनाया। स्कूलों की शिक्षिकाओं ने भी उनका सहयोग किया। बच्चों ने कहा कि सीमा पर तैनात जो सैनिक देश की रक्षा करते हैं, उन्हें राखी भेजना हमारा कर्तव्य है।

राखी के साथ संदेश भी

विद्यालय की छात्रायें राखी के साथ-साथ सैनिकों के लिए चिट्ठी भी लेकर आई थीं। उन्होंने सैनिकों को श्आर्मी अंकलश् कहकर संबोधित किया और देश की रक्षा का संकल्प मांगा। स्कूल के वाइस प्रिंसिपल नीरज द्विवेदी ने बताया कि बच्चे रक्षाबन्धन पर्व से पूर्व ही प्रत्येक वर्ष सैनिको तक अपना रक्षा सूत्र पहुँचाने के लिए काफी उत्साहित रहते है सभी अपने साथ राखी लेकर आए। बच्चों ने ‘वी लव यू आर्मी अंकल, देश के रक्षक-हमारे रक्षक’ जैसे स्लोगन लिखकर भी भेजे हैं।स्कूल की छात्रा आर्या पाठक व यजदा फातिमा का कहना है कि जो सैनिक देश की सीमाओं पर तैनात होकर हमारी रक्षा करते हैं उनकी कलाई सूनी नहीं रहनी चाहिए। इस दौरान स्कूल की के प्रधानाचार्य एस आर त्रिपाठी शिक्षिका अंजू तिवारी ,संजय मिश्रा अन्य स्टाफ भी मौजूद रहा।

इसे भी पढ़े  पूर्णकालिक सीएमएस नियुक्त हुए डा. रविंद्र कुमार श्रीवास्तव

सैनिकों के स्वास्थ्य की कामना

छात्रा अंशिका यादव ने बताया कि भाई-बहन का यह त्योहार सीमा पर देश की रक्षा कर रहे जवानों के लिए कुछ ज्यादा ही खास होता है। हम अपने भाइयों को राखी बांधकर रक्षा का संकल्प लेते हैं। सैनिक तो पूरे देश की रक्षा करते हैं। इसलिए हमने उनके लिए राखी व संदेश भेजा है। देश की रक्षा करने वाले सैनिकों को सलाम। विद्यालय के प्रबंधक अनिल पाठक ने कहा,विद्यालय का लक्ष्य शिक्षा के साथ साथ बच्चों में देश प्रेम की भावना को भी विकसित करना है तथा उन्हें देश की उन्नति के लिए तैयार करना है। देश की खुशहाली व रक्षा के लिये कठिन परस्थितियों में भी लोहा लेने वाले वीर सैनिको को छात्राओ ने राखी भेजकर यह सन्देश दिया है कि पुरे देश की बहने उनके साथ है।