The news is by your side.

मिल्कीपुर क्षेत्र में परिषदीय परीक्षा बनी मजाक, निभाई जा रही औपचारिकता

-प्रधानाध्यापक विद्यालय छोड़ प्राप्त कर रहे प्रशिक्षण, क्षेत्र के अधिकांश विद्यालय हुए एकल


मिल्कीपुर । मिल्कीपुर शिक्षा क्षेत्र स्थित परिषदीय विद्यालयों की वार्षिक परीक्षा मजाक बनकर रह गई है। मात्र औपचारिकता में वार्षिक परीक्षा संपन्न कराई जा रही है। परिषदीय प्राथमिक एवं उच्च विद्यालयों में जहां एक ओर बृहस्पतिवार को वार्षिक परीक्षा आरंभ हुई वहीं दूसरी ओर परीक्षा आरंभ होने से 1 दिन पूर्व बीते बुधवार से खंड शिक्षा अधिकारी मिल्कीपुर द्वारा प्रधानाध्यापकों एवं सहायक अध्यापकों का दो दिवसीय एफ एल एन प्रशिक्षण आरंभ करा दिया गया है। जिसके चलते क्षेत्र स्थित अधिकांश विद्यालय एकल हो गए हैं।

Advertisements

ऐसे में नौनिहालों की वार्षिक परीक्षा अब भगवान भरोसे ही रह गई है। बता दें कि बीते 20 मार्च को खंड शिक्षा अधिकारी मिल्कीपुर रिचा सिंह द्वारा एक आदेश जारी करते हुए उल्लेख किया गया है कि सेवरा मोड़ स्थित कालिका प्रसाद अयोध्या प्रसाद पूर्व माध्यमिक विद्यालय में प्रथम चक्र में बीते 22 मार्च से 100 प्रधानाध्यापकों/ सहायक अध्यापकों का एफ एल एन प्रशिक्षण होना है। जबकि द्वितीय चक्र में प्रशिक्षण हेतु 135 शिक्षकों की सूची जारी की गई है। प्रथम चक्र के तहत शिक्षा क्षेत्र के दर्जनों प्रधानाध्यापक तथा सहायक अध्यापक प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं। जबकि उनके विद्यालयों में वार्षिक परीक्षा भी शुरू हो गई है। किंतु जब जिम्मेदार शिक्षक प्रशिक्षण में प्रतिभाग करने चले गए तो उनके विद्यालयों में वार्षिक परीक्षा कैसे संपन्न हुई होगी, इसका अंदाजा खंड शिक्षाधिकारी की लापरवाही एवं मनमानी से जरूर लगाया जा सकता है।

उक्त अव्यवस्था के चलते शिक्षा क्षेत्र के कई विद्यालय जैसे प्राथमिक विद्यालय शिवनाथपुर, सरूरपुर व पूरब गांव सहित अन्य कई विद्यालय एकल हो गए और उन विद्यालयों में वार्षिक परीक्षा संपन्न कराने में असमंजस की स्थिति पैदा हो गई। मात्र एक शिक्षक के सहारे कक्षा 2 से कक्षा 5 तक के कक्षाओं की दो पालियों में प्रथम दिन की संपन्न परीक्षा की सुचिता पर अब सवाल भी उठने लगे हैं। बता दें कि अभी 3 दिन पूर्व जिला बेसिक शिक्षा संतोष कुमार राय ने नकल विहीन परीक्षा संपन्न कराए जाने की बात कहतेे हुए बताया था कि पारदर्शिता केे साथ वार्षिक परीक्षा संपन्न होगी।

इसे भी पढ़े  विद्युत करंट की चपेट में आने से किशोर की मौत

यही नहीं जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा निर्देश भी दिया गया था कि समस्त प्रशिक्षण बीते 22 मार्च तक हर हाल में संपन्न करा दिए जाएं। किंतु बेलगाम एवं मन बढ़ खंड शिक्षा अधिकारी ने बीएसए केेेे उस आदेश निर्देश की हवा ही निकाल दी। जबकि विभागीय सूत्रोंं का कहना है कि मिल्कीपुर में जो एफ एल एन प्रशिक्षण कराया जा रहा है, वह फरवरी माह के अंत तक संपन्न हो जाना था। जिलेे के अन्य ब्लॉकों में यह प्रशिक्षण समाप्त भी हो चुका है। इस प्रकार से जहांं एक तरफ शिक्षण सत्र समाप्त होने को है, वहीं दूसरी ओर बी ई ओ मिल्कीपुर प्रधानाध्यापकों एवंं शिक्षकों को दक्षिण एवं निपुण करने में जुटी हैं। उन्हेंं वार्षिक परीक्षा कार्यक्रम का तनिक भी खयाल नहीं रह गया है। मामले मेें बीएसए संतोष कुमार राय ने पहले तो पूरी बात सुनी फिर इंटरव्यू में मौजूद होनेे की बात कहते हुए कन्नी काट गए।

Advertisements

Comments are closed.